पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दुकान, मकान से लेकर कोर्ट रूम तक में सेंध:​​​​​​​बिलासपुर में डेढ़ साल में 689 जगहों से एक करोड़ से ज्यादा की चोरी; सुलझे सिर्फ 158 मामले, 29 लाख का माल हो सका बरामद

बिलासपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एडिशनल SP उमेश कश्यप ने कहा कि जब भी घटना दर्ज की जाती है, उस क्षेत्र की पुलिस मामले में जांच कर उचित कार्रवाई करती है। - Dainik Bhaskar
एडिशनल SP उमेश कश्यप ने कहा कि जब भी घटना दर्ज की जाती है, उस क्षेत्र की पुलिस मामले में जांच कर उचित कार्रवाई करती है।

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में चोरों ने आतंक मचा रखा है। दुकान, मकान से लेकर पुलिस अफसरों के घर और कोर्ट रूम तक में उन्होंने सेंधमारी की है। आंकड़ों की बात करें तो डेढ़ साल के दौरान चोरी की 689 वारदातें हुईं। इसमें चोर एक करोड़ रुपए से ज्यादा का माल ले गए। जबकि पुलिस अभी सिर्फ 158 मामलों को ही सुलझा कर 29 लाख का चोरी गया सामान बरामद कर सकी है। अकेले 6 माह में ही चोरी के 629 मामले दर्ज हुए हैं।

लॉकडाउन के दौरान चोरों ने शहर में पिछले एक साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। पिछले 6 माह में चोरी के जितने मामले दर्ज किए गए वह पिछले साल से भी दोगुने हैं। जनवरी से जून तक बिलासपुर में 429 चोरी की वारदातें रिपोर्ट की गई हैं। इसमें से पुलिस केवल 53 मामलों को ही सुलझा पाई। इन चोरियों में 53 लाख से अधिक के सामान पर हाथ साफ किया गया था। पुलिस इसमें से सिर्फ 11 लाख रुपए कीमत का ही सामान बरामद कर सकी है।

पिछले साल चोरियां कम थीं, पर खुलासों का रिकार्ड बेहतर था
साल 2020 में जनवरी से लेकर दिसंबर तक शहरी और ग्रामीण क्षेत्र को मिलाकर चोरी के 260 मामले दर्ज हुए थे। इनमें से करीब 60 लाख रुपए से अधिक कीमत के गहने, नगदी और अन्य सामान चोरी किया गया। पुलिस ने 105 मामलों को सुलझाया और आरोपियों को गिरफ्तार भी किया। हालांकि सामान सिर्फ 18 लाख रुपए कीमत का ही बरामद हो सका था। फिलहाल बाकी मामलों को लेकर पुलिस की जांच अभी जारी है।

डिस्ट्रिक्ट जज के कमरे में भी हाथ साफ कर गए
दो दिन पहले मस्तूरी क्षेत्र के पेट्रोल पंप से चोरों ने 4 लाख रुपए पार कर दिए थे। पंप मैनेजर के कमरे में रखी अलमारी को तोड़ कर चोर उसमें रखे रुपए ले गए। इससे पहले 18 जून को जिला न्यायधीश अभिनव डहरिया के कोर्ट रूम में ही चोरों ने धावा बोल दिया। वहां से अलमारी में रखा लैपटॉप चोरी कर ले गए। दोनों ही मामलों में अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं। पुलिस को अभी तक इन चोरियों को लेकर कोई सुराग हाथ नहीं लगा है।

मामले की जांच कर उचित कार्रवाई करते हैं
एडिशनल SP उमेश कश्यप ने चोरी की वारदातों को लेकर कहा कि जब भी घटना दर्ज की जाती है, उस क्षेत्र की पुलिस मामले में जांच कर उचित कार्रवाई करती है। बाकी मामलों में भी हमारी जांच जारी है।