सुनवाई कब होगी पता नहीं:15 दिन से बंद हैं राजस्व न्यायालय, 9165 केस पेंडिंग

बिलासपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नए केस तो नहीं आ रहे लेकिन पुराने मामले निराकृत होने में लगेगा ज्यादा समय

जब से जिले में लॉकडाउन लगा है राजस्व न्यायालय भी बंद हैं। जाहिर है कोई नया केस नहीं आया लेकिन उसके पहले के 15 दिनों में 829 नए केस आए थे। नए केस तो नहीं आ रहे लेकिन पुराने के निराकृत होने में समय लगेगा। यानी पेंडेंसी बढ़ेगी।

अभी न्यायालयों में 9165 केस पेंडिंग हैं जबकि एक माह पहले 8336 केस लंबित थे। पिछले साल लॉकडाउन के बावजूद राजस्व न्यायालयों को पहले पूरी तरह बंद नहीं किया गया था। 15 मार्च 2021 की स्थिति में जिले में 8336 केस पेंडिंग थे। पेंडेंसी का बड़ा कारण राजस्व विभाग की समीक्षा बैठक का न होना माना गया। एक साल से बैठक ही नहीं हुई। यहीं कारण है अधिकारी लोगों के केस सुलझाने में गंभीर नहीं रहे। पेंडेंसी के मामले में बिलासपुर प्रदेश के 27 जिलों में नौवें स्थान पर पहुंच गया। तब सबसे ज्यादा 3958 केस अधिकार अभिलेख में नामांतरण के पेंडिंग थे।

15 दिन पहले कोरोना संक्रमण के कारण जिले में लॉकडाउन लगाया गया। राजस्व न्यायालय बंद हैं। पेंडिंग केस की संख्या 9165 हैं और जब तक लॉकडाउन नहीं हटेगा, कोर्ट नहीं खुलेंगे और मामलों की सुनवाई नहीं होगी। एसडीएम देवेंद्र पटेल ने बताया कि राजस्व न्यायालयों में केस का निरंतर निराकरण हो रहा था लेकिन जिले को कंटेनमेंट जोन बनाने के बाद सुनवाई बंद है। कोर्ट खुलने पर तेजी से मामलों की सुनवाई करेंगे।

कौन से मामले, कितने पेंडिंग

  • भू मापन, उपखंडों का सीमांकन - 617
  • खातों का बंटवारा - 1162
  • अखिकार अभिलेख में नामांतरण - 4560
  • भूमि पर कब्जा करने वालों की बेदखली - 179
  • खसरे में विवाद - 1329
  • विविध राजस्व मामले - 583
  • कुल - 9165
खबरें और भी हैं...