पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बड़ी समस्या:कलेक्टोरेट से तीन किमी‘मन्नाडोल’, नौ दिन टापू बना रहा, पानी उतरते ही निगम का घेराव

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोहल्ले की समस्याएं बताती मन्नाडोल की महिलाएं। - Dainik Bhaskar
मोहल्ले की समस्याएं बताती मन्नाडोल की महिलाएं।
  • 20 सालों से बारिश में शहर से कट जाती है बस्ती, मन्नाडोल, इंद्रपुरी व खुशी विहार कॉलोनी के करीब 6 हजार लोग अभी भी हैं प्रभावित

छत्तीसगढ़ राज्य गठन के 20 साल बाद भी नया मन्नाडोल, पुराना मन्नाडोल, इंद्रपुरी और खुशी विहार कालोनी के करीब 6 हजार लोग बारिश के दिनों में अपने घरों में कैद हो जाते हैं। यह बस्ती गोकनेनाला के किनारे बसी है। वार्ड पार्षद की मानें तो यह स्थिति 20 सालों से है। 23 जुलाई से हो रही लगातार बारिश के कारण गोकनेनाला उफान पर रहा।

किनारे बसे लोगों को पुल के पास कमर तक तेज बहाव को पार कर बस्ती पहुंचना मुश्किल था। बीते साल तेज बहाव में 7 लोगों के बहने की घटना घट चुकी है। कम ऊंचाई के पुल और एप्रोच रोड पर पानी बहने से बस्ती के लोग पिछले 9 दिनों तक अपने अपने घरों में कैद रहे। उफनते गोकनेनाला का पानी उतरा तो गुस्साए लोग सोमवार को सुबह जिसमें ज्यादातर महिलाएं, पुरुष और बच्चे भी शामिल थे, सीधे कलेक्टोरेट और नगर निगम कार्यालय का घेराव करने पहुंचे।

आश्चर्यजनक बात यह है कि हर साल बारिश में टापू बनने वाली बस्ती कलेक्टोरेट और निगम कार्यालय से महज 3 किलोमीटर की दूरी पर है, पर वहां रहने वाले हजारों लोगों की सुनवाई अब तक नहीं हुई। आज अफसरों से मिलने गए लोग फिर आश्वासन लेकर लौटे हैं कि उनकी समस्या जल्दी ही हल की जाएगी। प्रभावित क्षेत्र बिल्हा विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत निगम के वार्ड क्रमांक 8 चित्रकांत जायसवाल नगर में आता है। यहां के विधायक विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हैं और पार्षद भी विपक्षी पार्टी के हैं। ‘दैनिक भास्कर’ ने मुसीबतजदा लोगों की समस्या के बारे में जनप्रतिनिधियों से लेकर जोन कमिश्नर तक सबसे बात की। पढ़िए किसका क्या कहना है।

सरकार का खजाना खाली, इसलिए हालत बिगड़ी
नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक का कहना है कि मन्नाडोल की सड़क उनकी सरकार के समय बनी। जलमग्नीय रपटा भी बनाया गया, जिससे आवागमन हो रहा था, परंतु अवैध निर्माण के चलते निकासी प्रभावित होने के बाद स्थिति बिगड़ी। नए पुल के लिए प्रस्ताव भेजा है। जब से कांग्रेस सत्तारूढ़ हुई, काम ठप हैं। मेयर ने 100 करोड़ मांगे पर उन्हें स्वीकृति 15 करोड़ की मिली है, पैसे का पता नहीं है। सरकार का खजाना खाली है इसलिए हालत बिगड़ रही है, लोग परेशान हैं।

पार्षद बोले सितंबर में बनेगा नया पुल
पार्षद श्याम लाल बंजारे का कहना है कि समस्या 20 वर्षों से है। उन्होंने जीरा गिट्टी डलवाकर वैकल्पिक मार्ग बनवाया है। पीएमजीएसवाय से रोड और पुलिया के लिए 70 लाख स्वीकृत कराए हैं। टेंडर की प्रक्रिया चल रही है ।

जोन कमिश्नर ने कहा- अवैध प्लाटिंग पर नोटिस
जोन कमिश्नर प्रवेश कश्यप ने बताया कि मौके पर दीपक सोनी ने अवैध प्लाटिंग कर नाले की जमीन पर रोड निकालने की कोशिश की, जिससे निकासी प्रभावित हुई। बिल्डर को नोटिस दिया गया है। कार्रवाई के लिए प्रकरण भवन शाखा में भेजा गया है।

खबरें और भी हैं...