सिटी डिस्पेंसरी में नहीं सुधरी अव्यवस्था:दो डॉक्टर और 13 कर्मचारी नदारद रहे; सिविल सर्जन ने जारी किया नोटिस, वेतन काटने चेतावनी

बिलासपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डॉक्टर और स्टॉफ गायब मिले तो श� - Dainik Bhaskar
डॉक्टर और स्टॉफ गायब मिले तो श�

बिलासपुर के सिटी डिस्पेंसरी में अव्यवस्था नहीं सुधर रही है। शनिवार को सिविल सर्जन निरीक्षण में पहुंचे, तब यहां दो डॉक्टर और 13 स्टाफ गायब था। उन्होंने सभी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। साथ ही सही जवाब नहीं मिलने पर वेतन में एक दिन की कटौती करने की चेतावनी दी है।

शनिवार सुबह 11.30 बजे सिविल सर्जन डॉ. गुप्ता निरीक्षण के लिए गांधी चौक स्थित सिटी डिस्पेंसरी पहुंचे, जहां ड्यूटी करने वाले 17 में से 11 कर्मचारी नहीं थे। दो डॉक्टर भी नदारद थे। अस्पताल में इलाज के लिए मरीज परेशान हो रहे थे। भीषण गर्मी में उनकी परेशानी को देखकर सिविल सर्जन ने नाराजगी जताई।

निरीक्षण के दौरान सिविल सर्जन डॉ. गुप्ता ने मरीजों से भी चर्चा की
निरीक्षण के दौरान सिविल सर्जन डॉ. गुप्ता ने मरीजों से भी चर्चा की

मरीजों का जाना हाल और किया इलाज
निरीक्षण के दौरान सिविल सर्जन डॉ. गुप्ता ने मरीजों से भी बातचीत की। उनकी परेशानी सुनने के बाद उन्होंने जांच कर उनका उपचार किया। इसके साथ ही मरीजों को दवाइयां भी देने के निर्देश दिए।

एक दिन पहले सकरी पहुंचे थे डॉ. गुप्ता
शुक्रवार को सिविल सर्जन डॉ. गुप्ता ने सकरी स्थित शहरी दवाखाना का भी जायजा लिया था। निरीक्षण के दौरान यहां भी एक डॉक्टर और पांच स्टाफ गायब थे। शहर से लगे अस्पताल में स्टॉफ और डॉक्टर की गैरमौजूदगी के चलते मरीज परेशान थे। इसके बाद भी उनकी देखरेख करने वाला कोई नहीं था। सिविल सर्जन डॉ. गुप्ता ने बिना सूचना के गायब डॉक्टर और स्टाफ को नोटिस जारी कर वेतन में एक दिन की कटौती करने की चेतावनी दी थी।

जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं का बुरा हाल है। ग्रामीण क्षेत्र के सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का CMHO डॉ. प्रमोद महाजन ने बीते दिनों निरीक्षण किया, तब इसका पता चला। उन्होंने देखा कि सुबह 11 से लेकर 12 बजे तक डॉक्टर और अस्पताल स्टाफ ड्यूटी पर नहीं पहुंचते। निरीक्षण के दौरान उन्होंने डॉक्टर समेत अस्पताल स्टाफ को नोटिस जारी किया था। इसके साथ ही उन्होंने सभी बीएमओ के साथ ही शहर के अस्पतालों में व्यवस्था सुधारने के लिए सिविल सर्जन डॉ. अनिल गुप्ता को शहर के अस्पतालों का निरीक्षण कर व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिए थे।

खबरें और भी हैं...