CG में 9 दिन में 4 स्टूडेंट पॉजिटिव:GPM में छात्र-छात्रा सहित प्रिंसिपल दंपती संक्रमित; एकलव्य छात्रावास के187 बच्चों के लिए गए सैंपल

पेंड्रा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के स्कूलों में एक बार फिर से कोरोना संक्रमण बढ़ना शुरू हो गया है। प्रदेश में 9 दिन के दौरान 4 स्टूडेंट सहित एक टीचर पॉजिटिव मिल चुके हैं। जबकि रायगढ़ में एक टीचर की मौत हो चुकी है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने मौत की पुष्टि नहीं की है। अब गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM) जिले के तीन अलग-अलग स्कूलों के प्रिंसिपल दंपती और 2 बच्चे संक्रमित मिले हैं। वहीं मरवाही जनपद पंचायत के दो कर्मचारियों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। मामला सामने आने के बाद संपर्क में आए लोगों का सैंपल लिया गया है।

पेंड्रा ब्लॉक के एक प्राइवेट स्कूल, गौरेला ब्लॉक के सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। दोनों स्कूलों के प्रिंसिपल पति-पत्नी है। वह कुछ दिन पहले ही दिल्ली से लौटे थे। इसके बाद उनके दोनों बच्चों के भी सैंपल लिए गए हैं। उनकी रिपोर्ट निगेटिव है। राहत की बात है कि दोनों प्रिंसिपल स्कूल नहीं जा रहे थे। हालांकि CMHO का कहना है कि नए वैरिएंट को देखते हुए बाहर से आने के कारण उनका RT-PCR टेस्ट कराया जाएगा।

एकलव्य छात्रावास के सभी बच्चों की रिपोर्ट निगेटिव

पेंड्रा ब्लॉक के ही एक स्कूल की 7वीं क्लास की छात्रा और एकलव्य हॉस्टल के 8वीं क्लास का छात्र भी पॉजिटिव मिला है। छात्रा सकोला गांव के सरकारी स्कूल में पढ़ती है। हालांकि वह तीन दिन से स्कूल नहीं जा रही थी। वहीं तिरोला गांव के हॉस्टल से छात्र गांव लौटा था। इसके बाद हॉस्टल में रहने वाले सभी 187 बच्चों के सैंपल लिए गए। हालांकि उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। गांव में भी बच्चों के संपर्क में आए लोगों की जांच की जा रही है।

गांव में सैंपल के लिए भेजी गई टीमें

SDM अपूर्व टोप्पो ने बताया कि छात्र-छात्राओं के गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजी गई है। सभी से सैंपल जांच कराने की अपील कर रहे हैं। टीम घर-घर जाकर लोगों से संपर्क कर रही है। उन्होंने प्रिंसिपल दंपती के संपर्क में आने वाले लोगों से भी जांच कराने की अपील की है। SDM ने बताया कि तीनों स्कूलों को बंद नहीं किया जा रहा है। यहां मिले सभी संक्रमित स्कूल नहीं जा रहे थे। ऐसे में वहां संक्रमण का फिलहाल खतरा नहीं दिख रहा।

जिले में ढाई महीने बाद मिले कोरोना संक्रमित
जिले में दूसरी लहर के बाद से कोरोना संक्रमण के एक भी केस सामने नहीं आए थे। करीब ढाई महीने बाद फिर से मिलना शुरू हो गए हैं। पिछले दो दिनों में जिले में संक्रमण के 6 नए मामले आए हैं। इनमें मरवाही जनपद पंचायत के दो कर्मचारी भी शामिल हैं। इस बात की पुष्टि कलेक्टर नम्रता गांधी ने भी की है। उन्होंने जिले में सख्ती से कोरोना गाइडलाइन के पालन कराने के लिए अफसरों को कहा है। इसके बाद पालन नहीं करने वालों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने समुदाय में संक्रमण फैलने की आशंका जताई है।

आज से जिले में मुनादी, कल से चेकिंग शुरू होगी

  • जिले में थानों की पुलिस आज पेट्रोलिंग कर रही है, नगर पंचायतों में CEO, ग्राम पंचायतों में कोटवार इसकी मुनादी करा रहे हैं।
  • लोगों को जांच और वैक्सीन के प्रति जागरूक करने के साथ ही गाइडलाइन का पालन सुनिश्चित कराया जा रहा है।
  • रविवार से मास्क नहीं पहनने, नियमों को नहीं मानने वालों पर कार्रवाई शुरू की जाएगी।
  • रविवार को हाट बाजार में भी कार्रवाई शुरू की जाएगी।
  • सभी धान समितियों में पल्स ऑक्सीमीटर, थर्मल स्कैनर अनिवार्य। रैंडम स्क्रीनिंग होगी।
  • जिले में टेस्टिंग बढ़ाई जाएगी। टारगेट बेस्ड टेस्टिंग की जाएगी।
  • कांटेक्ट ट्रेसिंग टीम, डोर टू डोर टीम की संख्या बढ़ाई जाएगी।
  • आइसोलेशन सेंटर में बेड, ऑक्सीजन, टॉयलेट, पानी की व्यवस्था करनी है। डॉक्टर, नर्स के ड्यूटी चार्ट तैयार कर लें।
  • गांव में अगर कम्युनिटी का खतरा है तो उसे सील कर दें। वहां जांच कराई जाएगी टीम भेजकर।

रायगढ़, कोरबा और बलरामपुर के स्कूलों में पहुंचा संक्रमण
कोरोना संक्रमण प्रदेश के रायगढ़, कोरबा और बलरामपुर के स्कूलों में दस्तक दे चुका है। रायगढ़ में 26 नवंबर को संक्रमण के चलते एक टीचर की मौत भी हो चुकी है। वहीं दो दिन पहले कोरबा में एक टीचर पॉजिटिव मिला था। रिपोर्ट आने के बाद भी वह स्कूल में पढ़ाने के लिए जा रहा था। वहीं बलरामपुर में गुरुवार को एक ही स्कूल की 6वीं क्लास की दो छात्राएं संक्रमित मिली हैं।

खबरें और भी हैं...