पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मौसम ने करवट ली:24 घंटे में प्रदेश में सर्वाधिक 3.8 इंच बारिश कोटा में, किसानों की चिंता दूर

बिलासपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अच्छी बारिश के दौरान सड़क पर वाहन। - Dainik Bhaskar
अच्छी बारिश के दौरान सड़क पर वाहन।
  • शहर में औसत दो इंच बारिश से बदली फिजां, गर्मी गायब, अब तक जिले में 36.6 इंच वर्षा, सबसे ज्यादा तखतपुर तहसील में

प्रदेश में जिन 5 डिवीजन में पिछले 24 घंटे में सर्वाधिक बारिश दर्ज हुई है उनमें बिलासपुर जिले के कोटा में 96.8 मिमी यानी 3.8 इंच बारिश रिकॉर्ड हुई। यह प्रदेश में सबसे ज्यादा है। जांजगीर-चांपा जिले के शिवरीनारायण में 88 मिमी, बिलासपुर जिले के ही तखतपुर में 84.6 मिमी, कोंडागांव के फरसगांव में 79.9 मिमी तो मुंगेली जिले के पथरिया में 70 मिमी वर्षा पिछले 24 घंटे में दर्ज हुई।

बिलासपुर जिले में तीन दिनों में तीन इंच तो शहर में 24 घंटे में 2 इंच बारिश दर्ज हुई। हालांकि बीच में मौसम ने थोड़ा डरा दिया था लेकिन अच्छी बारिश से किसानों की चिंता दूर हो चुकी है। रविवार को सुबह बूंदाबांदी हुई जबकि फिर धूप निकल आई लेकिन दोपहर में कई इलाकों में अच्छी बारिश हुई। बारिश के असर से शहर के अधिकतम तापमान में दो डिग्री से ज्यादा की गिरावट दर्ज गई है। एक दिन पहले शहर का अधिकतम तापमान 32 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था। यह सामान्य से एक डिग्री ज्यादा रहा। न्यूनतम तापमान 25 डिग्री था जो कि सामान्य से एक डिग्री कम था। जबकि शुक्रवार की रात को 7.6 मिमी तो दिनभर में 7.4 मिमी वर्षा हुई थी। वहीं रविवार को शहर का अधिकतम तापमान 29.8 डिग्री रहा जो कि सामान्य से एक डिग्री कम रहा। वहीं न्यूनतम तापमान 24.4 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।

रविवार को कम तापमान इसलिए रहा क्योंकि सुबह 8.30 बजे तक 34.8 मिमी वर्षा दर्ज हुई जबकि शाम 5.30 बजे तक 25.6 मिमी वर्षा रिकॉर्ड की गई। हालांकि आर्द्रता सुबह 92 तो शाम को 97 फीसदी रही। इतनी किसी भी शहर में दर्ज नहीं हुई। शहर की बात करें तो जून में 226 मिमी, जुलाई में 523.4 मिमी तो अगस्त में 237 मिमी सहित तीन माह में 986.4 मिमी वर्षा हुई। इस तरह 38 इंच से ज्यादा वर्षा अगस्त की अंतिम तारीख तक हो गई। सितंबर में जरूर बारिश नहीं होने से लोगों की चिंता बढ़ी। बारिश कम होने की वजह से एक तरफ जहां किसानों की चिंता बढ़ने लगी, वहीं अधिकतम तापमान में वृद्धि ने लोगों को परेशान किए रखा। उमसभरी गर्मी ने लोगों की हालत खराब की। लोग गर्मी से बचाव के लिए बारिश की उम्मीद करते रहे लेकिन बारिश या तो नहीं हो रही थी या हो रही थी तो बहुत कम। लेकिन पिछले कुछ दिनों से ग्रामीण इलाके में तो दो दिनों से शहरी क्षेत्र में अच्छी वर्षा हो रही है। जिले की बात करें तो तीन दिनों में तीन इंच से ज्यादा वर्षा हो चुकी है। वहीं शहर में करीब दो इंच बारिश हुई।

आज भी बारिश की संभावना
मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि 13 सितंबर को बिलासपुर संभाग और उससे लगे हुए सरगुजा, दुर्ग और रायपुर संभाग के कुछ जिलों में एक-दो स्थानों पर भारी से अति भारी वर्षा होने की प्रबल संभावना है। वहीं कहीं-कहीं हल्की से मध्यम वर्षा होने या गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। निम्न दाब का क्षेत्र उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी और उससे लगे पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर स्थित है। ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा 7.6 किमी ऊंचाई तक है।

बारिश में उड़ा फीडर, बंद रही बिजली
बिजली विभाग कितना भी मेंटेनेंस करे, लेकिन बारिश होने के बाद बिजली बंद होना तय हो गया है। रविवार को बारिश हुई और सरकंडा का टीबी फीडर उड़ गया। इसके कारण सरकंडा इलाके में दो घंटे बिजली बंद रही। लोग परेशान होते रहे। विभाग को पहले फाल्ट खोजने में एक घंटे लग गए। इसके बाद उसे बनाया गया। पुराना बस स्टैंड में भी बिजली आती-जाती रही। बिजली विभाग से हर समय लोग किसी ना किसी समस्या को लेकर परेशान ही रह रहे हैं। कभी लोग बिजली बंद तो कभी ज्यादा बिल से परेशान हैं। इसके अलावा अब तो लोग मीटर लगवाने विभागों का चक्कर लगा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...