जिंदल कंपनी के चेयरमैन नवीन जिंदल को धमकी:जेल से लिखे पत्र में 5 मिलियन ब्रिटिश पाऊंड मांगे, कहा-नहीं मिला तो मार डालूंगा

बिलासपुर/रायगढ़11 दिन पहले

बिलासपुर केंद्रीय जेल से पत्र लिखकर जिंदल कंपनी के चेयरमैन नवीन जिंदल को धमकी देने का मामला सामने आया है। बदमाश ने जिंदल से पांच मिलियन ब्रिटिश पाउंड (50 करोड़ रु.) की फिरौती मांगी है। 48 घंटे के भीतर फिरौती की रकम न देने पर उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी गई है।

रायगढ़ के पतरापाली स्थित जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड के महाप्रबंधक की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। मामला कोतरा रोड थाना क्षेत्र का है। इस मामले में जेल में बंद एक कुख्यात कैदी का नाम आ रहा है।

महाप्रबंधक सुधीर राय ने पुलिस को बताया कि 18 जनवरी को डाक के माध्यम से उन्हें एक लिफाफा मिला, जिसमें जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड के चेयरमैन नवीन जिंदल का नाम लिखा हुआ था। लिफाफा खोलकर देखने पर उसमें धमकी भरा पत्र मिला है। उसमें गाली देते हुए अभद्र भाषा का प्रयोग किया गया है और पांच मिलियन ब्रिटिश पाउंड की फिरौती मांगी गई है।

सेंट्रल जेल बिलासपुर से भेजा गया है धमकी भरा पत्र।
सेंट्रल जेल बिलासपुर से भेजा गया है धमकी भरा पत्र।

धमकी भरा यह पत्र लाल स्याही से लिखा गया है, जिसमें केंद्रीय जेल बिलासपुर के कैदी क्रमांक 4563/97 लिखा हुआ है। लेटर में प्रेषक आई जुनार राजेंद्र नगर लिखा है। केंद्रीय जेल से मिले इस लेटर के बाद जिंदल कंपनी प्रबंधन में हड़कंप मच गया।

निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा उद्योग समूह है

प्रबंधक ने अपनी शिकायत में कहा है कि जिंदल स्टील एंड पावर प्रदेश में निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा उद्योग समूह है और छत्तीसगढ़ में समूह ने हजारों करोड़ रुपयों का निवेश स्टील, पावर, माइनिंग, सीमेंट उद्योगों की स्थापना और संचालन किया हुआ है। हजारों की संख्या में लोगों को इससे रोजगार भी मिल रहा है। उन्होंने केस की गंभीरता को देखते हुए चेयरमैन नवीन जिंदल को सुरक्षा देने की मांग की है। जिंदल ग्रुप की नींव ओपी जिंदल ने रखी थी।ओपी जिंदल के चार बेटों – पृथ्वीराज जिंदल, सज्जन, रतन और नवीन ने कारोबार को आगे बढ़ाया है। परिवार के सबसे छोटे बेटे नवीन जिंदल हैं।

नवीन जिंदल।
नवीन जिंदल।

उत्तराखंड के जज को भी दी थी धमकी
केंद्रीय जेल बिलासपुर से उत्तराखंड हाईकोर्ट के जज को भी धमकी भरा पत्र भेजा गया था, जिसमें उनसे 50 करोड़ रुपए की फिरौती भी मांगी गई थी। उन्हें भी 48 घंटे के भीतर फिरौती की रकम नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी गई थी। इस खत का तार बिलासपुर से जुड़े होने के बाद उत्तराखंड पुलिस की टीम इस केस की जांच के लिए आई थी। हैंडराइटिंग मिलान करने के बाद पुलिस ने कुख्यात डकैत पुष्पेंद्र नाथ चौहान के पत्र लिखने की पुष्टि की थी। जिंदल को धमकी देने के मामले में भी पुष्पेंद्र के शामिल होने की बात सामने आ रही है।पढ़ें पूरी खबर

रायगढ़ की कोतरा रोड पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज किया है।
रायगढ़ की कोतरा रोड पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज किया है।

पहले भी कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों को दे चुका है धमकी
कुख्यात डकैत पुष्पेंद्र नाथ चौहान पूर्व में भी कई राज्यों के मुख्यमंत्री, राज्यपाल, हाईकोर्ट जज सहित नेताओं को इस तरह से धमकी भरा पत्र लिख चुका है। उसने पश्चिम बंगाल के सीएम ममता बनर्जी को भी धमकी देकर फिरौती मांगी थी। उसके खिलाफ कई केस दर्ज किए गए हैं।

पुष्पेंद्र नाथ चौहान।
पुष्पेंद्र नाथ चौहान।

मार्च में होगी रिहाई
कुख्यात डकैत पुष्पेंद्र नाथ चौहान पर डकैती, हत्या, लूट के करीब आधा दर्जन केस दर्ज हैं। सभी मामलों में वह साक्ष्य के अभाव में दोषमुक्त हो चुका है। हत्या और डकैती के एक केस में वह सजा काट रहा है। जेल अधीक्षक खोमेश मंडावी ने बताया कि आने वाले मार्च में उसकी सजा पूरी होने वाली है। फिर वह रिहा हो जाएगा।

कई मामलों में डकैतों के सरगना पुष्पेंद्र व उसके साथी पहले ही हो चुके हैं बरी

  • मई 2008 में कोरबा जिले के ग्राम सोहागपुर ग्रामीण बैंक से 71 लाख 25 हजार की लूट।
  • 8 अगस्त 2007 में तखतपुर (मोछ) बैंक के एसबीआई में डकैती, 1 लाख 15 हजार रुपए की लूट।
  • 15 दिसंबर 2007 को कोरबा जिले के जर्वे बैंक से 1 लाख 70 हजार रुपए की लूट।
  • 2008 में जांजगीर चांपा जिले के नरियरा बैंक से 60 हजार की लूट।
  • 24 नवंबर 2008 को जांजगीर चांपा जिले के करौद बैंक से 1 लाख 50 हजार की लूट।
  • 2008 में दर्री साडा कॉलोनी यूको बैंक में 6 लाख की लूट।
  • फरवरी 2008 में सक्ती रेलवे स्टेशन के पास दिनेश नेताम के साथ मिलकर एक व्यक्ति से 20 हजार रुपए व बैग लूटे।
  • मार्च 2009 में सोनू चौहान के साथ कोरबा जर्वे ग्रामीण बैंक गए। 17 लाख 25 हजार रुपए बैंक से लूटे।
  • 26 दिसंबर 2008 को ग्राम सिंघनसरा सक्ती में साथियों के साथ बाइक लूट।
  • मई 2008 में कोरबा जिले के मड़वारानी से बाइक लूट। इन सभी मामलो में पुष्पेंद्र बरी हो चुका है।
खबरें और भी हैं...