बिलासपुर में बच्चों का शुरू हुआ टीकाकरण:छात्रों को लेकर जिला अस्पताल पहुंचा स्कूल स्टाफ; पहले दिन 18 हजार टीका लगाने रखा लक्ष्य

बिलासपुर6 महीने पहले

बिलासपुर में 15 से 18 साल के विद्यार्थियों का कोविड-19 वैक्सीनेशन सोमवार से शुरू हो गया है। जिला अस्पताल में CMHO ने डॉ प्रमोद महाजन ने फीता काटकर इसकी शुरुआत की। इस दौरान स्कूल स्टाफ के साथ पहुंचे बच्चों के आधार कार्ड चेक किए गए और जानकारी लेने के बाद उन्हें टीका लगाया गया। पहला टीका शाश्वत तिवारी को लगा। इससे पहले CMHO डॉ. महाजन ने टीकाकरण करने वाले कर्मचारियों को समझाइश दी और गाइडलाइन के बारे में बताया।

जिले में में 63 सेंटरों में वैक्सीनेशन किया जा रहा है। पहले दिन 18 हजार 610 बच्चों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया है। सेंटरों में सुबह 9 से शाम 5 बजे तक टीकाकरण होगा। विद्यार्थियों के टीकाकरण कराने की जिम्मेदारी स्कूल स्टाफ को दी गई है। टीकाकरण केंद्र के करीब के स्कूलों को इसकी जानकारी देकर बच्चों को लेकर आने कहा गया है।

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. मनोज सेमुअल ने बताया कि जिले के 1 लाख 16 हजार 143 विद्यार्थियों को टीका लगाने का लक्ष्य है। गाइडलाइन के अनुसार वैक्सीनेशन की तैयारी की गई है। इसके मुताबिक टीकाकरण में लगे स्टाफ को सैनिटाइज किया जाएगा। टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य विभाग के साथ ही शिक्षा विभाग के कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। टीकाकरण सेंटर के करीब जो स्कूल है।उन्हें पहले ही जानकारी दे दी गई है।

स्कूल प्रबंधन को 15 से 18 वर्ष तक के विद्यार्थीयों को टीका लगवाने के लिए लेकर आने कहा गया है। पहले CIMS, जिला अस्पताल सहित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में टीका लगाया जाएगा। ताकि, बीमार होने की स्थिति में बच्चों को उपचार की सुविधा मिल सके। टीकाकरण के लिए एक जनवरी से कोविन पोर्टल में रजिस्ट्रेशन भी चल रहा है। पंजीयन नहीं होने पर भी सेंटर में मौजूद स्वास्थ्य कर्मी उनका पंजीयन करेंगे। टीकाकरण के लिए बच्चों को आधार कार्ड साथ लेकर आने कहा गया है।

स्कूलों में भी बनेगा सेटअप
शुरूआत में अस्पताल को टीकाकरण केंद्र बनाया गया है। ताकि, इमरजेंसी की स्थिति में बच्चों को उपचार की सुविधा मुहैया कराई जा सके। इसके बाद स्कूलों में भी सेटअप बनाया जाएगा। बच्चों के लिए अगल काउंटर भी बनाया गया है। उनके वैक्सीनेटर भी अलग होगे।

आज बच्चों को टीका लगाने का लक्ष्य

  • तखतपुर में 4000
  • बिल्हा में 3400
  • मस्तूरी में 4200
  • कोटा 3510
  • शहर में 3500

पांच मोबइल यूनिट की भी रहेगी
बच्चों के टीकाकरण को लेकर पहले दिन 63 सेंटर बनाए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का कहना है कि शहर में 5 मोबाइल यूनिट की भी सुविधा दी जाएगी। ये मोबाइल यूनिट फोन करने पर शहर के स्कूलों में भी पहंचेगी और वहां के बच्चों को टीकाकरण किया जाएगा। इसके लिए स्कूल प्रबंधन को पहले ही नंबर जारी कर दिया गया है। यदि कोई समस्या होती है। तो CMHO डॉ. प्रमोद महाजन और जिला टीकाकरण अधिकारी सें संपर्क कर स्कूल में टीकाकण शिविर लगवा सकते है।

स्टोर में उपलब्ध है को-वैक्सीन के 78 हजार डोज
बच्चों को कोरोना टीका के रूप में को-वैक्सीन का ही डोज लगेगा। क्योकि रिसर्च में ये गर्भवती महिलाओं और कोमार्बिड के लिए उपयुक्त पाया गया है। इसे बच्चों के लिए भी पूर्ण रूप से सुरक्षित माना गया है। ऐसे में शासन ने विद्यार्थियों को को-वैक्सीन के डोज लगाने के निर्देश दिए हैं। स्वास्थ्य विभाग के रिजनल ड्रग स्टोर में अभी 78 हजार डोज उपलब्ध है।

खबरें और भी हैं...