पत्नी के हत्यारे को उम्रकैद की सजा:बेटी के सामने लात-घूंसों से पीटकर गला घोंटा, साले से कहा था- बहन की लाश ले जाओ

बिलासपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोर्ट ने पत्नी की हत्या के हत्यारे को उम्रकैद की सजा सुनाई। - Dainik Bhaskar
कोर्ट ने पत्नी की हत्या के हत्यारे को उम्रकैद की सजा सुनाई।

बिलासपुर में पत्नी की हत्या करने वाले ग्रामीण को कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। घटना दो साल पहले मस्तूरी थाना क्षेत्र की है। शराब के नशे में अपनी मासूम बेटी के सामने पत्नी की लात-घूंसों से पिटाई कर गला दबाकर हत्या कर दी थी।

टिकारी निवासी बिट्‌टू टंडन पिता रमेश टंडन (28) रोजी-मजदूरी करता था। उसकी पत्नी विमला टंडन (25) गृहणी थी। उनके 6 साल की बेटी नैना टंडन है। घटना 28 अप्रैल 2019 की है। रविवार के दिन बिट्‌टू सुबह 10 बजे से घर से निकला था। शाम को शराब के नशे में घर आया, तब पत्नी नहीं मिली। वह बाजार गई थी। इस दौरान बिट्‌टू फिर घर से निकल गया। दोबारा रात करीब 7.45 बजे घर पहुंचा।

उसकी पत्नी ने उसे सुबह से घर से निकलने की बात कही। तब उसने झगड़ा करते हुए पत्नी विमला की लात-घूंसों से पिटाई करते हुए गला दबा कर हत्या कर दी। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर कोर्ट में चालान पेश किया। पंचम अपर सत्र न्यायाधीश स्मिता रत्नावत की कोर्ट में मामले का ट्रायल हुआ। जिसमें अभियुक्त को हत्या का दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है।

साले को बोला-तुम्हारी बहन की लाश को ले जाओ
अपनी पत्नी विमला की हत्या करने के बाद उसने पहले पुलिस के डायल 112 को कॉल कर सूचना दी। इसके बाद उसने मोबाइल से अपने छोटे साले राजवीर को मोबाइल से कॉल किया और बोला कि तुम्हारी बहन विमला को मैने मार डाल है। उसकी लाश को ले जाना। इधर, घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस उसे पकड़कर थाने ले गई।

पूर्व सरपंच व ग्रामीण बने गवाह
हत्या की इस घटना में गांव के कोटवार उमेंद्र राम सहित अन्य ने पुलिस को सूचना दी। गांव के पूर्व सरपंच क्रांति कुमार कोसले ने मामले में रिपोर्ट दर्ज कराया था। इसके साथ ही पड़ोसियों ने भी गवाही दी। उन्होंने बताया कि रात में उनके घर में झगड़ा होने के कारण शोर गुल हुआ। फिर खुद बिट्‌टू टंडन बाहर आकर अपनी पत्नी की हत्या करने की बात कहकर शोर मचाने लगा। आरोपी ने भी अपना अपराध स्वीकार किया है।

खबरें और भी हैं...