सांसदों ने कहा-6 ट्रेनों का विस्तार करें, सुविधाएं बढ़ाएं:SECR के जनरल मैनेजर के साथ बैठक की, कुछ नयी ट्रेनों को चलाने की मांग की

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेलवे मंडल की बैठक में मौजूद सांसद व महाप्रबंधक - Dainik Bhaskar
रेलवे मंडल की बैठक में मौजूद सांसद व महाप्रबंधक

दक्षिण पूर्व रेलवे जोन के नागपुर में गुरुवार को रेलवे के जीएम ने सांसदों के साथ बैठक ली। इसमें सांसदों ने रेल सुविधाओं के विस्तार के साथ ही ट्रेनों के परिचालन में विस्तार सहित यात्रियों की सुविधाओं को लेकर मांगे रखी। इस दौरान ग्वारीघाट रेलवे स्टेशन का उन्नयन करने, मण्डला को बिलासपुर एवं नागपुर रेलमार्ग से जोड़ने की मांगें रखी गई। सांसदों की मांगों पर जीएम ने रेलवे बोर्ड स्तर के कार्यों को स्वीकृति के लिए मंत्रालय भेजने की बात कही। बैठक के दौरान में गाड़ियों के परिचालन से संबन्धित विभिन्न मांगो पर चर्चा हुई। जिसमे मुख्य रूप से अम्बिकापुर - दुर्ग (18243/18242) एक्सप्रेस भोपाल - दुर्ग (12853/12854) अमरकंटक एक्सप्रेस का राजनांदगांव तक विस्तार, गोंदिया-कोल्हापुर महाराष्ट्र एक्सप्रेस गाड़ी क्रमांक 11040 का दुर्ग तक विस्तार, बिलासपुर – बीकानेर (18243/18244) का डोंगरगढ़ में स्टापेज, हैद्रराबाद -दरभंगा एक्सप्रेस को वड़सा और नागभीड़ रेलवे स्टेशन पर स्टापेज, ट्रेन नंबर 22181 /22182 गोंडवाना एक्सप्रेस, जो वर्तमान में हजरत निजामुद्दीन से जबलपुर के मध्य चल रही है, इसका विस्तार करते हुए जबलपुर से नैनपुर, बालाघाट, गोंदिया होते हुये इतवारी नागपुर तक चलाने, बिलासपुर से इंदौर तक व्हाया गोंदिया, बालाघाट, नैनपुर से जबलपुर तक नई ट्रेन, शिवनाथ एक्सप्रेस 18239/40 को छिंदवाड़ा तक चलाने एवं पैसेंजर व लोकल ट्रेनों को पूर्ववत परिचालन के साथ साथ सीनियर सिटीजन, दिव्यांग, महिलाये और विद्यार्थियों को दी जाने वाली सुविधा तत्काल रूप से शुरु करने पर चर्चा हुई।

इसके अलावा, विभिन्न परियोजना - नागपुर-नागभीड़ रेल लाईन का परिर्वतन आमान व तथा इलेक्ट्रीफिकेशन कार्य शीघ्र पुर्ण करने, छिन्दवाड़ा में तत्काल एक पिट लाइन का निर्माण, रामटेक से खापा नई रेल लाईन के सर्वेक्षण, रामटेक- तिरोडी -तारसा इस नई रेल लाइन, मंडला रेल्वे स्टेशन में सुविधा विस्तार कर स्टेशन में वाशिंग पिट सहित अन्य सभी सुविधायें प्रदान करने, नैनपुर में कोच मेन्टेनेंस डिपो का निर्माण सहित गोंदिया रेलवे स्टेशन के विस्तारीकरण एंव अत्याधुनिक बनाने के लिए नियोजन, नैनपुर स्टेशन का विकास एवं नैनपुर से गाडियां प्रारंभ करने, मण्डला रेल्वे स्टेशन से ट्रेनों का नियमित परिचालन, ग्वारीघाट रेलवे स्टेशन का उन्नयन करने, मण्डला को बिलासपुर एवं नागपुर रेलमार्ग से जोड़ने, रेलवे के खाली भूमि में वेयर हाउस, गोडाउन, पर्यटन एवं उद्योग इत्यादि के तहत सामूहिक प्रयासों से पी.पी.पी. मॉडल पर उक्त जमीन का सदुपयोग करने के साथ साथ भूमि अधिग्रहित शेष कुछ किसानों के आश्रितों के दस्तावेज पूर्ण कर नौकरी देने पर विस्तृत चर्चा हुई।

महाप्रबंधक आलोक कुमार ने बैठक में उठाए गए सभी सुझाव एवं विकास कार्यों में से मुख्यालय स्तर के विकास कार्यों की जानकारी देते हुये कार्यो को पूरा करने का हर संभव प्रयास करने तथा बोर्ड स्तर के कार्यों को स्वीकृति के लिए मंत्रालय भेजने के के लिए आश्वस्त किया। बैठक में राजनांदगांव के सांसद संतोष पांडेय, गोंदिया-भंडारा के सांसद सुनील मेंढे़, मंडला सांसद सम्पतिया उइके, महाप्रबंधक आलोक कुमार, नागपुर रेल मंडल प्रबंधक मनिन्दर उप्पल, सांसद व केंद्रीय परिवहन मंत्री के प्रतिनिधि विधायक प्रवीण दटके उपस्थित रहे।
जनप्रतिनिधियों को रहती है समस्याओं की जानकारी
बैठक में जीएम आलोक कुमार ने कहा कि स्थानीय मांगों, समस्याओं की जानकारी जनप्रतिनिधियों को अच्छी होती है। उन्होंने भारतीय रेलवे की अधोसंरचना का विकास, कोरोना काल में रेलवे द्वारा किया गया संघर्ष, विकासात्मक कार्यों, विद्युतीकरण, गेज कन्वर्सेशन, इंफ्रास्ट्रक्चर, माल-लदान में निरंतर वृद्धि सहित अन्य की जानकारी से अवगत कराया।