• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • Somewhere Coconut And Some Kapil Sharma Themed Ganesha, Preparations Are Also Being Made In The Only Black Idol Of Ganesh Temple In The City.

इस बार सिर्फ इकोफ्रेंडली गणेश:बिलासपुर के बाजारों में उत्सव की रौनक, नारियल के खोल और कपिल शर्मा शो के थीम पर सजी मूर्तियां; मंदिरों में भी पूजा की तैयारी

बिलासपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कंपनी गार्डन के पास बेहद खूबसूरत भगवान गणेश की प्रतिमाएं इस साल दुकानों पर सजी है। - Dainik Bhaskar
कंपनी गार्डन के पास बेहद खूबसूरत भगवान गणेश की प्रतिमाएं इस साल दुकानों पर सजी है।

गणेश चतुर्थी की शुरुआत 10 सितंबर से होगी। इस दिन भगवान गणेश शुभ मुहूर्त पर घरों के साथ ही पंडालों में भी विराजेंगे। हालांकि सार्वजनिक उत्सव में श्रद्वालुओं को कोरोना गाइड लाइन का पालन करना होगा। इस बार सिर्फ 4 फीट की ही प्रतिमा स्थापित हो सकेगी। पर्व को लेकर बाजार में अभी से रौनक देखी जा रही है। वहां अलग-अलग तरह की गणेश भगवान की प्रतिमाएं मिल रहीं है।

इस साल सभी प्रतिमाएं इकोफ्रेंडली यानी मिट्टी से बनी है, प्रशासन ने प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्तियों पर रोक लगा दी है।
इस साल सभी प्रतिमाएं इकोफ्रेंडली यानी मिट्टी से बनी है, प्रशासन ने प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्तियों पर रोक लगा दी है।

बाजारों में इस बार मिट्टी से बने गणेश भगवान की मूर्तियां ही बिक्री के लिए उपलब्ध हैं। प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्तियों पर इस बार रोक है। हालांकि पिछले वर्षों के मुकाबले व्यापार थोड़ा कोरोना की वजह से ठंडा दिखाई दे रहा है। अधिकतर गली मोहल्लों में इस बार मूर्ति स्थापित नहीं की जा रही है।

रेलवे कॉलोनी स्थित मशहूर गणेश मंदिर में भी रौनक

बिलासपुर की एक मात्र काली गणेश भगवान की मूर्ति रेलवे कॉलोनी स्थित मंदिर में है। यह मंदिर दक्षिण भारतीय शैली में 70 साल पहले मद्रास से आए लोगो ने बनवाया था। मंदिर के पुजारी आर. के. एयर ने बताया की मंदिर की साफ सफाई चल रही है। मंदिर के ट्रस्टी बी. कृष्णा ने बताया कि गणेश चतुर्थी पर भव्य आरती का आयोजन किया जाएगा।

बिलासपुर की एक मात्र दक्षिण भारतीय शैली में बनी भगवान गणेश की काले रंग की मूर्ति।
बिलासपुर की एक मात्र दक्षिण भारतीय शैली में बनी भगवान गणेश की काले रंग की मूर्ति।

इस बार कपिल शर्मा थीम और नारियल से बने गणेश

हर बार की तरह इस साल भी अलग अलग जलाकर और मूर्तिकार अपनी कल्पनाओं को पंख देते हुए तरह-तरह की मूर्ति बना रहे है। बिलासपुर के भेचेंद्र पांडे (50) पिछले 20 साल से नारियल के गणेश बना रहे है। 2011 में उनका भीषण एक्सीडेंट हुआ था जिसकी वजह वह लंबे समय तक कोमा में चले गए थे। उसके बाद से उनका अधिकतर समय अपने घर पर ही अलग अलग भगवान की मूर्ति बनाते बीतता है।

नारियल से बने गणेश भगवान को लिए हुए भेचेन्द्र पांडे।
नारियल से बने गणेश भगवान को लिए हुए भेचेन्द्र पांडे।

इसके अलावा चुचुहियापारा के रहने वाले एक मूर्तिकार ने तो कपिल शर्मा शो के थीम पर भी मूर्तियों का निर्माण किया है। जिसकी शहर में खासी चर्चा भी है।

कपिल शर्मा शो के थीम पर बनी मूर्तियां।
कपिल शर्मा शो के थीम पर बनी मूर्तियां।

तीज पर्व की तैयारियों में भी जुटे लोग

गुरुवार को तीज पर्व है। इस दिन महिलाए अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती है। बाजारों में इसे लेकर भी लोग खरीदारी करते नजर आ रहे है। मूर्तिकारों और रेड़ी वालों से लोग लक्ष्मी,पार्वती और महादेव की मूर्ति खरीदते दिखाई दे रहे है।

तीज पर्व पर बजारों में बिकती लक्ष्मी पार्वती और महादेव की मूर्ति।
तीज पर्व पर बजारों में बिकती लक्ष्मी पार्वती और महादेव की मूर्ति।

धुमाल और डीजे बजाने की नहीं होगी अनुमति

मूर्ति स्थापना, विसर्जन व उसके बाद किसी भी प्रकार के भोज भंडारा जगराता, सांस्कृतिक कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं होगी। केवल हाथ से बजाए जाने वाले कम ध्वनि वाले वादय यंत्रव सुप्रीम कोर्ट के गाइड लाइन अनुसार लाउड स्पीकर का उपयोग किया जा सकेगा मूर्ति आगमन व विसर्जन के दौरान ध्वनि विस्तारक यंत्र धुमाल और डीजे बजाने की अनुमति नहीं होगी।

मूर्ति विसर्जन में 10 लोगों के शामिल होने की रहेगी अनुमति

मूर्ति आगमन व विसर्जन के दौरान प्रसाद चरणांमृत, खाद्य व पेय पदार्थ के वितरण की अनुमति नहीं होगी । मूर्ति विसर्जन के लिए एक लाईट वाहन की अनुमति रहेगी बड़े वाहन पूणर्त: प्रतिबंधित रहेंगे । विसर्जन वाहन में अतिरिक्त साज सज्जा झांकी की अनुमति नहीं होगी। मूर्ति विसर्जन में 10 लोग ही शामिल हो सकेंगे। जो मूर्ति के साथ ही वाहन में बैठेंगे।

खबरें और भी हैं...