फांसी लगाकर आत्महत्या:बच्चों के साथ पत्नी मायके में, पति ने घर में लगा ली फांसी, पुलिस को सुसाइड नोट नहीं मिला, परिजनों से पूछताछ

बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बच्चों को लेकर तीजा मनाने गई पत्नी मायके में ही थी। इधर पति ने घर में फांसी लगा ली। खुदकुशी की यह घटना सिविल लाइन थाना क्षेत्र की है। अभी तक खुदकुशी के कारणों का पता नहीं चला है। राजेंद्र नगर निवासी राजेश शंकर यादव पिता करूणा शंकर 42 वर्ष की पत्नी बच्चों के साथ तीजा मनाने मायके गई थी। वहां से लौटकर नहीं आई थी। राजेश प्राइवेट जॉब करता था। वह बड़े भाई व परिवार के अन्य सदस्यों के साथ घर पर ही था। रविवार की रात खाना खाकर अपने कमरे में सोने आ गया। सुबह काफी देर तक उसके कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो बड़े भाई राकेश यादव 45 वर्ष ने दरवाजा खटखटाया। जवाब नहीं मिला तो उसने खिड़की से देखा। अंदर राजेश का शव फांसी पर लटक रहा था। राकेश ने पुलिस को सूचना दी फिर दरवाजा तोड़ा। अंदर राजेश की मौत हो चुकी थी। पुलिस ने फिलहाल मर्ग कायम कर लिया है।

बीमारी से तंग आकर ग्रामीण ने कर ली खुदकुशी

रतनपुर क्षेत्र के ग्राम पंचायत चपोरा निवासी 48 वर्ष ईश्वर आर्मो काफी दिनों से बीमार था। इससे वह परेशान था। सोमवार की शाम को उसकी पत्नी जुगरी बाई अपनी बेटी नंदिनी के साथ अपनी बहन के घर ग्राम बछ़ाली गई थी। ईश्वर घर में अकेले ही था। रात को उसने एक कमरे में जाकर फांसी लगा ली। सुबह पत्नी घर पहुंची तो उसे पति के खुदकुशी के बारे में पता चला और पुलिस को सूचना दी।

खबरें और भी हैं...