9वीं के छात्र के किडनैपर्स गिरफ्तार:पुलिस ने दो घंटे में बच्चे को छुड़ाया; फोन दिलाने ले गए थे परिचित, फिर बंधक बनाया

बिलासपुर3 महीने पहले

बिलासपुर में 9वीं के छात्र के अपहरणकर्ताओं को पुलिस ने दो घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया और बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया। सात में से तीन आरोपी छात्र के गांव के ही हैं। रुपए के लालच में उन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर छात्र का अपहरण किया था। आरोपियों ने मंगलवार सुबह ट्यूशन से घर लौट रहे 15 साल के छात्र का अपहरण कर लिया था।

तखतपुर निवासी शशिकांत पांडेय का 15 साल का बेटा हिमालया पांडेय 9वीं का छात्र है। रोज की तरह सुबह 10 बजे ट्यूशन के लिए निकला था। 11:30 बजे वह वापस आ जाता था लेकिन मंगलवार को घर नहीं लौटा। परिजन ने सोचा कि दोस्तों के साथ कहीं घूमने चला गया होगा। जब वह शाम 4 बजे तक घर नहीं पहुंचा तो परेशान परिजन ट्यूशन टीचर अरविंद तिवारी के पास पहुंचे। उन्होंने हिमालय के समय पर घर न आने की बात कही। इस बीच शशिकांत के मोबाइल पर अनजान नंबर से कॉल आया। फोन करने वाले ने उनके बेटे का अपहरण करने और 10 लाख रुपए फिरौती की मांग की।

रुपए नहीं देने पर जान से मारने की दी धमकी
शशिकांत के मुताबिक, अपहरणकर्ताओं ने फिरौती की रकम न देने पर हिमालया को जान से मारने की धमकी भी दी थी। शशिकांत ने तत्काल इसकी सूचना SP दीपक झा को दी। अपहरण व फिरौती का मामला सामने आते ही पुलिस भी सक्रिय हो गई। CCTV फुटेज की जांच और साइबर सेल की मदद से अपहरण कर्ताओं का लोकेशन ट्रेस किया गया। करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस ने छात्र को सुरक्षित बरामद कर लिया। गिरफ्तार किए गए आरोपियों के पास से फिरौती की मांग के लिए यूज किए गए सिम कार्ड, मोबाइल, बाइक एवं चाकू सहित अन्य सामान बरामद किया।

निर्माणाधीन मकान में बनाया था बंधक
IG रतनलाल डांगी और SP दीपक झा ने बताया कि अपहरण कर्ताओं ने छात्र को सकरी क्षेत्र के सैदा गांव में एक सुनसान जगह पर निर्माणाधीन मकान में बंधक बनाकर रखा था। अपहरणकर्ता पुलिस को गुमराह करने के लिए शशिकांत के फोन पर कॉन्फ्रेंस कॉल कर रहे थे। पुलिस ने बताया कि फिरौती की मांग के बाद दोबारा जब शशिकांत के मोबाइल पर कॉल आया तो हिमालया की मां ने बात की। उन्होंने बात करने वाले युवक की आवाज को पहचान लिया और इस संबंध में पुलिस को जानकारी दी।

पुलिस ने बताया कि शक के आधार पर जरहागांव के सेमरसल से दो युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। सख्ती बरतने पर उन्होंने अपहरण की बात कबूल कर ली और अपने साथियों के बारे में बताया। इसके बाद पुलिस अपराधियों तक पहुंची और बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया।

IG ने की इनाम की घोषणा
अपहरण की सूचना मिलते ही SP दीपक झा ने जिले के सभी अफसरों के साथ ही थाना प्रभारी व साइबर सेल की टीम को इस मामले की जांच कर अपहरण कर्ताओं की धर-पकड़ करने के निर्देश दिए। इस दौरान SP झा खुद तखतपुर में कैंप कर पल-पल की जानकारी लेते रहे और मार्गदर्शन देते रहे। इस दौरान एडिशनल SP ग्रामीण रोहित झा, एडिशनल SP शहर उमेश कश्यप, कोटा SDOP आशीष अरोरा के साथ ही निरीक्षक कलीम खान, निरीक्षक मोहन भारद्वाज, उपनिरीक्षक मनोज नायक, उपनिरीक्षक सागर पाठक, उपनिरीक्षक प्रसाद सिन्हा, आरक्षक तरुण केशरवानी, आरक्षक मुकेश वर्मा, तदबीर पोर्ते, सोनू पाल, दीपक यादव, जय साहू, अभिजीत सनत, सुनील सूर्यवंशी, किशन राय, दीपक उपाध्याय, सुनील पटेल सहित अन्य इस मामले की जांच में जुटे रहे। उनकी सक्रियता व तत्परता को देखते हुए IG रतनलाल डांगी ने टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

पुलिस भी एक बार चकमा खा गई थी
दरअसल, पुलिस ने अपहरणकर्ताओं की पहचान और उनका पता लगाने के लिए घटनास्थल के रास्तों में लगे CCTV कैमरों की जांच की। तब पुलिस को एक कैमरे में अपहृत छात्र बैग लटकाकर अकेले जाते नजर आया। पुलिस को लग रहा था कि छात्र ने खुद की अपहरण की साजिश रची होगी। पुलिस का मानना था कि अपहरणकर्ता उसे साथ लेकर जाते तब कैमरे में उनकी भी तस्वीरें आती, लेकिन जब दो अपहरणकर्ता पकड़ाए। इसके बाद पुलिस को पूरा माजरा समझ में आया।

अपहृत छात्र व पुलिस अफसर
अपहृत छात्र व पुलिस अफसर

आर्थिक स्थिति देखकर हिमालया को बनाया टारगेट
पुलिस की पूछताछ में पता चला कि 3 अपहरणकर्ता हिमालया के मूल गांव सेमरसल के रहने वाले हैं। उन्हें हिमालया के पिता की आर्थिक स्थिति की जानकारी थी। यही वजह है कि उन्होंने अपहरण के लिए हिमालया को टारगेट किया।

फोन दिलाने के बहाने ले गए थे परिचित
सकुशल बरामद हिमालया ने पुलिस को बताया कि उसे फोन दिलाने के बहाने गांव के तीन परिचित बाइक में बैठाकर साथ ले गए थे। थोड़ी दूर जाने के बाद 4 और युवक आए। उन्होंने चाकू दिखा कर धमकाया और उसे अपने साथ ले गए।

इन्हें किया गया गिरफ्तार

  • राममंगल यादव पिता दुर्गा यादव 19 साल निवासी ग्राम सेमरसल, थाना जरहागांव, मुंगेली।
  • सुरेंद्र रजक उर्फ माली पिता स्व. नर्मदा रजक 23 साल निवासी कुदुदंड, बिलासपुर।
  • घनश्याम यादव पिता बिसाहू राम यादव 19 साल निवासी वेयरहाउस रोड़ बिलासपुर।
  • जगदिश पटेल पिता अमृतलाल पटेल 21 साल निवासी ग्राम सेमरसल जरहागांव, मुंगेली।
  • कान्हा पिता स्व. सुरेश शर्मा 24 साल निवासी सरकंडा, बिलासपुर।
  • सोमराज पटेल पिता माधुरीलाल पटेल 21 साल निवासी सेमरसल, जरहागांव, मुंगेली व एक नाबालिग।
खबरें और भी हैं...