विरोध प्रदर्शन:12 सूत्रीय मांगों को लेकर मंडल के रेल गार्ड्स ने परिवार समेत दिया धरना

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीओएम दफ्तर में धरना देते मंडल के गार्ड व उनके परिवार। - Dainik Bhaskar
डीओएम दफ्तर में धरना देते मंडल के गार्ड व उनके परिवार।
  • रेलवे गार्ड परिजनों के साथ धरने पर बैठे, ऑल इंडिया गार्ड्स कांउसिल के नेतृत्व में हुआ प्रदर्शन, अन्य संगठनों ने भी दिया समर्थन

रेलवे अफसरों के तानाशाही रवैये और बिना वजह अन्यत्र ट्रांसफर करने सहित 12 सूत्रीय समस्याओं को दूर करने की मांग को लेकर शुक्रवार को बिलासपुर मंडल के रेल गार्ड ने परिवारों के साथ धरना प्रदर्शन किया। मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय के सामने 11 बजे से शाम 4 बजे तक आयोजित धरना प्रदर्शन कांउसिल के केंद्रीय कोषाध्यक्ष डी. विश्वास की अध्यक्षता में किया गया।

जिसमें काउंसिल के सभी गार्ड एपी अशोक, एके दीक्षित, रजनी पटेल, डी एन रवि, मृत्युंजय कुमार आदि शामिल हुए। उन्होंने सभा को संबोधित भी किया। धरने में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे मजदूर कांग्रेस, श्रमिक यूनियन, मजदूर संघ, एआईएलआरएसए, एससी, एसटी यूनियन एवं ओबीसी यूनियन के पदाधिकारी भी शामिल हुए। इस मौके पर पदाधिकारियों और सदस्यों ने कहा कि रेलवे प्रशासन अनुचित आदेश व दबाव डाल कर नियम विरुद्ध काम न कराएं। पिछले कुछ समय से कोरोना की आड़ में सभी रनिंग स्टाफ को मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है इसे बंद किया जाए, सुविधा विहीन स्थानों पर अनुचित ढंग से स्थानांतरण बंद किया जाए, लाइन बाक्स तुरंत लोडिंग करवाने प्रत्येक डिपो को निर्देशित किया जाए, रेलवे बोर्ड के दिशा निर्देशों अनुसार लांग आवर्स ड्यूटी बंद की जाए, पूर्व में खरसिया और ब्रजराज नगर में अव्यवहारिक तरीके से स्थानांतरित किए गए गार्ड को तुरंत वापस बुलाया जाए, ब्रेक यान के कंडीशन में उचित सुधार किया जाए।

रैक के साथ बीवीजीएम ब्रेकवान नहीं लगाए जाएं। रेलवे अधिकारियों द्वारा अव्यवहारिक कार्य प्रणाली अपना कर सुरक्षा और संरक्षा नियमों को ताक पर रखकर काम कराया जा रहा है इसे बंद किया जाए। गार्ड कैडर की खाली पोस्ट को तुरंत भरा जाए। गार्ड कैडर के एक्सप्रेस पैसेंजर, वरिष्ठ माल परिचालक के पदों पर पदोन्नति तुरंत दी जाए, रनिंग रूम की सुविधाओं का विस्तार किया जाए, रनिंग रूम में खाने की स्थिति में अमूल चूल परिवर्तन किया जाए, कोरोना की आड़ में उल्टी सीधी वर्किंग को तुरंत बंद किया जाए।

खबरें और भी हैं...