जांच में 12 से अधिक एफडी:बैंक बैलेंस, बीमा पॉलिसी मिले; पूर्व डीईओ हीराधर निकला करोड़ों का आसामी, एसीबी ने किया एफआईआर

बिलासपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विजयापुरम का आलीशान मकान। - Dainik Bhaskar
विजयापुरम का आलीशान मकान।

बिलासपुर के पूर्व डीईओ व वर्तमान समग्र शिक्षा विभाग के डिप्टी डायरेक्टर आरएन हीराधर के खिलाफ एंटी करप्शन ब्यूरो ने केस दर्ज किया है। उनके खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं के तहत कार्रवाई की गई है। एसीबी ने जमीन, मकान, महंगी गाड़ियां, कई बैंक खातों में रकम, दो दर्जन से अधिक फिक्स डिपॉजिट, बीमा पॉलिसी सहित करोड़ों की संपत्ति होने का दावा किया है। वे बिलासपुर में कई सालों से जिला शिक्षा अधिकारी रहे। एंटी करप्शन ब्यूरो से की गई शिकायत में बताया गया था कि शिक्षा विभाग में विभिन्न जिलों में रहने के दौरान उन्होंने पद का दुरुपयोग करते हुए मनमानी कमाई की और कई जगह चल-अचल संपत्ति जुटाई।

पत्नी-बेटे के नाम पर मकान, प्लॉट, महंगी गाड़ियां

  • विजयापुरम कॉलोनी में पत्नी भुवनेश्वरी के नाम पर 2507 स्क्वायर फीट का प्लॉट, जिसमें दो मंजिला मकान बनाया है। जमीन की कीमत करीब 48 लाख रुपए और मकान की कीमत करीब 1 करोड़ रुपए बताई गई।
  • मोपका में बेटे रुबेल के नाम पर करीब 50 लाख रुपए की 4820 स्क्वायर फीट जमीन।
  • विजयापुरम में बेटे राहुल के नाम पर 2507 स्क्वायर फीट जमीन,
  • चांटीडीह में खुद के नाम पर 3600 स्क्वायर फीट जमीन पर तीन मंजिला मकान। { कांकेर के चारामा में कृषि भूमि। { कांकेर के भंडारीपारा में मकान व प्लॉट।

2020 से चल रही थी संपत्तियों की जांच
बिलासपुर के तत्कालीन डीईओ आरएन हीराधर के खिलाफ एसीबी में शिकायत व जांच काफी समय से चल रही थी। दैनिक-भास्कर ने 2020 में इस बात की जानकारी पहले प्रकाशित की थी। बिलासपुर में डीईओ रहने के दौरान ही उनकी शिकायत हुई थी।

दो बार बिलासपुर के डीईओ रहे, वर्तमान में जेडी आफिस में पदस्थ
आरएन हीराधर 2012 से 2014 तक बिलासपुर के डीईओ रहे। इसके बाद उनका ट्रांसफर दूसरे जिले में हो गया। 2018 में वे जुगाड़ से फिर बिलासपुर आ गए और यहां 2020 तक डीईओ रहे। कुल चार साल तक इस पद पर बने रहे। फरवरी 2020 में उनकी पदस्थापना जेडी आफिस में हो गई।

बैंक में खुद, पत्नी व बेटों के नाम पर एफडी
बिलासपुर के निजी व राष्ट्रीयकृत बैंकों में हीराधर के नाम पर 16 फिक्स डिपॉजिट, पत्नी व दोनों बेटों के नाम पर 10 फिक्स डिपॉजिट के साथ खुद, पत्नी व बेटों के नाम पर बीमा पॉलिसी ली गई हैं। एसबीआई मेन ब्रांच व सरकंडा ब्रांच में एकाउंट हैं।

दोनों बेटों को कराया एमबीबीएस
हीराधर के दोनों बेटों ने एमबीबीएस किया है। एसीबी से शिकायत में बताया गया है कि उनकी पढ़ाई में लाखों रुपए खर्च किए गए हैं। शिकायतकर्ता ने दस्तावेजों की जांच करते भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत केस दर्ज करने की मांग की गई थी।

दूसरे शहरों में भी चल अंचल संपत्ति की होगी जांच
शिक्षा अधिकारी के बेटे राहुल के नाम पर 10 लाख रुपए व पत्नी भुवनेश्वरी के नाम पर 14 लाख रुपए कीमत की कार है। बेटे रुबेल के नाम पर महंगी बाइक है। इसकी कीमत करीब दो लाख रुपए है।

खबरें और भी हैं...