पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोराेना संक्रमण रोकने की कोशिश:शादियों पर कलेक्टर ने लगाई रोक, दी गई अनुमति भी निरस्त

सूरजपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कलेक्टर ने एसडीएम से आदेश जारी करने के दिए निर्देश, नहीं मानने वालों पर होगी कार्रवाई

सरगुजा संभाग में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा ने जिले में शनिवार से आयोजित होने वाले शादी समारोह को आगामी आदेश तक निरस्त करने के निर्देश दिए हैं। बता दें कि लोग शादी समारोह आयोजित करने अनुमति लेकर भीड़ जुटा रहे थे। गुरुवार को मुख्यमंत्री ने भी इस पर चिंता जताई थी।

इसके बाद कलेक्टर ने जिले में सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं तहसीलदार द्वारा जितनी भी शादी की अनुमति दी गई हैं, उनमें से आज आयोजित होने वाली शादी को छोड़कर शनिवार से आयोजित होने वाली समस्त शादी की अनुमति तत्काल प्रभाव से निरस्त करने की व्यवस्था सुनिश्चित करने कहा है। उन्होंने लिखित में आदेश भी जारी करने कहा है व संबंधित से पावती अनिवार्य रूप से प्राप्त करने कहा है। कलेक्टर ने आदेश का उल्लंघन करने वाले के खिलाफ कार्रवाई करने कहा है। वहीं लोगों का मानना है कि संभाग के सभी जिलों में इस तरह के आदेश जारी कर शादी समारोह के लिए दी अनुमति काे निरस्त करने की जरूरत है, वरना गावों में कोरोना को रोकना मुश्किल हो जायेगा।

लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर दुकान सील
लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर भैयाथान रोड स्थित सूरजपुर में गुप्ता स्टील और अनुष्का गारमेंट्स को सील कर दिया गया है। दोनों दुकानदार हाफ शटर खोलकर ग्राहकों को सामान बेच रहे थे। जिस पर जिला व पुलिस प्रशासन द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए दोनों दुकान सील कर दी गईं। कार्यवाही में तहसीलदार नंदजी पांडे, नायाब तहसीलदार ओपी सिंह, थाना प्रभारी बसंत खलखो, नगर पालिका की टीम व पुलिस अमला उपस्थित रहा।

शादी में भीड़ से अंचलों में कोरोना विस्फोट, 7 गांवों में टेंट व डीजे जब्त
कलेक्टर संजीव कुमार झा के निर्देश पर प्रशासनिक अमला ग्रामीण क्षेत्रों में शादी, दशगात्र, छठी व अन्य सामाजिक कार्यक्रमों की मॉनीटरिंग कर कार्रवाई कर रहा है। एसडीएम प्रदीप साहू ने बताया कि 6 मई को अंबिकापुर जनपद के ग्राम पंचायत सोनबरसा, टपरकेला, लक्ष्मीपुर, सकालो, श्रीगढ़, रजनीपुरी खुर्द और भकुरा में वैवाहिक कार्यक्रमों का निरीक्षण किया गया।

यहां आयोजन में अधिक मेहमान होने के कारण टेंट व डीजे जब्त कर जुर्माना लगाया गया। कार्यक्रम अधिक लोगों को शामिल नहीं करने समझाइश दी गई। कलेक्टर ने अपील की कि शादी, छठी या अन्य मांगलिक कार्यक्रम घरेलू स्तर में निपटाएं। किसी भी कार्यक्रम में 10 से अधिक व्यक्तियों को शामिल न करें। गांवों में कोरोना के प्रसार का मुख्य कारण यही है। एसडीएम ने सभी टेंट, डीजे संचालकों से अपील की है कि किसी भी प्रकार के सामाजिक कार्यक्रमों में भाग न लें और सामान को किराए में न दें। गाइडलाइंस का पालन नहीं करने पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...