पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मानसून मेहरबान:35 वर्षों में पांचवीं बार सर्वाधिक बारिश, दूसरे साल भी 50 इंच से ज्यादा बरसा पानी

बिलासपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सुनील शर्मा | 35 वर्षों में पांचवीं बार बिलासपुर जिले में सर्वाधिक बारिश हुई। लगातार दूसरे साल 50 इंच से ज्यादा पानी बरसा। पिछले साल करीब 51.2 इंच बारिश हुई थी। इस साल जितनी बारिश हुई, उतनी पिछले 16 साल में कभी नहीं हुई। इस बार 12 जून को ही मानसून आ गया और खूब पानी बरसा और लोग इसकी वजह से हलाकान हो गए। इस साल से पहले 1994-95 में 69.5 इंच, 1997-98 में 51.7 इंच तो 2004-05 में 53.5 इंच बारिश हुई थी। भू-अभिलेख विभाग के मुताबिक विगत दस वर्षों की जिले की औसत वर्षा 1192.4 मिमी यानी 46.9 इंच है। इस साल 1 जून से लेकर अब तक 1302.1 मिमी (51.2 इंच)वर्षा हो चुकी है। यानी औसत से 109.6 मिमी यानी 4 इंच से ज्यादा वर्षा हो चुकी है। विगत वर्षों में औसत से कम बारिश भी हुई है। बता दें कि जिस भी साल कम बारिश होती है। इस साल रिकॉर्ड बारिश ने विशेषज्ञों को भी चौंका दिया है।

कारण: ज्यादा आए पश्चिमी विक्षोभ
मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक आमतौर पर बिलासपुर में औसत या उससे कम बारिश होती रही है पर रिकॉर्ड बारिश हुई है। ऐसा लगातार दूसरे साल हुआ। इसके पीछे कारण ये है कि इस बार मानसून भी अच्छा रहा और पश्चिमी विक्षोभ भी अधिक बार आए। इस वजह से अच्छी बारिश हुई।

रिकॉर्ड: 1994-95 में 70 इंच पानी बरसा था
मौसम विशेषज्ञ उमेश रायक्वापर्ण के मुताबिक लगातार दूसरे साल अच्छी बारिश हुई पर इसके पहले के दो वर्षों में लगातार कम पानी गिरा था। पहले काफी बारिश होती थी। 1994-95 में हुई 69.5 इंच बारिश को नहीं भूल सकते। 1997-98 में भी 1314.8 मिमी यानी 51 इंच बारिश हुई थी।

इतिहास: गजेटियर में 1901 में 50 इंच बारिश
1901 के गजेटियर में बिलासपुर में 50 इंच बारिश होने का उल्लेख है। इसमें लिखा है कि बिलासपुर से कम बारिश मुंगेली में होती थी। तब मुंगेली में 45 इंच बारिश होती थी। जांजगीर में 50.5 इंच औसत बारिश होती थी यानी बिलासपुर से आधा इंच ज्यादा पानी वहां गिरता था।

लाभ: किसानों को मिल सकते हैं 1250 करोड़
अच्छी बारिश व 2500 रुपए समर्थन मूल्य से किसान उत्साहित हैं। पिछले साल 1 लाख 1662 किसानों से 48 लाख 28 हजार 29 क्विंटल धान खरीदा गया था। इस बार 50 लाख क्विंटल धान खरीदी की संभावना है। 2500 रुपए समर्थन मूल्य के हिसाब से किसानों की जेब में 1250 करोड़ रुपए जा सकते है।

अभी भी बने हैं बारिश के आसार, दिख रहे बादल
मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा के मुताबिक अभी मानसून की वापसी नहीं हुई है। एक चक्रीय चक्रवाती घेरा पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी और उससे लगा तटीय आंध्र प्रदेश के ऊपर 2.1 किलोमीटर ऊंचाई पर स्थित है। इसके असर से गरज-चमक के साथ हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है।

फिर तापमान 33 डिग्री से ज्यादा
पिछले दिनों अधिकतम तापमान 33.2 डिग्री दर्ज हुआ था। एक बार फिर रविवार को शहर का अधिकतम तापमान 33.2 डिग्री दर्ज हुआ। यह सामान्य से एक डिग्री अधिक रहा। वहीं न्यूनतम तापमान 25.2 डिग्री दर्ज हुआ जो कि सामान्य से चार डिग्री अधिक रहा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें