पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अवैध कब्जों पर कार्रवाई:कारिछापर के देवकीनंदन ट्रस्ट कमेटी की जमीन पर ग्रामीणों का कब्जा, अब सीमांकन प्रक्रिया शुरू

सीपत5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
तहसील के अफसरों ने पहले ही दिन 2 एकड़ भूमि का सीमांकन किया। - Dainik Bhaskar
तहसील के अफसरों ने पहले ही दिन 2 एकड़ भूमि का सीमांकन किया।
  • निगम बिलासपुर की है जमीन, निरीक्षण करने पहुंचे तहसील के अफसर

सीपत उप तहसील के ग्राम कारिछापर स्थित देवकीनंदन ट्रस्ट कमेटी नगर निगम बिलासपुर के 77 एकड़ जमीन पर सीमांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इस जमीन के ज्यादातर हिस्सों पर ग्रामीणों ने अवैध कब्जा कर लिया है। भूमि सीमांकन के लिए अतिरिक्त तहसीलदार सीपत ने 7 सदस्यीय टीम का गठन किया है। इसमें 5 पटवारी और 2 आरआई शामिल हैं। यह टीम नगर निगम के साथ मिलकर सीमांकन की प्रक्रिया को अंजाम देंगी।

बता दें कि पंडित देवकीनंदन दीक्षित ने ग्राम पंचायत जुहली के आश्रित ग्राम कारिछापर स्थित अपने 76 एकड़ 87 डिसमिल भूमि को सन 1943 में तत्कालीन नगर पालिक निगम परिषद (वर्तमान में नगर निगम बिलासपुर) को दान कर दिया था। इस भूमि का हर 3 वर्ष में नगर निगम द्वारा धान की खेती करने के लिए इश्तहार प्रकाशन के बाद गांव में ही अमानत राशि जमा कराकर आम नीलामी करते आ रहा है लेकिन धीरे-धीरे नगर निगम के अधिकारियों ने इस ओर ध्यान देना बंद कर दिया।

नतीजा यह निकला कि उस 77 एकड़ जमीन के अधिकांश हिस्सों में ग्रामीणों ने कब्जा कर लिया। कुछ लोगों ने मकान भी बना लिए हैं तो कुछ लोगों ने कब्जा कर दूसरों को जमीन बेंच दी है। अब सीमांकन के बाद स्थिति साफ होगी कि कितनी जमीन पर कितने लोगों ने कब्जा किया हुआ है।

1943 में पंडित देवकीनंदन दीक्षित दान दी थी जमीन
पंडित देवकीनंदन दीक्षित ने उस जमीन को सन 1943 में नगर पालिक परिषद को दान में दिया था। इसके बाद उस पूरी जमीन का मुखिया वर्तमान में नगर पालिक निगम बिलासपुर है। लेकिन निगम के अधिकारियों ने तब से इस ओर ज्यादा ध्यान नही दिया। इस जमीन का उपयोग भी नहीं किया। यही कारण है कि दान की भूमि पर लोगों ने कब्जा कर लिया।

निगम के पत्र के बाद राजस्व टीम का गठन
सीपत अतिरिक्त तहसीलदार तुलसी राठौर ने बताया कि बिलासपुर नगर पालिक निगम आयुक्त के पत्र मिलने के बाद 5 पटवारी और दो राजस्व निरीक्षकों की टीम का गठन किया गया है। ये नगर निगम की टीम के साथ ग्राम कारिछापर के देवकीनंदन ट्रस्ट की जमीन का सीमांकन करेंगे। ज्यादातर जमीनों पर कब्जा कर लिया गया है।

77 एकड़ जमीन गांव के अलग-अलग स्थान पर
मंगलवार को अतिरिक्त तहसीलदार तुलसी राठौर, नायब तहसीलदार नीलिमा अग्रवाल की मौजूदगी में सीपत आरआई प्रदीप शुक्ला, अब्दुल कादिर खान तथा नगर निगम इंजीनियर जुगल किशोर एवं पटवारियों ने कारिछापर पहुंचकर जमीन का निरीक्षण किया और ग्रामीणों की उपस्थिति में पहले ही दिन दो एकड़ भूमि का सीमांकन किया। मालूम हो कि दान की 77 एकड़ जमीन गांव के अलग-अलग स्थानों पर है। इसमें लगभग 150 के आसपास खसरा नंबर है।

खबरें और भी हैं...