पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • Retired ASP RK Srivastava Said That Action Should Be Taken Against The Responsibilities; Police Molested The Crime Scene By Taking Out The Dead Body, Only The Culprits Were Put In Search

एक्सपर्ट व्यू:रिटायर्ड एएसपी आरके श्रीवास्तव ने कहा-जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई हो; शव निकालकर क्राइम सीन से पुलिस ने की छेड़छाड़, दोषियों को ही लगा दिया खोजबीन में

बिलासपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी के घर पर परिजनों की भीड़, पुलिस की प्रताड़ना व लापरवाही की ही चर्चा। - Dainik Bhaskar
आरोपी के घर पर परिजनों की भीड़, पुलिस की प्रताड़ना व लापरवाही की ही चर्चा।
  • यदि खुदकुशी की है तो उसे इसके लिए मजबूर किया गया

चोरी के केस में पकड़े गए आरोपी सनि मरकाम की मौत के मामले में तोरवा पुलिस ने कई बड़ी चूक की। उसके अपराध व गिरफ्तारी की घरवालों को सूचना नहीं दी गई। यदि वह भागा तो जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए थी। उसके परिजनों को थाने में लाकर बिठाना भी गलत था।

इसी तरह पुलिस की सबसे बड़ी गलती यह रही कि कस्टडी में आरोपी की मौत जैसे गंभीर मामला होने के बाद भी उसने आरोपी सनि की लाश मजिस्ट्रेट की उपस्थिति के बिना चेकडेम से निकाली और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बाद में लौटाकर फिर डेम में रखवा दिया। इससे क्राइम सीन क्रिएट नहीं हुआ। आरोपी यदि सचमुच कस्टडी से भागा था तो जिम्मेदारों पर कार्रवाई कर उन्हें जांच से बिल्कुल अलग कर देना था। इसी तरह आरोपी को हथकड़ी लगाने के बाद उसका दूसरा सिरा बेल्ट पर लगाना था। यह करीब दो इंच चौड़े रहते हैं। इसमें भी पुलिस ने गलती की। पुलिस ने जिसे पहले संदेही बताया बाद में वह आरोपी बन गया, यह भी जांच का विषय है। न्यायिक जांच में इन्हें देखा भी जाएगा।
( रिटायर्ड एएएसपी व पुलिस जांच एक्सपर्ट आरके श्रीवास्तव)

हत्या या खुदकुशी के लिए प्रेरित का केस कानून के जानकारों का कहना है कि हिरासत में मौत होने पर पुलिस पर केस बनता है। आरोपी की सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी पुलिस पर होती है। यदि उसके शरीर पर चोट के निशान है तो पुलिस पर हत्या का केस भी दर्ज होता है। यदि उसने खुदकुशी की तो आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज होता है। अधिवक्ता अजय अयाची के अनुसार माना कि आरोपी ने खुदकुशी ही की होगी तो पुलिस ने उसे इतना डरा दिया होगा कि वह इसके लिए मजबूर हो गया।

तोरवा पुल से हमेशा लगाता था छलांग ?
सनी के मामा सेवकराम सुआडोल का कहना है कि दुर्गोत्सव के समय सनी ही मूर्ति विसर्जन के लिए नदी में उतरता था। नहाने के लिए उसने तोरवा पुल से भी कई बार छलांग लगाई । उसे अच्छी तरह से तैरना आता था। इसलिए डूबकर मर ही नहीं सकता। उसकी हत्या कर शव पानी में फेंका गया है। नाक व सिर पर चोंट के निशान थे। दोनों जगह से खून बहा था। उसका जींस पेंट भी घुटने के नीचे तक उतरी थी। ऐसा लग रहा था जैसे उसे किसी ने बाद में पहनाया हो।

केवल हथकड़ी थी, हाथ से चेन गायब हुई
सनि की मां के अनुसार उसके हाथ में पुलिस ने हथकड़ी लगाई थी पर जब उसकी लाश मिली तो चेन गायब हुई । चेन कैसे गायब हुई किसी ने नहीं बताया और न ही पता चला।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आई
सनि की पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी अभी तक नहीं आई है। पुलिस का कहना है यह अब सीधे न्यायिक मजिस्ट्रेट के पास भेजा जाएगा। आगे की कार्रवाई जांच के बाद ही तय होगी।

लाश मिली तो रिकार्ड दुरुस्त किया
पहले पुलिस ने सनि को संदेही बताया। कहा उसे गिरफ्तार नहीं किया गया था। केवल पूछताछ के लिए ही लाया गया था पर जब लाश मिली तो पुलिस उस बयान से पलट गई। पुलिस ने उसे आरोपी बना लिया और न्यायिक जांच में अपना पक्ष मजबूत करने के लिए कागजात भी दुरुस्त करना शुरू कर दिया। सनि के खिलाफ अचानक भागने का जुर्म भी दर्ज हो गया।

तोरवा पुलिस के डर से प्रेमी-जोड़ा भी कर चुका है खुदकुशी
लगभग 10 माह पहले 30 जुलाई 2020 को तोरवा में प्रेमी-जोड़े ने पुलिस के डर से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। दो मुहानी निवासी अमन साहू 19 वर्ष और देवरीखुर्द की युवती घर में बिना बताए भागकर शादी की फिर शहर लौट आए। उनके खिलाफ किसी ने भी थाने में शिकायत नहीं की। पुलिस को पता चला तो उन्हें परेशान करने लगी। अमन के पिता रामभरोस को थाने बुलाकर काफी टार्चर किया गया। इसके बाद युवक-युवती को थाने बुलाया गया पर दोनों ने फांसी लगा ली। थाने के एक हेड कांस्टेबल पर आरोप था कि उसने घर आकर दोनों को जेल भेजने के लिए धमकाया था। इस मामले को भी दबा दिया गया।

पहले भी हो चुकी है इस तरह की घटना
3 दिसंबर 2016 को सरकंडा क्षेत्र में चोरी करने घुसे दीपक यादव उर्फ छोटू 22 वर्ष को पुलिस अपनी गाड़ी से थाने ले जाने के लिए निकली पर पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई। कुएं में उसकी लाश मिली। पुलिस ने बताया वह गाड़ी से कूदकर भाग रहा था, कुंए में गिर गया। न्यायिक जांच का आदेश हुआ पर जांच से पहले पुलिस ने अपनी खामियां दूर कर ली थी। उस मामले में भी पुलिस पर गंभीर आरोप लगे थे पर कुछ नहीं हुआ।

खबरें और भी हैं...