पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आज भी रहेगी परेशानी, अब सबको वैक्सीन का इंतजार:लोग उमड़े तो टीके खत्म, सैकड़ों बिना वैक्सीन लगवाए लौटे, 83 सेंटरों में एक भी डोज नहीं लगा

बिलासपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टीके लगवाने पहुंच गई थी भीड़, अधिकांश लोगों को बिना टीका लगवाए निराश होकर लौटना पड़ा। - Dainik Bhaskar
टीके लगवाने पहुंच गई थी भीड़, अधिकांश लोगों को बिना टीका लगवाए निराश होकर लौटना पड़ा।
  • किल्लत, घंटों इंतजार के बाद गुस्सा होकर लौटे लोग

कोविशील्ड का टीका लगवाने टीकाकरण केंद्र पहुंचे लोग बहुत परेशान हुए। अधिकांश सेंटरों में टीके ही नहीं थे। जहां थे भी वहां भी नाममात्र का टीकाकरण हो पाया। सभी सेंटरों से सैकड़ों लोगों को बिना टीका लगवाने निराश होकर घर वापस लौटना पड़ा।

बुधवार को भी इसी समस्या से जूझना पड़ेगा, क्योंकि स्वास्थ्य विभाग के कोविशील्ड के एक भी डोज नहीं हैं। सुबह 7 बजे टीके लेने गाड़ी रायपुर रवाना होगी, वहां से टीके आने में करीब दोपहर 1.30 बज जाएगा, इसके बाद सेंटरों को बांटेंगे यानी तीन बजे के लगभग लोगों को टीके लग पाएंगे।

तीन दिन से लगा रहे चक्कर अभी तक नहीं लग पाया टीका
दैनिक भास्कर की टीम ने कई सेंटरों में जाकर देखा तो लोग बिना टीका लगवाए घर लौट रहे थे। मंगला सेंटर बने कुछ डोज बचे थे इसलिए शुरू में वैक्सीन लगी बाद में खत्म हो गई। रजिस्ट्रेशन कराने वालों को भी बिना टीका लगवाए लौटना पड़ा। गौरी सोनी ने बताया कि वे तीन दिनों से टीका लगवाने के लिए चक्कर लगा रहे हैं बाद में आना अभी वैक्सीन नही है कहकर लौटा दे रहे हैं। देवकीनंदन चौक में टीकाकरण शुरू हुआ। भीड़ ज्यादा थी टीके नाम नाम मात्र के। 40 लोगों को वैक्सीन लगी और खत्म हो गई। कतार में लगे 90 से ज्यादा लोग बिना टीका लगवाए लौटे। सूचना जारी हुई है कि बुधवार को देवकीनंदन स्कूल में टीकाकरण नहीं होगा। लोग सिम्स और किम्स में लगवा सकते हैं।

पहले व्यवस्था कर लो फिर बुलाओ
चिंगराजपारा स्कूल: शासकीय चिंगराजपारा हायर सेकंडरी स्कूल को 50 डोज ही मिले थे। यहां 120 से ज्यादा लोग टीके लगवाने आए। यहां भी 70 लोगों को बिना टीका लगवाए वापस लौटना पड़ा। बुजुर्ग जगदीश, महेश और राम सेवक ने बताया कि पिछले दो दिन से हम रोज आ रहे हैं लेकिन टीका ही नहीं लग पा रहा है। बड़ी मुसीबत है। लोगों ने ये भी कहा कि जब व्यवस्था नहीं है तो फिर क्यों हमें कहा जा रहा है कि आकर टीके लगवा लो। पहले टीके की व्यवस्था तो कर लोग फिर हमें बिलाओ।

टीका कब लगेगा ये भी कोई नहीं बता पा रहा
खमतराई स्कूल: शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल खमतराई में भीड़ थी लेकिन टीके एक भी नहीं थे। यहां सभी को बिना वैक्सीन लगवाए ही वापस लौटना पड़ा। 47 वर्षीय सुरेश ने बताया कि कड़ी धूप में हम टीका लगवाए आए और यहां ये कहकर लौटा दिया है कि वैक्सीन ही नहीं है। वैक्सीन नहीं है तो हमारी क्या गलती। घर के बुजुर्गों को यहां तक लाओ और बिना टीके लगवाए फिर घर ले जाओ, रोज ऐसा ही करते रहेंगे।
25 हजार डोज मिलने की उम्मीद : जिला टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर मनोज सेम्युअल का कहना है कि सोमवार सुबह गाड़ी भेज रहे हैं। करीब 25 हजार के लगभग वैक्सीन मिलने की उम्मीद है। सुनने में आया है कि शाम को फिर वैक्सीन की खेप मिलने की उम्मीद है।

