पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अपराध:अपने पैसे मांगे तो बांधकर पूरी रात युवक को पीटा, मौत हो गई तो गाड़ी सहित शव को सड़क किनारे फेंका

बिलासपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • घटना की वजह शराब, चचेरे भाई को भी पीटा था लेकिन बाद में उसे छोड़ दिया

शराब के नशे में धुत युवकों ने अपने ही साथियाें में से युवक व उसके चचेरे भाई को हाथ-पैर बांधकर रातभर पीटा। युवक की सुबह मौत हो गई तो उसके शव को स्कूटी सहित ठिकाने लगाकर भाग निकले। चचेरे भाई से भी उन्होंने मारपीट की थी। उसे इतना डराया था कि सुबह पुलिस के सामने तीन घंटे तक उसने मुंह नहीं खोला। पुलिस ने सभी अाराेपियाें को गिरफ्तार कर लिया। इस घटना को दो नाबालिग सहित कुल 6 लोगों ने मिलकर अंजाम दिया था। बुधवार की सुबह चकरभाठा थाना क्षेत्र के ग्राम धमनी रोड किनारे एक युवक का शव मिला। उसके पास ही एक स्कूटी पड़ी थी। लोगों ने देखा तो पुलिस को सूचना दी। मौके पर सिरगिट्‌टी व चकरभाठा पुलिस दोनों पहुंची। लाश की शिनाख्ती कराने का प्रयास किया गया पर किसी ने नहीं पहचाना, फिर पुलिस ने स्कूटी के नंबर के आधार पर पता लगाया तो उसकी पहचान युवराज खरे पिता दिलहरण खरे 18 वर्ष के रूप में हुई। पुलिस ने जांच शुरू की। शाम को वह अपने चचेरे भाई आकाश बंजारे के साथ निकला था। पुलिस ने आकाश से पूछताछ की तो उसने राज खोला। नशे में हुए विवाद के चलते युवराज की उसके ही पुराने 6 साथियों ने मिलकर हत्या की थी। सिरगिट्‌टी के सूनसान इलाके में युवराज व आकाश को बांधकर पीटा। देर रात उन्होंने आकाश को छोड़ दिया पर युवराज को वहीं पर रखा। सुबह उसकी मौत हो गई फिर पुलिस को गुमराह करने के लिए शव को युवराज की स्कूटी के साथ ही धमनी के पास ले जाकर छोड़ दिया। आरोपियों ने बांस के डंडे व हाकी स्टिक से पिटाई व ईंट से फेंककर हत्या की थी। आकाश को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है। पुलिस ने आरोपियों में मुकेश लाउत्रे आदर्श नगर सिरगिट्‌टी सहित अभिजीत लाल उर्फ बिक्कू 21 वर्ष दुर्गा बाड़ा गोविंद नगर सिरगिट्‌टी,अभिषेक लाल उर्फ लक्की 23वर्ष दुर्गा बाड़ा गोविंद नगर सिरगिट्‌टी, हरीश चौहान 23वर्ष मीनू सरदार बाड़ा सिरगिट्‌टी सहित सिरगिट्‌टी के दो नाबालिगों को गिरफ्तार किया। उनके कब्जे से 530 रुपए, बुलेट, लकड़ी का टूटा हुआ बत्ता, 5 मोबाइल, टूटा हुई हाॅकी की स्टिक, बांस का टूटा हुआ दुकड़ा बरामद किया गया है। पुलिस ने सभी को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने उन्हें जेल भेज दिया।
पुलिस ने दो नाबालिग सहित 6 लोगों को किया गिरफ्तार, वारदात में इस्तेमाल स्टिक जब्त
मंगलवार की दोपहर एक बजे से कहानी शुरू होती है। युवराज खरे अपने चचेरे भाई आकाश खरे के साथ अपने ही ग्रुप के साथी आरोपी अभिषेक लाल उर्फ लक्की 23वर्ष के घर सिरगिट्‌टी गोविंदनगर दुर्गा बाड़ा पैसा मांगने गया था। युवराज से अभिषेक लाल ने एक हजार रुपए उधार लिया था। अभिषेक ने केवल 100 रुपए दिया और कहा अभी उसके पास पैसे नहीं है। उसने शाम को दोनों को अड्डे में मिलने के लिए बुलाया। सिरगिट्‌टी के आदर्श का एक निर्माणाधीन मकान उनका अड्‌डा था। यहां रोज शाम को