डकैतों का नहीं मिला सुराग:CCTV फुटेज खंगालते जांजगीर तक पहुंची पुलिस, फिर भी पुलिस के हाथ खाली, जमीन विवाद भी है जांच का एंगल

बिलासपुर4 दिन पहले
डकैतों की तलाश के दौरान CCTV फुटेज सामने आया है।

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में दिनदहाड़े हुई डकैती का अब तक कोई सुराग नहीं मिला है। पुलिस की जांच अब CCTV फुटेज और मोबाइल के जरिए जांच में जुटी है। जांच के दौरान जांजगीर जिले के कोटमीसोनार का भी CCTV फुटेज सामने आया है। जिसमें बाइक सवार डकैत भागते नजर आ रहे हैं। यह क्षेत्र मस्तूरी थाने के सीमावर्ती गांव है और घटनास्थल दर्रीघाट से 20 किलोमीटर दूर बताई जा रही है। ऐसे में पुलिस कांग्रेस नेता के जांजगीर से जुड़े एंगल की भी जांच कर रही है।

SP पारुल माथुर ने बताया कि डकैती की घटना के बाद पुलिस सभी एंगल की जांच कर रही है। आसपास लगे CCTV फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं। पंजाब एंड सिंध बैंक से मिले फुटेज मिलने के बाद मस्तूरी के ग्राम लावर में फुटेज सामने आया। इसके आधार पुलिस लोकेशन खोजते हुए जांजगीर तक पहुंच गई है। पुलिस अब तक इस मामले की जांच के लिए 300 CCTV कैमरे खंगाल चुकी है। इसी कड़ी में जांजगीर जिले के कोटमीसोनार की एक दुकान का फुटेज सामने आया है। जिसमें बाइक सवार डकैत नजर आ रहे हैं।

CCTV फुटेज के साथ मोबाइल लोकेशन भी खंगाल रही पुलिस
पुलिस को डकैतों के कई महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं। जिसके आधार पर उनकी तलाश की जा रही है। पुलिस की साइबर सेल की टीम मोबाइल टॉवर डंप निकालकर संदेहियों के मोबाइल नंबर को ट्रैक करने की कोशिश कर रही है। हालांकि, अभी तक डकैतों की पहचान और उन तक पहुंचने के लिए पुलिस के हाथ खाली हैं।

पुलिस की लापरवाही से भागे डकैत, नहीं कर पाई नाकेबंदी
शहर से लगे ग्राम दर्रीघाट में दिनदहाड़े हुई डकैती के बाद शहर की पुलिसिंग की पोल खुल गई है। डकैती की इस घटना की सूचना महज कुछ ही देर में पुलिस को मिल गई थी। डकैतों की तलाश के लिए नाकेबंदी करने के बजाए मस्तूरी के साथ ही शहर के थानेदार घटनास्थल पहुंच गए। माना जा रहा है कि डकैती की खबर मिलते ही पुलिस तत्काल आसपास के इलाकों की सीमा को सील कर नाकेबंदी करती तो डकैत पुलिस के हाथ लग सकते थे।

प्रॉपर्टी डीलर का करता है काम, जांजगीर के लोगों से हुआ था विववाद
पुलिस की पूछताछ और जांच में पता चला है कि कांग्रेस नेता टाकेश्वर पाटले जमीन कारोबारी भी है। उससे पूछताछ के आधार पर शक है कि आपसी विवाद और लेनदेन के चलते वारदात को अंजाम दिया गया होगा। जांच में यह भी बात सामने आया है कि जमीन को लेकर जांजगीर के कुछ युवकों से टाकेश्वर का विवाद हुआ था। ऐसे में पुलिस इस एंगल को भी खंगाल रही है।

खबरें और भी हैं...