पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया शुरू:अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में प्रवेश शुरू कोरोना से अनाथ बच्चों को प्राथमिकता

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में शनिवार से ऑनलाइन तरीके से प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई। इसके लिए शिक्षा विभाग ने एक लिंक जारी की है जिस पर जाकर विद्यार्थी अपनी सभी जानकारी भर कर आवेदन कर सकता है।

इस बार उन बच्चों को अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में प्राथमिकता के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा जिनके माता-पिता या अन्य परिजन कोरोना संक्रमण के चलते नहीं रहे और बच्चों का पालन-पोषण करने वाला कोई नहीं बचा। इसके अलावा सरकार 500 रुपए की स्कॉलरशिप भी बच्चों को देगी। जिले में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों की शुरुुआत पिछले शैक्षणिक-सत्र से आरंभ हुई। जिसके तहत मंगला, तारबाहर, लाजपतराय राय और लिंगियाडीह में अंग्रेजी माध्यम के स्कूल खोले गए । इन सभी स्कूलों में कक्षा एक से 12 तक की कक्षाएं संचालित हो रही हैं । इनमें कक्षा 1 से लेकर 10 तक 40-40 सीट तथा कक्षा 11वीं व 12वीं में संकाय के हिसाब से 20-20 सीट रखी गई हैं।

चार नए अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में संविदा पर नहीं होगी नियुक्ति

इस वर्ष प्रारंभ होने जा रहे चार नए स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में स्टाफ की कमी पूरी करने के लिए शिक्षा विभाग अपने ही कर्मचारियों को इधर से उधर नियुक्त करेगा। मतलब यह कि संविदा के आधार पर किसी की भी तैनाती नहीं की जा सकेगी। प्रत्येक स्कूल में प्राचार्य सहित कुल 43 कर्मचारियों की नियुक्ति होनी है, जिसका भार आबकारी विभाग से होने वाली अतिरिक्त आय से वहन किया जाएगा। वर्ष 2021-22 में कोटा, तखतपुर, चकरभाठा तथा मस्तूरी में चार नए प्रारंभ होने जा रहे स्वामी आत्मानंद स्कूलों में स्टाफ की भर्ती करने के लिए जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया गया है कि जो पिछले सत्र में कार्यवाही की गई थी उन्हीं नियमों को आगे बढ़ाते हुए भर्ती प्रक्रिया आरंभ कर दी जाए जिससे स्कूलों में पढ़ाई के दौरान कोई व्यवधान न उत्पन्न हो।

आदेश मिलने के बाद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में भर्ती प्रक्रिया के लिए कवायद आरंभ कर दी गई है। नए प्रारंभ होने जा रहे अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में संविदा आधार पर कोई नियुक्ति नहीं की जाएगी। इसके लिए विभाग अपने ही कर्मचारियों को इधर से उधर करेगा। स्कूल शिक्षा विभाग में पदस्थ जो शिक्षक या कर्मचारी इन स्कूलों में आना चाहते हैं वे अपना आवेदन जिला शिक्षाधिकारी को दे सकते हैं ।

सरकार को सुझाव पसंद आया

विधायक शैलेश पांडेय ने कहा है कि अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में शनिवार से ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। हमारी सरकार संवेदनशील है इसलिए निर्णय लिया है कि जिन बच्चों के अभिभावकों की कोरोना काल में मौत हो गई है उन्हें स्कूल में प्रवेश के लिए प्राथमिकता दी जाएगी। सरकार ने छात्रों को 500 रुपए स्कॉलरशिप देने का निर्णय भी लिया है। आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की मंशा थी कि उनके बच्चे भी अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में पढ़ाई करें। इसलिए पिछले शैक्षणिक सत्र में स्कूल खुलवाए गए। सरकार को सुझाव पसंद आया इसलिए प्रदेश में पिछली बार 52 तथा इस बार 119 नए अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोले जा रहे हैं ।

खबरें और भी हैं...