बिलासपुर के 125 केंद्रों में कल से धान खरीदी:कई किसानों को नहीं मिला अब तक टोकन; कहीं खुले मैदान तो कहीं खुले सड़क में होगी खरीदी

बिलासपुर2 महीने पहले
टोकन के लिए खरीदी केंद्रों में लाइन में खड़ी महिलाएं।

बिलासपुर में धान खरीदी शुरू होने से पहले ही किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। एक दिसंबर को खरीदी शुरू होने से पहले टोकन लेने व नाम एंट्री कराने के लिए किसान मंगलवार सुबह से ही जद्दोजहद करते रहे। घंटों लाइन लगाने के बाद भी कई किसानों को टोकन नहीं मिला। अब उन्हें एंट्री के हिसाब से टोकन देने की बात कही जा रही है। वहीं, किसानों को बारदानों के लिए भी परेशान होना पड़ रहा है और बाजार से बारदाने खरीदने की मजबूरी है।

समर्थन मूल्य पर किसानों से धान की खरीदी एक दिसंबर से शुरू हो रही है। लेकिन, अभी भी केंद्रों में आधी-अधूरी व्यवस्था है। यही वजह है कि खरीदी केंद्रों में किसानों को अलग-अलग परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बुधवार से धान की खरीदी होगी। बारदाना संकट से जूझ रही प्रदेश सरकार ने धान खरीदी के लिए टोकन जारी करने निर्देश जारी किया है। लिहाजा, मंगलवार सुबह से किसान खरीदी केंद्र में पहुंच गए। यहां उन्हें टोकन के लिए घंटों लाइन लगाना पड़ा। लेकिन, पहले दिन यानि की मंगलवार को सीमित संख्या 3 से 5 या फिर कहीं, 8-10 किसानों का ही टोकन काटा गया। इस दौरान लाइन में लगे किसानों का नाम रजिस्टर में एंट्री किया जा रहा है। इसके हिसाब से उन्हें टोकन जारी करने की बात कही जा रही है। ऐसे में मंगलवार को किसानों को लाइन लगाने के बाद भी टोकन के लिए मायूस होना पड़ा।
रात से ही केंद्र पहुंच गए थे किसान
तखतपुर क्षेत्र के ग्राम नगोई, ढनढन सहित आसपास के खरीदी केंद्रों में सोमवार रात से ही किसान टोकन कटाने के लिए खरीदी केंद्रों में पहुंच गए थे। इस दौरान किसान अलाव जलाकर सुबह होने का इंतजार करते रहे। सुबह 7 बजे ऑपरेटर जब केंद्र पहुंचा, तब किसानों के नाम को रजिस्टर में एंट्री कर उन्हें रवाना किया गया। यहां तीन से पांच किसानों का ही टोकन काटा गया।

धान खरीदी केंद्र में पहुंचे किसानों की भीड़
धान खरीदी केंद्र में पहुंचे किसानों की भीड़

बहतराई, बिजौर व किरारी में भी टोकन के लिए मारामारी
मंगलवार की सुबह से शहर से लगे ग्रामीण क्षेत्रों के धान खरीदी केंद्रों में किसान पहुंच गए थे। इस दौरान लाइन लगाकर उन्हें अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा। लेकिन, जब उनकी बारी आई, तब रजिस्टर में नाम एंट्री कर उन्हें चलता कर दिया गया।
सुरक्षा व लाइट व्यवस्था करने में जुटे रहे कर्मचारी
मंगलवार को कई केंद्रों में कर्मचारी टोकन बांटने के बजाए केंद्र की सुरक्षा के साथ ही लाइट व अपने रहने की व्यवस्था बनाने में जुटे रहे। उनका कहना था कि पहले दिन सीमित संख्या में ही खरीदी की जाएगी। इसके बाद व्यवस्था बनाने के बाद दो-तीन बाद केंद्रों में खरीदी की रफ्तार में तेजी आएगी।
कहीं खुले मैदान तो कहीं सड़क में होगी खरीदी
कई धान खरीदी के लिए न जगह देखी गई है और न ही सुविधा बस बना आनन-फानन में धान खरीदी केंद्र बना दिया गया है। सेवा सहकारी समिति टेकर को खुले मैदान में पांच चबूतरे बनाकर उसे धान खरीदी केंद्र बना दिया गया है। इसी तरह खमतराई में सहकारी समिति के गोदाम में सड़क किनारे धान खरीदी करने की व्यवस्था की गई है।

