अव्यवस्था:सूरजपुर जिले के स्कूलों में कई महीनों से वितरण नहीं किया सैकड़ों क्विंटल चावल

सूरजपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • फूड विभाग के अफसरों की लापरवाही के कारण वितरण नहीं हो पाया

जिला मुख्यालय से 15 किमी दूर स्थित ग्राम पंचायतों के लोग शासन की योजनाओं से वंचित हैं। यहां स्कूली बच्चों को मिलने वाले मिड डे मील के सूखे राशन का विकासखंड शिक्षा अधिकारी, फूड विभाग के अफसरों की लापरवाही के कारण वितरण नहीं हो पाया है। जबकि, महीनों से चावल का टोकन लेकर कागजों में ही चावल का वितरण किया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक सूरजपुर विकासखंड के ग्राम कुंजनगर में सूखा राशन वितरण कार्यक्रम के तहत शासन से जारी खाद्यान्न कूपन का राशन ग्राम पंचायत में संचालित सभी प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों को वितरण कराया जाना था। इसके लिए लक्ष्मी स्व सहायता समूह कुंजनगर को जिम्मेदारी सौंपी गई है। ग्रामीणों ने बताया कि माध्यमिक शाला में कुल खाद्यान्न की मात्रा 13 क्विंटल 10 किलो निर्धारित थी। जिसमें से 11 क्विंटल 10 किलो राशन अक्टूबर 2020 से जनवरी 2021 तक नहीं भेजा गया। माशा स्टेशन पारा में कुल खाद्यान 4.10 क्विंटल राशन नहीं बांटा गया है। प्राशा कुंजनगर में 8.20 क्विंटल में से 7.20 क्विंटल नहीं भेजा गया। इसी तरह प्राशा झारपारा में 4.10 क्विंटल चावल नहीं दिया गया। प्राशा स्टेशन पारा में 4.10 क्विंटल नहीं दिया गया। इसके साथ ही शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला कुंजनगर में खाद्यान्न उठाव 20 सितंबर से नहीं हो पाया है। इसी तरह अन्य विद्यालयों में भी महीनों से चावल का वितरण नहीं किया गया है। बता दें कि इससे पहले यह समूह शासकीय उचित मूल्य की दुकान का संचालन कर रहा था। इस दौरान राशन में अनियमितता बरतने की शिकायत मिली। इसके बाद भी प्रशासन ने कोई कार्रवाई करना उचित नहीं समझा। वहीं कुछ दिन बाद प्रशासन ने दुकान संचालक को निलंबित कर दिया। इसके बाद भी उसी समूह के सदस्यों से राशन का वितरण कराया जा रहा है। इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी विनोद राय ने बताया कि मामले की जानकारी मिली है। खंड शिक्षा अधिकारी से बात कर मामले की जांच करते हैं।

खबरें और भी हैं...