शराबखोरी का विरोध करने पर मारा था, अब पकड़े गए:दूसरे राज्य भागने की फिराक में थे, CG सीमा से किए गए गिरफ्तार; लाठी डंडों से पीट-पीटकर कर दी थी हत्या

बिलासपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में आए आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में आए आरोपी।

बिलासपुर में शराबखोरी का विरोध करने पर अधेड़ की हत्या करने वाले 3 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वारदात को अंजाम देने के बाद 2 आरोपी दूसरे राज्य फरार होने की फिराक में थे। दोनों को छत्तीसगढ़ की सीमा से पकड़ा गया है। वहीं 1 आरोपी को बिलासपुर से ही गिरफ्तार कर लिया गया है। सभी ने शराबखोरी का विरोध करने पर नयापारा में रहने वाले अशोक मानिकपुरी की लाठी डंडों से पिटाई कर दी थी। जिसके बाद इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी।

बिलासपुर शहर ASP उमेश कश्यप ने बताया कि साइबर सेल की मदद से आरोपियों के मोबाईल लोकेशन को लगातार ट्रेस किया जा रहा था। दोनों आरोपी राहुल और संजय ध्रुव की लोकेशन क्योंची क्षेत्र के पास मिली। जिसके बाद घेराबंदी कर पुलिस टीम ने उन्हें गिरफ्तार कार लिया। पकड़े गए दोनों आरोपियों से पूछताछ के दौरान उन्होंने दीपक के बिलासपुर में होने की जानकारी दी। जिसके आधार पर उसे भी बूटा पर स्थित उसके घर से गिरफ्तार कार लिया गया। तीनों आरोपियों कि निशानदेही पर घटना में इस्तेमाल किए गए 3 बांस के डंडे भी पुलिस ने बरामद कर लिए है।

अशोक ने शराब की बोतल फोड़ने का किया था विरोध

अचानकपुर नयापारा में रहने वाले अशोक मानिकपुरी (45) और उनके साथी विनोद साहू 5 सितंबर की रात गांव के मंदिरहा तालाब के पास गए थे। इस दौरान कुछ लोग वहां पर संजय ध्रुव (19), दीपक कुमार (22) और राहुल राज (22) शराब पी रहे थे। अशोक ने तालाब के पास शराब की बोतल फोड़ने का विरोध किया। आरोप है कि इस पर गांव के राजू, संजू और दीपक ने अशोक की लाठी डंडों से पिटाई कर दी और घायल अशोक को चकरभाठा थाने के सामने फेंककर भाग गए। विनोद ने इसकी जानकारी पुलिस और डायल 112 को दी। इसके बाद उसे निजी अस्पताल लेकर गए, लेकिन उपचार के दौरान मंगलवार दोपहर अशोक की मौत हो गई।

ग्रामीणों ने शव रखकर किया था विरोध

15 सितम्बर की घटना को लेकर थाने में रिपोर्ट लिखवाई गई थी। आशोक की मौत की खबर जब इलाके के ग्रामीणों को लगी, तब वह आक्रोशित हो गए। मंगलवार शाम गांव में शव पहुंचते ही लगभग 200 को संख्या में ग्रामीण उसे लेकर चकरभाठा थाना पहुंच गए। थाने के सामने नयापारा चौक में ग्रामीणों ने शव सड़क में रखकर चक्काजाम कर दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि घटना की सूचना पर पुलिस ने मामूली धाराओं में केस दर्ज किया था।

खबरें और भी हैं...