सात नए मरीज मिले, तीन गंभीर भर्ती:सिम्स भेजे गए पानी के सैंपलों की जांच रिपोर्ट आज आएगी

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिलासपुर में डायरिया के मरीज बढ़ते जा रहे हैं। मंगलवार को तालापारा और तारबहार में नए पीड़ितों की पहचान की गई। जिन्हें उल्टी-दस्त और पेट दर्द की तकलीफ थी। तीन की हालत गंभीर थी जिन्हें तत्काल अस्पताल सिम्स और जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया। तीन मरीज की हालत में सुधार भी हुआ है।

जिन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दोनों मोहल्लों के 150 घरों का सर्वे किया। छह दिन में अब तक 1940 घरों में जाकर लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई। 182 लोगों में उल्टी-दस्त सहित डायरिया के लक्षण मिले। 48 लोगों की हालत गंभीर हुई तो उन्हें इलाज के लिए सिम्स, जिला अस्पताल सहित निजी अस्पतालों में भर्ती करवाया गया। चार मौत हो चुकी है।

वहीं अब तक 25 लोग ठीक हो चुके हैं। बाकी का इलाज चल रहा है। चिंताजनक बात यह है कि छह दिन से लगातार मरीज मिल रहे हैं लेकिन पीने के पानी की जांच रिपोर्ट अभी तक नहीं आ पाई है। जांच रिपोर्ट में देरी क्यों की जा रही है? यह पूछने पर सीएमएचओ डॉक्टर प्रमोद महाजन बोले कि बुधवार को रिपोर्ट आ जाएगी। 12 जगहों के सैंपल भेजे गए हैं इसलिए थोड़ा समय लगा है। सीएमएचओ ने कहा कि डायरिया फैलने का कारण प्रदूषित पानी ही है।

तालापारा

  • 1425 घरों की जांच।
  • 133 मरीज मिले।
  • 21 गंभीर भर्ती
  • 15 ठीक हो चुके।
  • एक की मृत्यु हुई।

तारबाहर

  • 515 घरों में जांच
  • 47 मरीज मिले।
  • 25 की हालत गंभीर
  • 10 ठीक हो चुके हैं।
  • एक की मृत्यु हुई

सिरगिट्टी: 38 और 23 वर्षीय दो महिलाओं ने इलाज के दौरान तोड़ा है दम। राहत है कि नया मरीज इस क्षेत्र से अभी तक नहीं मिला।

खबरें और भी हैं...