लॉकडाउन का साइड इफेक्ट / मूवमेंट पास एक्टिवेट नहीं होने से दूल्हा छूट गया, बराती चले गए, खुद की शादी में शामिल होने करनी पड़ी मशक्कत

दूल्हा के देर से पहुंचने के बाद पाणी ग्रहण हुआ। दूल्हा के देर से पहुंचने के बाद पाणी ग्रहण हुआ।
X
दूल्हा के देर से पहुंचने के बाद पाणी ग्रहण हुआ।दूल्हा के देर से पहुंचने के बाद पाणी ग्रहण हुआ।

  • ऑनलाइन एप्लाई किया, बिलासपुर गौरेला पेंड्रा मरवाही बार्डर पर रूके रहे चार घंटे

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 07:59 AM IST

बिलासपुर. चंद्रकुमार दुबे | मूवमेंट पास एक्टिवेट नहीं होने बाराती तो चले गए पर दूल्हा रह गया। उसकी गाड़ी में सवार घरवालों को भी जिला बार्डर पर रोक लिया गया। काफी मशक्कत के बाद पास एक्टिवेट हुआ और फिर उनकी गाड़ी आगे बढ़ी। इस दौरान वे करीब चार घंटे तक वहां ठहरे रहे। कोनी थाना क्षेत्र के एक गांव में गुरुवार को युवक की शादी होने वाली थी। मनेंद्रगढ़ बारात जानी थी।

दूल्हे के घरवालों ने मूवमेंट पास नहीं बनवाया था। बारात जाने वाली थी। इन्हें ले जाने तीन गाड़ियां किराए से बुक कराई गईं थीं। एक में दूल्हा व उसके परिवार के लोग सवार थे। दूसरी व तीसरी गाड़ी में दोस्त और ग्रामीण सवार थे। करीब 20 लोगों को लेकर गाड़ी निकलने वाली थी। गाड़ीवालों को पता चला कि उन्होंने पास नहीं बनवाया है तो ले जाने से मना कर दिया। बाराती हड़बड़ा गए। दूल्हे के घरवालों को पास बनवाने की प्रक्रिया के बारे में पता नहीं था। काफी मशक्कत के बाद बारातियों में किसी को इसकी जानकारी हुई।

उसने मोबाइल से ऑनलाइन पास के लिए एप्लाई किया। फार्म में बारातियों की संख्या लिखी और गाड़ियों के नाम व नंबरों की जानकारी दी। पास बनने की प्रक्रिया शुरू हो गई थी। इधर जाने में देरी हो रही थी। पाणिग्रहण का समय न निकल जाए इसकी चिंता थी इसलिए किसी तरह गाड़ी को रवाना किया गया। तीनों गाड़ियां बिलासपुर और गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला बार्डर पर केंदा के पास पहुंची। एक घंटे में दो गाड़ियों का मूवमेंट पास ओके हो गया। बार्डर पर उसे दिखाया गया और दो गाड़ियां आगे रवाना हो गईं।

दूल्हे व घरवालों की गाड़ियों का पास नहीं बना था। उन्हें बार्डर पर रोक लिया गया। सभी उलझन में फंस गए। सभी का ध्यान मोबाइल पर था। इसमें पास एक्टिवेट नहीं हो रहा था। किसी के समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करें। मनेंद्रगढ़ से दूल्हे के ससुराल से बार-बार फोन आ रहा था। पूछ रहे थे वे लोग कहां पहुंचे हैं। कोई जवाब देते नहीं बन रहा था। आखिर में दूल्हे के गाड़ीवाले ने मोबाइल मांगकर फिर से पास के लिए एप्लाई किया। दूसरी बार एप्लाई करने के आधे घंटे के भीतर ही मूवमेंट पास ओके हो गया और दूल्हा व उसके परिजनों को आगे जाने दिया गया। दोनों गाड़ियां चार घंटे पहले ही मनेंद्रगढ़ पहुंच गई थीं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना