पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

हादसा:कन्हर नदी के एनीकट में नहा रही बच्ची की डूबने से मौत

रामानुजगंज9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिता के साथ नहाने के लिए गई थी बच्ची, डाउन स्ट्रीम का फर्श बना होता हो बच सकती थी जान

मां महामाया मंदिर के समीप कन्हर नदी में बने एनीकट से नहाते समय बच्ची की डूब जाने से मौत हो गई। एनीकट में नहाने के दौरान 5 वर्षीय मासूम का पैर फिसल गया जिससे वह बह गई। एनीकट के डाउन स्ट्रीम फ्लोर का फर्श बना होता तो बच्ची को बचाया जा सकता था लेकिन डाउन स्ट्रीम फ्लोर में फर्श की जगह चट्टान है और तेज बहाव के कारण वहां गड्ढा हो गया है जिससे आए दिन लोगों की जान जा रही है। रविवार दोपहर साढ़े बारह बजे के लगभग छत्तीसगढ़ की सीमा से सटे झारखंड के ग्राम गोदरमाना के महेश सिंह अपने तीन बच्चों के साथ एनीकट में नहाने आए थे। इसी दौरान 5 वर्षीय पुत्री सपना कुमारी का एनीकट में पैर फिसला और वह बहने लगी। बहते हुए बच्ची 500 मीटर आगे निकल गई। नगर के साहसी युवकों ने नदी में बच्ची को बचाने के लिए छलांग लगा दी, जिसके बाद मुश्किल से बच्ची को निकाला गया। बच्ची को निकालने के तत्काल बाद स्वास्थ्य केंद्र लाया गया पर बच्ची की मौत हो गई थी। लाेगों का कहना है कि सपना को तैरना आता था। दो मोह के भीतर ये दूसरी मौत है। इस संबंध में नगर पंचायत अध्यक्ष रमन अग्रवाल का कहना है कि प्रशासन को इस मामले में संज्ञान लेना चाहिए।

नीचे फर्श नहीं होने से संभलने का नहीं मिला मौका
5 वर्षों में एनीकट से फिसलने से कई लोगों की मौत हो गई है। कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। इसका एकमात्र कारण है तो एनीकट का भ्रष्टाचार एनीकट बनाने में जल संसाधन विभाग के द्वारा 8 करोड़ रुपए तो खर्च कर दिए गए, लेकिन आज तक डाउनस्ट्रीम फ्लोर का फर्श नहीं बनाया गया। जिसके कारण जब भी कोई एनीकट से गिरता है तो वह संभल नहीं पाता है और उसका सामना चट्टानों व गड्ढे से हो जाता है जिससे उसकी मौत हो जाती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें