पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धोखाधड़ी का मामला:रिटायर्ड डीएसपी से एसईसीएल के कर्मचारी ने 67 लाख ठगे; विवादित जमीन को दिखाकर ले लिए पैसे, रजिस्ट्री नहीं कराई

बिलासपुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

रिटायर्ड डीएसपी को मोपका और लिंगियाडीह की दो जमीन दिखाकर एसईसीएल के सुरक्षा विभाग में पदस्थ कर्मचारी ने 67 लाख की ठगी कर ली। पीड़ित ने आईजी से शिकायत की। पुलिस ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का जुर्म दर्ज किया है।

मामला सरकंडा थाना क्षेत्र का है। वीआईपी कॉलोनी सरकंडा निवासी एके जैन पिता स्व.नंदनलाल जैन सेवानिवृत्त डीएसपी है। एसईसीएल के सुरक्षा विभाग में पदस्थ आरएन तिवारी एक दिन रिटायर डीएसपी के पास आकर बताया कि उसके पास लिंगियाडीह में 12000 वर्गफीट व मोपका में 0.51 एकड़ जमीन है। बताया उसे रकम की जरूरत है। इसलिए वह दोनों जमीन को बेच रहा है। उसने रिटायर डीएसपी को दोनों जमीन भी दिखाई।

पसंद आने पर उन्होंने आरएन तिवारी उसकी पत्नी अनिता तिवारी व बहन विमलेश पांडेय से जमीनों के बारे में जानकारी हासिल की तो उन्होंने विश्वास दिलाया कि जमीन विवाद मुक्त है। रिटायर डीएसपी ने लिंगियाडीह की जमीन को 32 व मोपका की जमीन को 25 लाख रुपए में खरीदने का सौदा किया। 2009 में उसने बृजेश सिंह व रवि सोनी के सामने 5 लाख रुपए एडवांस में दिया। इसी तरह 21 जुलाई 2009 को 32 लाख व 25 लाख सहित कुल 67 लाख रुपए लेकर आरएन तिवारी ने अपनी पत्नी व बहन से इकरारनामा कराया।

उस समय भी बृजेश सिंह, रवि सोनी व दो अन्य थे। इसके बाद उन्होंने आरएन तिवारी को जमीन की रजिस्ट्री कराने के लिए कहा तो वह टालमटोल करने लगा। संदेह होने पर रिटायर डीएसपी ने जमीन के संबंध में पता किया। जमीन विवादित निकला। उन्होंने आरएन तिवारी से अपने 67 लाख रुपए वापस मांगे तो आरएन तिवारी ने कहा वह उनके 67 लाख को जमीन में लगा दिया है। 4-5 साल बाद वह बदले में करीब 2 करोड़ वापस करेगा। रिटायर डीएसपी प्रलोभन में आ गए।

आरएन तिवारी ने अभी तक 54 लाख ही वापस किया है। शेष 13 लाख व क्षतिपूर्ति नहीं दिया है। 16 लाख का चेक दिया था वह भी बाउंस हो गया। आरएन तिवारी ने कहा कि उन्हें रकम के एवज में 7 जनवरी 2014 को लाभ सहित 1 करोड़ 55 लाख 37 हजार वापस करेगा। इसका इकरारनामा किया। इसी तरह कहा यदि यह रकम वह 12 जुलाई को लेंगे तो वह 1 करोड़ 69 लाख 37 हजार देगा। पर बकाया रकम व लाभ की रकम नहीं दिया। मांगने पर वह टालमटोल कर रहा है। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का जुर्म दर्ज कर लिया है।

खबरें और भी हैं...