अकबर खान मामले की जांच शुरू:कमेटी के पास जवाब पेश करने कोई नहीं पहुंचा, अब 8 नवंबर को बुलाया गया है दोनों पक्षों को कांग्रेस भवन

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कांग्रेस कमेटी के शहर उपाध्यक्ष अकबर खान मामले की जांच शुरू हो गई है। उनपर विधायक शैलेष पांडेय को गाली देने का आरोप है। कांग्रेस ने इसके लिए तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया है। कमेटी ने शनिवार से जांच शुरू कर दी है। दोनों पक्षों को नोटिस देकर शनिवार 6 नवंबर को कांग्रेस भवन में लिखित में जवाब पेश करने के लिए बुलाया गया था। कमेटी के सदस्य दोपहर 12 से 3 बजे तक यहां बैठे रहे पर कोई उपस्थित नहीं हुआ।

मामले की जांच के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर 3 सदस्यीय जांच कमेटी गठित की गई है। अब संबंधितों को 8 नवंबर को जांच टीम के सामने उपस्थित होने के लिए कहा गया है। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष अकबर खान पर आरोप है कि उन्होंने शहर विधायक शैलेष पांडेय को सिविल लाइन थाने में बैठकर गाली गलौज की थी। इसका सोशल मीडिया में वीडियो वायरल हुआ था। कांग्रेस पार्षद व एल्डरमेन के एसपी दीपक झा से शिकायत के बाद इस मामले में पुलिस ने अकबर खान के खिलाफ जुर्म दर्ज किया है।

पार्षद व एल्डरमेन ने शिकायत प्रदेश कांग्रेस कमेटी में की है। प्रदेश कांग्रेस ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी बनाई है। कमेटी के अध्यक्ष पूर्व महापौर राजेश पांडेय, सदस्य जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष भुनेश्वर यादव व पार्षद संध्या तिवारी शामिल हैं। शहर विधायक शैलेष पांडेय ने कहा कि वे विधायक देवव्रत सिंह की अंत्येष्टि में शामिल होने खैरागढ़ गए हुए थे, इसलिए उन्हें पता नहीं चला। उन्होंने कहा जांच कमेटी बुलाएगी तो कमेटी के सामने जरूर प्रस्तुत होंगे।

खबरें और भी हैं...