पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अब दूर होगी परेशानी:रतनपुर, सकरी, बेलगहना और सीपत अब नए ब्लॉक, लोगों को नहीं पड़ेगा भटकना

बिलासपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अभी छोटे-छोटे काम के लिए जाना पड़ता है काफी दूर
Advertisement
Advertisement

रतनपुर, सकरी, बेलगहना व सीपत अब नए ब्लॉक होंगे। इनके ब्लॉक बनने से जिले में आठ ब्लॉक हो जाएंगे। इससे प्रशासनिक काम काज में न केवल कसावट आएगी बल्कि लोगों को भी भटकना नहीं पड़ेगा। उन्हें लंबी दूरी तय नहीं करनी पड़ेगी जबकि उनका काम जल्दी हो जाएगा।एक साल पहले रतनपुर, सीपत, बेलगहना और सकरी को ब्लॉक बनाने का प्रस्ताव फिर से भेजा गया था। इसमें खास बात ये थी कि बेलतरा को भी इसमें शामिल किया गया है। 2014 में भाजपा सरकार ने नए ब्लाक व तहसील बनाने का निर्णय लिया था। रिटायर्ड आईएएस एसके मिश्रा की अध्यक्षता में ब्लॉक पुनर्गठन आयोग बनाया गया था। आयोग के पास बिलासपुर संभाग के पांच जिलों से 16 नए ब्लॉक बनाने की मांग आई थी। इसमें जिले में पांच नए ब्लॉक बिलासपुर, रतनपुर, बेलगहना, सीपत और सकरी को बनाने की मांग उठी। बाद में नई तहसीलें बनाने पर भी विचार किया गया। इसके लिए भी प्रस्ताव मंगाए गए। तब रतनपुर, सीपत, बेलगहना और सकरी को ब्लॉक बनाने के प्रस्ताव आयोग को भेजे गए। तत्कालीन भाजपा विधायक बद्रीधर दीवान के दबाव बनाने पर तत्कालीन कलेक्टर ठाकुर रामसिंह ने बेलतरा का प्रस्ताव भी भेजा लेकिन कलेक्टोरेट में जनसुनवाई हुई तो खुद अध्यक्ष मिश्रा ने इसे यह कहते हुए खारिज कर दिया कि रतनपुर को बना रहे हैं जहां से बेलतरा की दूरी महज आठ किलोमीटर है। बाकी तहसीलों के प्रस्ताव पर आपत्तियों के निराकरण के बाद राज्य शासन को आयोग ने रिपोर्ट दी लेकिन नए ब्लॉक व तहसीलों की घोषणा नहीं हुई। अब राष्ट्रपति ने छत्तीसगढ़ के नए 70 ब्लॉक बनाने को मंजूरी दे दी है। वर्तमान में बिलासपुर जिले में बिल्हा, तखतपुर, कोटा और मस्तूरी चार ब्लॉक हैं। कोटा से दो ब्लॉक रतनपुर और बेलगहना तो तखतपुर सकरी और मस्तूरी से सीपत को अलग कर ब्लॉक बनाया गया है। हालांकि इसमें समय लगेगा लेकिन जब ये अस्तित्व में आएंगे तो लोगों को बड़ी सुविधा होगी। मसलन अभी रतनपुर के लोगों को कई तरह के काम के लिए कोटा जाना पड़ता है जबकि बेलगहना वालों को भी जाना होता है। वहीं सीपत के लोगों को मस्तूरी जाना पड़ता है। सकरी के लोगों को 23 किमी दूर तखतपुर जाना पड़ता है लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। कोटा एसडीएम क्षेत्र के अंतर्गत के सकरी, रतनपुर और बेलगहना ब्लॉक बनाए गए हैं। एसडीएम आनंदरूप तिवारी ने बताया कि अब वहां सीईओ बैठेंगे जिससे शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन तेजी से होंगे वहीं लोगों की समस्याओं का निराकरण भी जल्दी होगा।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement