योजना:3 एकड़ जमीन पर बनेगा रेल म्यूजियम, नेरोगेज ट्रेन, पुराने कोच, इंजन और सेलून रखेंगे

बिलासपुरएक वर्ष पहलेलेखक: आशीष दुबे
  • कॉपी लिंक
  • न्यू लोको कालोनी में इलेक्ट्रिक लोको शेड के किनारे निर्माण पर चल रहा विचार, सीनियर डीसीएम ने कहा- सर्वे के बाद कराएंगे आगे का काम, एतिहासिक जानकारियां मिलेंगी

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन बिलासपुर में जल्द ही रेल म्यूजियम बनने वाला है। न्यू लोको कॉलोनी में इसके लिए 13 एकड़ जमीन फाइनल हो गई है। म्यूजियम में नेरोगेज ट्रेन, पुराने कोच, इंजन, सैलून सहित अन्य ऐतिहासिक संसाधनों को रखा जाएगा। यहां से लोगों को रेल संबंधी कई जानकारियां मिलेंगी। सीपीआरओ साकेत रंजन का कहना है कि इसके लिए सर्वे का काम चल रहा है। बजट और बाकी चीजें भी उसके बाद ही तय होगी। बिलासपुर स्टेशन में म्यूजियम की मांग काफी समय से उठ रही थी। यहां नागपुर मंडल के दो स्टेशन मोतीपुर और नैनपुर में भी यह म्यूजियम बनाया गया है। यहां बने म्यूजियम की तर्ज पर ही बिलासपुर में भी इसका प्रोजेक्ट बनाया गया है। यहां रेलवे पहले किस तरह काम करती थी और ट्रेनों को चलाने के लिए किस तरह की चीजों का इस्तेमाल होता रहा इसकी पूरी जानकारी मिलेगी। कई सारे पुराने उपकरण रखे जाएंगे। वे सामान भी जिनका इस्तेमाल ट्रेनों को चलाने में होता आया है। भारतीय रेलवे ने रेलवे के गौरवशाली इतिहास के बारे में लोगों को जानकारी देने के लिए इस रेल म्यूजियम को बनाने की योजना तैयार की है। इस म्यूजियम के जरिए लोगों को यह बताने की कोशिश की जाएगी कि पहले रेलवे स्टेशन कैसे थे और वक्त के साथ वे किस तरह से बदल गए हैं। रेल अधिकारियों का कहना है कि आम लोगों को इसका अच्छा लाभ मिलेगा। उन्हें रेलवे के इतिहास को समझने में बड़ी आसानी होगी। यह नया प्रोजेक्ट है, जहां कई सुविधाएं मुहैया करवाने के दावे किए जा रहे हैं। सीनियर डीसीएम पुलकित सिंघल ने कहा है कि इस प्रपोजल में सर्वे का काम चल रहा है।

म्यूजियम में थियेटर भी बनेगा ताकि लोग बैठ सकें
रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि म्यूजियम के भीतर थियेटर का निर्माण करवाया जाएगा। यहां लोग बैठकर इन संसाधनों को बेहतर तरीके से देख पाएंगे। तालाब का सौंदर्यीकरण करवाया जाएगा। ये बहुत कम लोग ही जानते हैं कि रेलवे का इतिहास कितना पुराना है। यहां किन चीजों का इस्तेमाल रेल के परिचालन में होता आया है। इसके अलावा ऐसी कौन सी बातें हैं जो उन्हें जाननी जरूरी है। इन्हीं सब जिज्ञासाओं के लिए ही इस म्यूजियम को बनवाया जा रहा।

बजट फाइनल होने के बाद प्रक्रिया
रेलवे के अधिकारियों ने म्यूजियम का ड्राइंग डिजाइन तैयार कर लिया है। इसका प्रपोजल बनाकर भेज दिया गया है।बताया जा रहा है कि महाप्रबंधक के ऑफिस पर ही उसकी सहमति मिल गई है। बजट और दूसरी औपचारिकताओं का होना बाकी है जिसके बाद ही शहर वासियों को रेलवे क्षेत्र में म्यूजियम की सुविधा मिल जाएगी। म्यूजियम के बनने के बाद न्यू लोको कॉलोनी का एरिया भी चमक उठेगा।

आकर्षण का केंद्र रहेगा
"बिलासपुर स्टेशन में न्यू लोको कॉलोनी स्थित 13 एकड़ जमीन को रेल म्यूजियम के लिए तैयार किया जा रहा है। फिलहाल सर्वे और औपचारिकताओं का काम जारी है। म्यूजियम का निर्माण आम लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए किया जाएगा। यहां थियेटर भी बनेगा। बनने के बाद यह आकर्षण का केंद्र रहेगा।"
- साकेत रंजन, सीपीआरओ, रेलवे जोन

खबरें और भी हैं...