जनता ही परेशानी सहे
लिंगियाडीह और स्वास्थ्य केंद्र राजकिशोर किशोर नगर में टीकाकरण शुरू में चला लेकिन बाद में टीके खत्म हो गए लेकिन भीड़ थी। टीके खत्म होते ही लोगों को मना करना शुरू कर दिया। कुछ देर बाद फिर कुछ टीके आए और कुछ लोगों को लगा। दिनभर ऐसा ही चला। दोनों सेंटरों से करीब 120 से ज्यादा लोग बिना टीकाकरण के लौटे। बुजुर्ग बहुत परेशान हुए। टीका नहीं लगने से लोग गुस्सा होकर वहां से गए। इधर जिला अस्पताल में रजिस्ट्रेशन होने के बाद भी कुछ लोग बिना टीका लगवाए ही लौटे।

74 में 4467 को लगे टीके
जिले में वैक्सीन नहीं होने के कारण 87 सेंटरों में एक भी टीके नहीं लगे। सिर्फ 74 सेंटरों में वैक्सीनेशन चला वो भी आधा अधूरा क्योंकि अधिकांश लोगों को बिना टीका लगवाए ही लौटना पड़ा। मंगलवार को कोविशील्ड और को-वैक्सीन मिलाकर दिनभर में 4467 लोगों को ही टीके लग पाए। मंगलवार को सबसे ज्यादा 45 से अधिक उम्र वाले 2803 लोगों को टीके लगे। 60 से ऊपर वाले 1363 लोगों ने वैक्सीन लगवाई। इनमें 45 से ऊपर वाले 33 ने दूसरा डोज लगवाया। इधर 60 से अधिक वाले 46 ने दूसरे डोज की वैक्सीन लगवाई। 9 हेल्थ और 12 फ्रंट लाइन वॉरियर्स को दूसरा डोज लगा है। वहीं को-वैक्सीन की बात करें तो 280 लोगों टीका लगना था। सभी पहुंचे और टीके लगाए गए।

सिम्स में भी 200 बिस्तर का कोविड अस्पताल बनेगा
मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सिम्स में कोविड अस्पताल तैयार किया जा रहा है। संभवत: दो दिन के अंदर कोरोना मरीजों को मेडिकल कॉलेज में भी इलाज मिलना शुरू हो जाएगा। शासन से आर्डर मिलने के बाद मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त संचालक डॉक्टर मधुलिका सिंह, संभागीय कोविड हॉस्पिटल की सलाहकार डॉक्टर शैफाली कुमावत और कोरबा हॉस्पिटल के सलाहकार डॉक्टर देवेंद्र गुर्जर सिम्स पहुंचे और पूरे मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को देखा।

देखने परखने के बाद जेडी डॉक्टर मधुलिका सिंह ने यहां 200 बिस्तर का कोविड अस्पताल चालू करने का प्रस्ताव शासन को भेज दिया है। पहले प्रस्ताव में 78 बिस्तर का कोविड हॉस्पिटल दो दिन के भीतर शुरू होगा। वहीं दूसरा 120 बिस्तर का हॉस्पिटल शुरू करने में थोड़ा समय लगेगा। हालांकि जेडी का कहना है कि 15 दिन के भीतर 120 बिस्तर का डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल शुरू हो जाएगा। पहले प्रस्ताव में निरीक्षण करने वाली टीम ने वर्तमान में संचालित हो रहे आइसोलेशन वार्ड में 78 बिस्तर का कोविड अस्पताल शुरू करने का उल्लेख किया। दूसरे प्रस्ताव में सिम्स की पुरानी बिल्डिंग यानी सुलभ कॉम्प्लेक्स के पास 120 बिस्तर का डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल शुरू करने की बात रखी। दोनों प्रस्ताव देखने के बाद शासन ने 78 बिस्तर का कोविड हॉस्पिटल तत्काल यानी दो दिन के अंदर शुरू करने की बात कही।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें