मंत्री की चिट्‌ठी:जिनकी भर्ती में गड़बड़ी उन्हें करें बर्खास्त, बाकी को नियमित

बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सिम्स के 316 कर्मियों की हड़ताल का असर दिखने लगा है। बुधवार को प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने डीन डॉ. तृप्ति नागरिया को निर्देश दिया है कि जिन कर्मचारियों की भर्ती में गड़बड़ी नहीं है, उन्हें नियमितिकरण का लाभ दिया जाए। वहीं ऐसे कर्मचारी जिनकी जांच में गड़बड़ी पकड़ी गई है, उन्हें बर्खास्त किया जाए।

सिम्स के 316 कर्मचारी परिवीक्षा अवधि समाप्त करने की मांग करते हुए 23 अगस्त से हड़ताल पर हैं। 38 दिन बाद स्वास्थ्य मंत्री का पत्र मिलने से उनके चेहरे पर रौनक दिखी, लेकिन अब तक सिम्स की डीन ने उन्हें कोई सूचना नहीं भेजी। जिसके चलते गुरुवार को भी हड़ताल जारी रखने की बात सिम्स के कर्मचारी कर रहे हैं। बता दें कि 2013-14 में सिम्स में तृतीय और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की नियुक्ति की गई थी। सात साल बीत जाने के बाद भी उनकी परिवीक्षा अवधि समाप्त नहीं की गई और न ही वेतन बढ़ोतरी का लाभ दिया गया।

प्रबंधन ने दिनभर नहीं दी प्रतिक्रिया, कर्मचारी पहुंचे
स्वास्थ्य मंत्री के निर्देश के बाद भी प्रबंधन ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी ना ही इस संबंध में कर्मचारियों को कोई सूचना भेजी। अंत में कर्मचारी स्वयं डीन कार्यालय चिट्टी लेकर पहुंच गए। लेकिन वहां डीन डॉ. तृप्ति नागरिया ने उन्हें कह दिया कि अब तक मेल में उन्हें ऐसा कोई भी पत्र या आदेश नहीं मिला है। कर्मचारी पत्र को आवक जावक में देकर वापस लौट गए।

खबरें और भी हैं...