पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021:सूडा की टीम को नालियां गंदी मिलीं कचरा अलग करने में निगम फेल

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बिलासपुर की रैंकिंग पर बदइंतजामी का ग्रहण

स्वच्छ सर्वेश्रण 2021 की तैयारियों का जायजा लेने शहर पहुंची सूडा, रायपुर की टीम को जगह जगह नालियां गंदी, बजबजाती मिलीं। सूखा और गीला कचरा अलग करने के लिए दोबरे डस्टबिन की व्यवस्था भी नहीं मिली। निगम में शामिल 15 पंचायत क्षेत्रों में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन की गाड़ियां चलती नहीं दिखीं। टीम ने पिछले पखवाड़े बिलासपुर सहित जिले के कुछ निकायों की सफाई व्यवस्था का औचक निरीक्षण किया।

इसके बाद निकायों को व्यवस्था में सुधार के निर्देश दिए गए। बता दें कि 2020 के स्वच्छता सर्वेक्षण में शहर को देश भर में 19 वां स्थान मिला था। 2019 में 28 वीं रैंकिंग थी। इस बार नगर निगम में शामिल 15 पंचायत क्षेत्रों, तिफरा नगर पालिका, सिरगिट्टी और सकरी नगर पंचायत की सफाई का भी सर्वेक्षण होगा। जाहिर है कि मैकेनाइज्ड सफाई वाले पुराने शहर के साथ पंचायत क्षेत्रों की सफाई का चुनौतीपूर्ण कार्य नगर निगम के जिम्मे आ गया है। पंचायत क्षेत्रों में सफाई की स्थाई व्यवस्था अब तक नहीं बन पाई है। स्वच्छता सर्वेक्षण में अब बमुश्किल 10 दिन बाकी रह गए हैं, इसलिए नगर निगम को मैदानी स्तर पर तेजी से काम करना होगा।

निगम को करने होंगे ये पांच काम

  • वार्ड के नाले, नालियों की सफाई जरूरी। सड़क का कचरा नाली में डालने पर रोक लगाएं।
  • सार्वजनिक शौचालयों में हैंड वॉश, पानी, लाइट और दिव्यांगों के लिए व्यवस्था करें।
  • बाजार, उद्यान, कांप्लेक्स में सूखा-गीला कचरा अलग अलग रखने के डस्टबिन रखवाएं।
  • पंचायत क्षेत्रों में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के साथ एसएसआरएम सेंटर शुरू कराएं।
  • फिड बैक में अच्छे अंक हासिल करने के लिए वाल पेंटिंग, जनजागरण अभियान चलाएं।

सर्वे टीम 10 अप्रैल के बाद आएगी
स्वच्छ सर्वेक्षण की टीम 10 अप्रैल के बाद कभी भी शहर पहुंच सकती है। 6000 अंकों की प्रतियोगिता में सर्वाधिक 1800 अंक फिडबैक पर रखे गए हैं। जाहिर है कि यदि सफाई अच्छी होगी तो फिडबैक भी अच्छा आएगा। गांव हो या शहर डोर टू डोर कचरा कलेक्शन, प्रोसेसिंग की व्यवस्था एक समान होना चाहिए। पंचायतों में कचरा उठवाने के लिए गाड़ियां पहुंच गई हैं, कुछ जगह काम शुरू हो भी चुका है, परंतु सभी पंचायतों में यह काम अभी शुरू नहीं हो पाया है। 12 स्थानों पर एसएलआरएम सेंटर बनाए जाने हैं, सूखा-गीला कचरा अलग कर खाद बनाई जाएगी।


सीधी बात
खचांजी कुम्हार, डिप्टी कमिश्नर
नगर निगम

सवाल - पंचायतों में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन नहीं हो रहा, मानव बल की स्वीकृति भी नहीं मिली?
-स्वच्छता सर्वेक्षण के मद्देनजर मानव बल की स्वीकृति का इंतजार किए बिना कचरा कलेक्शन शुरू कर दिया गया है।
सवाल - ​​​​​​​सूडा के सर्वे में कई जगह खामियां मिलीं। नालियां गंदी मिली। कब सुधरेगी व्यवस्था?
-अगले 10 दिनों में सारी कमियां दूर कर ली जाएंगी। सूडा के सुझाव के मुताबिक नेहरू चौक से देवकीनंदन चौक, सरकंडा, गोल बाजार, सदर बाजार, राजीव प्लाजा तथा बाजार क्षेत्र में सूखा-गीला कचरा अलग करने डस्टबिन रखवाए गए हैं।
सवाल - सफाई व्यवस्था कारगर कैसे होगी?
-पंचायत क्षेत्रों में जो भी समस्याएं हैं, उनका निराकरण कर रहे हैं। दोमुंहानी, देवरीखुर्द, घुरु-अमेरी, परसदा, राजकिशोर नगर, मोपका, बहतराई, खमतराई, लिंगियाडीह, बिरकोना में एसएलआरम सेंटर के लिए शेड का निर्माण चल रहा है। जनता के सहयोग से सफाई बेहतर होगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें