चोरी का LIVE VIDEO:रिक्शा लेकर आए चोर, फिर दुकान के सामने रखे शटर को लोड कराया और भाग निकले; अब गिरफ्तार

बिलासपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चोरी की वारदात CCTV कैमरे में कैद हो गई। - Dainik Bhaskar
चोरी की वारदात CCTV कैमरे में कैद हो गई।

बिलासपुर में चोरी करने वाले तीन युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। तीनों घर के बाहर रखे शटर चोरी करने के लिए रिक्शा किराए पर लेकर आए थे। घटना बीते तीन अप्रैल की है। युवकों के गिरफ्तार होने के बाद युवकों का चोरी करते हुए CCTV फुटेज भी सामने आया है। जिसके आधार पर पुलिस ने उनकी पहचान कर उन्हें गिरफ्तार किया है। मामला सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र का है।

जूना बिलासपुर के बनियापारा निवासी विवेक देवांगन किराना दुकान संचालक हैं। उन्होंने अपनी दुकान का शटर गेट निकालकर घर के बाहर रखा था। जिसे चोरों ने चार अप्रैल की रात चोरी कर लिया। उन्होंने इस घटना की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस चोरी का केस दर्ज कर चोरों की तलाश कर रही थी।

CCTV फुटेज के आधार पर पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है
CCTV फुटेज के आधार पर पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है

CCTV फुटेज में दिखे शटर चोरी कर ले जाते
TI प्रदीप आर्या ने बताया कि दुकानदार के घर के बाहर CCTV कैमरा लगा है। उसका फुटेज निकालकर जांच करने पर पता चला कि तीन युवक दुकान के आसपास घूमते दिख रहे हैं। फुटेज में वही युवक कुछ देर बाद रिक्शा लेकर आते और शटर को रिक्शा में डालकर लेकर जाते दिख रहे हैं। फुटेज के आधार पर पुलिस आसपास के लोगों से पूछताछ कर चोरी करने वाले युवकों की पहचान करने की कोशिश में जुटी हुई थी। युवकों की पहचान होने के बाद उन्हें पकड़ लिया गया है।

चोरी करने के पहले आरोपी पहले रैकी करते भी दिखे थे।
चोरी करने के पहले आरोपी पहले रैकी करते भी दिखे थे।

किराए पर रिक्शा लेकर आए थे आरोपी
पुलिस ने CCTV फुटेज के माध्यम से श्याम टॉकीज के पास रहने वाले भीम केंवट (30 साल), जूना बिलासपुर के भारत टेंट हाउस के पास रहने वाले संतोष उर्फ राजू गुप्ता (45 साल) और कतियापारा दुर्गा चौक निवासी रोहित प्रधान (25 साल) की पहचान की। उन्हें पकड़कर पूछताछ करने के बाद पुलिस ने चोरी गए शटर को बरामद कर लिया। पूछताछ में आरोपियों ने किराए में रिक्शा लेकर शटर चोरी करने की जानकारी दी। हालांकि, रिक्शा चालक को तब यह भी नहीं पता था कि शटर चोरी करने के लिए उसे बुलाया गया है। आरोपी भी रिक्शा चालक को नहीं जानते। यही वजह है कि पुलिस ने रिक्शा चालक की खोजखबर नहीं ली।

खबरें और भी हैं...