सभी दोस्त मिलते थे और एकसाथ बैठकर शराबखोरी करते थे। शाम को युवराज और आकाश जब वहां पहुंचे तो वहां केवल चार लोग मौजूद थे। साथियों में अभिषेक लाल व मुकेश लाउत्रे नहीं पहुंचे। दोनों की गैर मौजूदगी में युवराज ने मुकेश व अभिषेक लाल के बारे में टिप्पणी करनी शुरू कर दी। कहने लगा कि मुकेश व अभिषेक लाल उसके सामने ही पैदा हुए हैं। दोनों उसके सामने बच्चे हैं। वह चाहे तो किसी भी दिन उन्हें गोली मार सकता है। बातों ही बातों में अाकाश ने भी काफी कुछ कह दिया। वहां पर उनके पहुंचते ही शराब का दौर शुरू हो गया था। कुछ देर बाद वहां मुकेश व अभिषेक लाल सहित बाकी लोग भी पहुंच गए। पहले से माैजूद लोगों ने मुकेश व अभिषेक लाल को वह सारी बातें बता दी जो युवराज व आकाश ने उनके बारे में कही थी। इससे दोनों नाराज हो गए। उनके बीच झगड़ा शुरू हो गया। दोनों ने मिलकर युवराज व आकाश की पिटाई शुरू कर दी। गमछा से दोनों का हाथ-पैर व मुंह बांध दिया और बंधक बनाकर बांस, डंडा, हाॅकी की स्टिक, बेल्ट,पट्‌टी से जमकर पीटा। शाम 7 बजे से रात 11 बजे तक लगातार पिटाई चलती रही। इसमें मुकेश व अभिषेक लाल के अलावा बाकी आरोपियों ने भी दोनों का साथ दिया। दोनों को पीटने से पहले उन्हें बीच-बीच में गांजा भी पिलाते थे। सूनसान व खाली जगह होने के कारण वहां की गतिविधियों के बारे में किसी को कुछ पता नहीं चला। इस दौरान दोनों ने छोड़ने की काफी गुहार लगाई। रात 11 बजे उन्होंने आकाश को छोड़ दिया। उसे घर तक जाकर पहुंचाया। तब तक युवराज जिंदा था। आकाश को घर पहुंचाने से पहले उसे काफी धमकाया। कहा कि यदि वह इस घटना के बारे में किसी को बताएगा तो उसकी हत्या कर देंगे। आकाश काफी डरा हुआ था। पिटाई भी हुई थी और नशे में भी था इसलिए घर में सो गया। मुकेश व अभिषेक लाल फिर दोनों को छोड़ने के बाद उसी अडड्े पर पहुंचे और दोस्तों के साथ मिलकर फिर से युवराज की पिटाई शुरू की। इससे वह बेहोश हो गया। सभी आरोपी नशे में चूर थे इसके कारण उन्हें नींद आ गई। सुबह उनकी नींद खुली तो युवराज की मौत हो चुकी थी। उन्होंने योजना बनाई और सुबह सात बजे लाश को गाड़ी में लेकर धमनी की ओर ले गए और गांव के पास छोड़कर भाग लौट आए। उन्होंने युवराज की स्कूटी भी वहीं पर छोड़ दी थी ताकि घटना को दुर्घटना का रूप दे सकें। 
तीन घंटे बाद चचेरे भाई ने सुरक्षा का आश्वासन मांगा, फिर बताई घटना
युवराज की पहचान होने के बाद पुलिस ने आकाश को बुलाया। पूछताछ की तो वह कुछ बताने से मना करता रहा। वह काफी डरा हुआ था। आरोपियों ने उसे जैसा बोला था वह वैसे ही बता रहा था। पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की। पहले उसने बताया कि वह रात में घूमने गया था। पुलिस ने उससे सख्ती बरती तो पूरी कहानी बता दी। बताने से पहले अपनी सुरक्षा की मांग की। 
फार्म हाउस के चौकीदार ने गाड़ी छोड़कर जाते देखा था
जहां पर युवराज की लाश व गाड़ी मिली उसके करीब ही एक फार्म हाउस है। यहां मौजूद चौकीदार ने सुबह घटनास्थल के करीब दो-तीन गाड़ियां देखी थीं। इनमें आए लोगों ने वहां गाड़ियां छोड़कर लौटा तो उसे कुछ समझ नहीं आया। बाद में भीड़ जुटी तो घटना का पता चला।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें