पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इतनी क्रूरता:रेत से भरे ट्रैक्टर चालक ने सड़क पर बैठी गाय को जानबूझकर रौंदा, आरोपी गिरफ्तार

बिलासपुर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सोशल मीडिया में जिसने भी वीडियो देखा कहा-आरोपी पर कड़ी कार्रवाई हो
  • मोपका चौक के पास सूनसान रोड पर आरोपी ने घटना को अंजाम दिया

शहर के मोपका चौराहे के पास रेत से भरे ट्रैक्टर चालक ने सड़क पर बैठी गाय को रौंद दिया। उसके क्रूरता की हद देखिए, पहले तो उसने गाय के मुंह पर तेज रफ्तार में इंजन का चक्का चढ़ाया फिर ट्रॉली का पहिया चढ़ाकर गाय को कुचल डाला। सीसीटीवी कैमरे से निकाले गए वीडियो में स्पष्ट दिख रहा है कि चालक ने जानबूझकर गाय की हत्या की है। मामले की शिकायत मिथिलेश और निमलेश पांडेय ने सरकंडा थाने में की है।

घटना शनिवार की रात 11 बजे की है। गौ हत्या के आरोपी को पुलिस ने रविवार की देर शाम गिरफ्तार कर लिया है। सरकंडा पुलिस से की शिकायत में मिथिलेश और निमलेश ने बताया है कि नीले कलर का ट्रैक्टर चालक अपनी पूरी ताकत से गाय की हत्या करने में जुटा है। उसे जरा भी गाय पर दया नहीं आ रही है। रात में सूनेपन का फायदा उठाकर आरोपी ट्रैक्टर से गाय की हत्या कर रहा है। उसने मोपका चौक के एसबीआई एटीएम के पास इस घटना को अंजाम दिया है। उन्होंने गौ हत्या करने वाले इस आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

हालांकि पुलिस ने मामले में रविवार की शाम तक एफआईआर दर्ज नहीं की थी। शाम को सरकंडा थाने की पुलिस का कहना था कि आरोपी अज्ञात है इसलिए पहले पतासाजी के बाद ही एफआईआर दर्ज की जाएगी। दैनिक भास्कर ने पुलिस और प्रशासन के उच्च अधिकारियों से बात की तो उन्होंने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए संबंधित थाने के प्रभारी को आवश्यक कार्रवाई एवं एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए। फिर पुलिस हरकत में आई और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

समाजसेवियों ने की कड़ी कार्रवाई की मांग
रविवार को जैसे ही सोशल मीडिया में गाय के कुचलने का यह वीडियो वायरल हुआ तो शहर के गौ सेवक और समाजसेवी लोग इकट्ठे हो गए। जिसने भी वीडियो देख उसने यही कहा कि आरोपी के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए जिससे ऐसी घटना फिर कभी ना हो। मामले में समाजसेवी कमल छाबड़ा सहित अन्य लोग देर शाम सरकंडा थाने पहुंचे। मौके पर मौजूद पुलिस से आरोपी के खिलाफ एफआईआर की मांग की। दैनिक भास्कर से बातचीत में समाजसेवी कमल ने बताया कि इस वीडियो को देखने के बाद वे काफी आहत हैं और ऐसी घटना की पुनरावृत्ति नहीं हो यही सोचकर उन्होंने पुलिस से कार्रवाई करने की मांग उठाई है।

कुछ देर पहले खाना देकर गए थे

शिकायतकर्ता निमलेश ने बताया कि रात 11 बजे के पहले ही गायों को खाना देकर आए थे। कुछ देर बात कुत्तों के भौंकने की आवाज आई। इसके बाद वहां पहुंचे तो देखा की गाय की मृत्यु हो गई थी। पास के घर से फुटेज निकाला तो देखा कि चालक ने उसे जानबूझकर कुचला है। हम सीसीटीवी फुटेज लेकर सरकंडा थाने गए। गाय के पेट में बच्चा भी था।

पुलिस के पास 4 बार गए, वह केवल घुमाती रही
शिकायतकर्ता पाण्डेय ने बताया कि रविवार की सुबह से 4 बार सरकंडा थाने गए हैं। वे घुमाते रहे, कभी मोपका चौकी भेज रहे तो कभी खुद कार्रवाई करने की बात कर रहे हैं। बॉडी को भी नहीं उठवाया है। फिर कहा कि रविवार है, इसलिए सभी जगह बंद है। पोस्टमार्टम सोमवार को होगा।

आरोपी को कठोर दंड मिले- शैलेश
नगर विधायक शैलेश पांडेय ने कहा यह अत्यंत ही अमानवीय और अस्वीकार्य घटना है। जिस भी व्यक्ति ने इसे किया है, उसे कठोर से कठोर दंड मिलना चाहिए ताकि कोई दूसरा व्यक्ति ऐसा पागलपन कभी न करें। यह विक्षिप्त मानसिकता का उदाहरण है। मैं नगर निगम अमले को निर्देशित करूंगा कि सड़क पर बैठे हुए मवेशियों का नियमानुसार ध्यान रखे और उनके व्यवस्थापन का प्रयास करें।

वीडियो देखकर कलेक्टर बोले-ओह गॉड!
दैनिक भास्कर ने कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर को गाय को कुचलने वाला वीडियो भेजा। वीडियो देखकर कलेक्टर ने कहा-ओह गॉड! उन्होंने कहा कि वे इसी समय पुलिस को वीडियो भेजकर कार्यवाही के लिए निर्देशित करेंगे।
एफआईआर का निर्देश दिया : एसपी प्रशांत अग्रवाल ने कहा कि मामले की जानकारी मिल चुकी है। आरोपी ड्रायवर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए हैं।

हत्या करने वाला आरोपी पकड़ाया, ट्रेक्टर जब्त
सरकंडा थाने की पुलिस ने मोपका चौक पर ट्रैक्टर से गाय को कुचलने वाले आरोपी ईश्वर ध्रुव 23 साल पिता रामकुमार ध्रुव को पकड़ लिया है। आरोपी खमतराई का रहने वाला है और पेशे से ड्राइवर है। पुलिस के गिरफ्तार करने के बाद आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। ट्रैक्टर मालिक सोनू यादव है। पुलिस ने आरोपी को पकड़ने के साथ ही ट्रैक्टर को जब्त कर लिया है।

कुत्ते नोचने लगे तो समाजसेवियों ने किनारे किया
शनिवार की देर रात हुई इस घटना के बाद गाय की मौके पर ही मौत हो गई। सुबह जब आसपास के लोगों ने गाय की उसी स्थिति को देखा तो उन्होंने सीसीटीवी कैमरे से इसकी जांच की। इसमें ही आरोपी द्वारा जानबूझकर किया गया यह कृत्य सामने आया। निमलेश पांडे और बाकी साथियों ने सुबह के वक्त गाय की बॉडी को सुरक्षित जगह पर रख दिया ताकि इस पर कुत्तों की नजर नहीं पड़े।

भास्कर हस्तक्षेप; मुख्य दोषी हैं नगर निगम पुलिस और रेत वाले नेता
इतनी क्रूरता बिलासपुर में पहले कभी हमने नहीं देखी। जाहिर है इसके पीछे कोई बहुत बड़ा कारण होना चाहिए। पिछले कुछ दिनों से जिस तरह की घटनाएं हमने देखी है उनका विश्लेषण इस घटना के कारणों पर भी रोशनी डाल सकता है। तीन मुख्य कारण बहुत तेजी से सामने आ रहे हैं। पहला यह कि अरपा में अंधाधुंध रेत की खुदाई की जा रही है। अवैध और अंधाधुंध खुदाई के कारण जाहिर है कि ट्रैक्टर ड्राइवर भागने के लिए स्पीड पर कोई नियंत्रण रखते ही नहीं। दूसरा कारण है अवैध और जरायम पर पुलिस का नियंत्रण लगभग शून्य है तो जाहिर है कि इस तरह के लोग और हिम्मत दिखा रहे हैं। तीसरा कारण बहुत साफ है जिन मवेशियों को गौशालाओं में होना चाहिए वह सड़क पर है। कोई तो है जिसे इनके सड़क पर होने से फायदा है। नगर निगम को लगातार याद दिलाना और मामला हाईकोर्ट तक चले जाने के बावजूद वह सड़क पर ही हैं और इस तरह की घटनाएं हो रही हैं। तीन कारण हैं तो तीन ही दोषी भी है पहला निगम के अफसर, दूसरा गुंडों बदमाशों को छूट देती पुलिस और तीसरा रेत माफिया। क्योंकि यह तीनों सिस्टम में शामिल हो चुके हैं। निगम और पुलिस अपनी जिम्मेदारी निभाएं। जनता को इसके लिए इन पर दबाव बनाना पड़ेगा। रही बात रेत माफिया की तो इसका जवाब माफिया और उनके गुंडों को संरक्षण देने वाले राजनेताओं से हमें लेना चाहिए। बाकी अपनी रेत लेकर किसी तरह बच निकलने की जुगाड़ करता हुआ यह ड्राइवर तो सिर्फ तात्कालिक आरोपी है उसे तो उसके किए की सजा मिल ही जाएगी।

खबरें और भी हैं...