पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गड़बड़ी:टोकन कटाने के लिए किसान लगा रहे समिति के चक्कर, कलेक्टर से शिकायत

सूरजपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आदिम जाति सेवा सहकारी समिति जयनगर के तेलईकछार का मामला

जिले की आदिमजाति सेवा सहकारी समितियों में लगातार अनियमितताओं के मामले सामने आ रहे हैं। कहीं किसानों के नाम पर फर्जी कागजों के सहारे धान बेचने तो कहीं किसानों के खाते से रुपए निकालने की शिकायतें लगातार सामने आ रही हैं। इसके बाद भी प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। आदिमजाति सेवा सहकारी समिति जयनगर के प्रबंधक पर एक किसान के नाम पर 38 क्विंटल धान बेचने का मामला सामने आया है। किसान ने इसकी शिकायत थाना सहित एसडीएम से की है। जानकारी के अनुसार आदिमजाति सेवा सहकारी समिति जयनगर के किसान तेलईकछार निवासी सुरेश कुमार गुप्ता ने समिति प्रबंधक के खिलाफ मुख्यमंत्री, कलेक्टर, एसडीएम और थाने में शिकायत करते हुए बताया कि वह अपने 38 क्विंटल धान को बेचने के लिए पिछले 15 दिनों से टोकन कटाने के लिए जयनगर समिति जा रहा था। वहां प्रबंधक हर रोज टाल-मटोल कर वापस कर देता था। किसान ने बताया कि जब उसने कलेक्टर के पास शिकायत करने की बात कही तो समिति प्रबंधक ने बोला कि आपके खाते में मैंने धान बेच दिया है। अब आपकी धान बिक्री के लिए टोकन नहीं कटेगा और आपको जो करना है। जहां शिकायत करनी है कर लो, मेरी ऊपर तक सेटिंग है। मेरा कोई कुछ नहीं कर सकता। पीड़ित किसान ने बताया कि उसने जब समिति प्रबंधक को कहा कि उसे बताए बिना ऐसा क्यों किया तो किसान के साथ अभद्र व्यवहार कर सोसायटी से भगा दिया गया। किसान ने समिति प्रबंधक के इस फर्जीवाड़े की शिकायत कलेक्टर, एसडीएम और पुलिस थाने में की है। शिकायत में समिति प्रबंधक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इसी तरह एक मोतियाबिंद से पीड़ित किसान के खाते में 69 क्विंटल धान बेचने का मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार आदिमजाति सेवा सहकारी समिति बसदेई के उपकेंद्र के पतरापारा निवासी किसान राम प्रसाद पुत्र कोंदुल गोड़ को आंख से कम दिखता है। उन्होंने बताया कि इस साल 10 खण्डी में धान बोई थी, जिसमें 3 क्विंटल की पैदावार हुई है। पुत्र की मौत हो चुकी है और बहू, नाती के साथ एक घर में रहते हैं। किसान का कहना है कि आज तक धान खरीदी समिति और बैंक नहीं गए। वहीं समिति के दस्तावों किसान राम प्रसाद का किसान क्रमांक टीएफ 3900160101089 है। जिसमें 3 दिसंबर को 69.20 क्विंटल धान बेचना दिखाया गया है। जिसका समर्थन मूल्य 130649.60 रुपए किसान के बैंक खाते में पहुंच गया है। वहीं बोनस के भी 42 हजार 350 रुपए मिलेंगे। वहीं किसान के बैंक जाए बिना ही खाते से रुपए भी निकाले जा चुके हैं। इस संबंध में राम प्रसाद ने बताया कि हमारे दस्तावेज को हमारे ही गांव का एक व्यक्ति ले गया था, इसके बाद हमें कोई जानकारी नहीं है। बोनस मिलने के मामले में कहते हैं कि दाऊ लान दिहा, मैं तो आंखी नहीं देखतो, जो बन ही तुमन ला भी आने-जाने का खर्च दे दूंगा। ऐसे में साफ झलकता हैं कि प्रबन्धक डुमरिया, पटवारी फूड विभाग, सहकारी बैंक की मिली भगत से किसानों के नाम से फर्जी तरीके से कागजों में धान बेचने का खेल लंबे समय से चल रहा है। इस संबंध में जिले के प्रभारी फूड ऑफिसर संदीप भगत से बात करने की कोशिश की। लेकिन, उन्होंने बात नहीं की।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें