• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • Shailesh Pandey Received A Touching Letter To The Elderly, Then He Came To Meet Him, Crying In The Orphanage, The Elder Told The City MLA, You Explain To My Daughter in law

दास्तां:​​​​​​​शैलेष पांडेय को मिली बुजुर्ग मार्मिक चिट्ठी तो वे मिलने पहुंचे, अनाथ आश्रम में रोते हुए बुजुर्ग ने नगर विधायक से कहा आप मेरी बहू को समझाइए

बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हर संभव मदद करने का दिया आश्वासन

थके होते हुए थककर कभी सोते नहीं देखा, पिता को कभी मैंने रोते नहीं देखा। यह लाइन आज के दौर में बिल्कुल विपरीत हो चुकी है। मसानगंज के 82 साल के बुजुर्ग शंकर राव इन दिनों मसानगंज के कल्याण कुंज वृद्धाश्रम में अपनी जिंदगी गुजार रहे हैं। उनका कहना है कि वे अपने बेटे को पाल-पोस कर बड़ा किए।

खुशी-खुशी शादी की, पर उन्हें यह नहीं पता था कि नव विवाहिता के आने के बाद दोनों का उनके प्रति व्यवहार ही बदल जाएगा। यह सब देखते हुए उन्होंने दोनों से अलग रहने का फैसला किया। बुजुर्ग का बेटा किराने की दुकान चलाता था, पर दुकानदारी में घाटा हो गया। उसने पिता से मदद मांगी तो पिता शंकरराव का मन पसीज गया। वे अपने बुढ़ापे का सहारा मकान को बेचकर उसकी मदद किए। पैसा लेते समय बेटे ने पिता से कहा था कि उसका 5 लाख रुपए का बीमा है। इसकी राशि मिलने पर मकान वाला पैसा लौटा देगा। पिता से मकान बिक्री का पैसा मिलने पर बहू ने नर्स का प्रशिक्षण लिया।

कुछ दिनों में बुजुर्ग के बेटे का अचानक निधन हो गया। शंकर राव के अनुसार उसकी मृत्यु के बाद बहू का व्यवहार ही बदल गया। उसने पूरा रिश्ता ही खत्म कर दिया। परेशान होकर वे वृद्धाश्रम मसानगंज में आकर रहने लगे। यहां से उन्होंने नगर विधायक शैलेष पांडेय को एक मार्मिक चिट्ठी लिखी और उनके पते पर पोस्ट की। चिठ्ठी पहुंची तो विधायक भावुक हो गए और बुजुर्ग से मिलने वृद्ध आश्रम पहुंचे। विधायक को अपने पास देखकर बुजुर्ग फूट-फूटकर रोने लगे। कहा वे अक्सर बीमार रहते हैं।

उनको दवा पानी के लिए पैसे की जरूरत होती है इसलिए उनका पैसा वापस दिलवा दें। यह भी बताया कि उनकी बहू ने घर का पूरा सामान ही बेच दिया है। बुजुर्ग ने बहू पर पैसे बर्बाद करने का आरोप लगाया। बताया बहू को बीमा का पैसा मिला तो उसने दूसरी शादी कर ली। दूसरे पति से भी वह अलग रहने वाली है। शादी उसके लिए मजाक बन गया है। उन्होंने कहा कि बुजुर्ग माता-पिता का हर बेटा सहारा होता है। बहू पर आरोप लगाया कि बेटे के निधन के बाद वह उनसे मारपीट भी करती थी। इसी वजह से वे आश्रम में रहने के लिए मजबूर हैं। विधायक ने बुजुर्ग को हर संभव मदद करने के लिए आश्वस्त किया है।

खबरें और भी हैं...