ग्राम ढनढन के खरीदी के लिए धान खरीदी केंद्र में पहुंचे किसान
ग्राम ढनढन के खरीदी के लिए धान खरीदी केंद्र में पहुंचे किसान

जिला सहकारी बैंक के CEO प्रभात मिश्रा ने कहा कि खरीदी केंद्रों में व्यवस्था पूरी हो गई है। टोकन कटाने के लिए किसानों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। क्योंकि 43 दिनों तक लगातार खरीदी की जाएगी। शुरूआत में किसान अपनी बारी और बारदानों के लिए परेशान हो रहे हैं। लेकिन, उन्हें अभी परेशान होने की जरूरत नहीं है। केंद्रों में व्यवस्था पूरी होने के बाद धान खरीदी की रफ्तार में तेजी आएगी।

सोमवार को भी भटकते रहे किसान
सभी जगह सोमवार से टोकन बांटने की बात कही गई थी। लेकिन, इस दिन ऑपरेटरों ने एक दिवसीय हड़ताल कर दिया था। इसके चलते जिले के अधिकांश समितियों से टोकन जारी नहीं किए गए। हालंकि, जिला सहकारी बैंक के CEO प्रभात मिश्रा ने कहा कि टोकन मंगलवार से ही जारी करने का निर्देश हैं। किसान बेवजह पहले से केंद्र पहुंच कर परेशान हो रहे हैं।

जिले के 125 केंद्रों में होगी खरीदी
बिलासपुर जिले के सीपत क्षेत्र के ग्राम खमरिया में ,रतनपुर अंतर्गत ग्राम भरारी में और चकरभाटा अंतर्गत ग्राम बोदरी में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का शुभारंभ किया जाएगा। इस दौरान जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अध्यक्ष प्रमोद नायक समेत कृषि विभाग ,नागरिक आपूर्ति निगम ,विपणन संघ के अधिकारी मौजूद रहेंगे। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक बिलासपुर अंतर्गत जिले के 125 खरीदी केंद्रों धान की खरीदी होगी। इसी तरह मुंगेली ,कोरबा ,जांजगीर चांपा और गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले के 430 केंद्र भी बिलासपुर जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में आते है।

ग्राम सेंवार के खरीदी केंद्र के गेट में ताला, बाहर इंतजार करते किसान
ग्राम सेंवार के खरीदी केंद्र के गेट में ताला, बाहर इंतजार करते किसान

बारदानें के लिए परेशान हैं किसान
धान खरीदी केंद्रों में पहुंचे किसान बारदानों के लिए परेशान नजर आए। इस दौरान उन्हें ऑपरेटर व प्रबंधन उन्हें अपने बोरे में धान लेकर आने की बात कह रहे हैं। ऐसे में किसानों को केंद्र तक धान पहुंचाने के लिए बारदानों का इंतजाम करना पड़ रहा है। किसानों ने बताया कि उन्हें बाजार से अधिक कीमत पर बारदाना खरीदना पड़ रहा है।

कई जगह बंद मिले केंद्र, इंतजार करते रहे किसान
चकरभाठा क्षेत्र के सेंवार सहित आसपास के खरीदी केंद्र में सुबह से ताला बंद मिला। इसके चलते किसान भटकते रहे। यहां ऑपरेटर खरीदी केंद में नहीं था। वहीं, प्रबंधक भी गायब मिला। इसके चलते दोपहर तक किसान गेट के बाहर खड़े होकर टोकन के लिए कर्मचारियों का इंतजार करते रहे। यहां उन्हें बताया गया कि ऑपरेटर हड़ताल में है। इसलिए आज केंद्र बंद रहेगा।

खबरें और भी हैं...