हाॅकी व एथलेटिक्स की प्रतिभाओं को निखारेगा बीएसपी:जयंती स्टेडियम में बिछेगा एस्ट्रोटर्फ, एथलेटिक्स ट्रैक भी बनाया जाएगा

भिलाई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भिलाई के जयंती स्टेडियम को ही अंतरराष्ट्रीय स्तर के हॉकी मैदान के रूप में डवलप किया जाएगा। - Dainik Bhaskar
भिलाई के जयंती स्टेडियम को ही अंतरराष्ट्रीय स्तर के हॉकी मैदान के रूप में डवलप किया जाएगा।

जयंती स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय स्तर का हाॅकी मैदान बनाया जाएगा। 30 करोड़ की लागत से हालैंड की तकनीक का एस्ट्रोटर्फ बिछाया जाएगा। सिंथेटिक एथलेटिक्स ट्रैक भी बनेगा। एक बालिका खेल हॉस्टल भी बनाया जाएगा। यहां उनके रहने, खाने और खेलने की व्यवस्थाएं रहेंगी। कोच राष्ट्रीय स्तर के होंगे, जो उन्हें खेल की तकनीक व बारीकियां बताएंगे।

अभी सेल के राउरकेला स्टील प्लांट में एक बालक खेल हॉस्टल है। भिलाई में बालिका हॉस्टल बन जाने से महिला खिलाड़ियों को सहुलियत होगी। अभी भिलाई में तमाम खेलों के स्टेडियम और मैदान हैं, लेकिन राष्ट्रीय खेल हॉकी और एथलेटिक्स के लिए आधुनिक सुविधाओं की जरूरत बहुत दिन से महसूस की जा रही थी। कड़े प्रशिक्षण के बाद भी हॉकी के खिलाड़ी एस्ट्रोटर्फ मैदान नहीं होने की वजह से राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अनुकूल प्रदर्शन नहीं कर पा रहे थे।

अंतरराष्ट्रीय स्तर के मैचों का भी आयोजन किया जा सकेगा

रायपुर और राजनांदगांव के बाद अब भिलाई में भी एस्ट्रोटर्फ मैदान हो जाएगा। तीनों शहरों के बीच आपस में 40-40 किलोमीटर की दूरी है। इससे तीनों मैदान में एक साथ अतंरराष्ट्रीय स्तर के मैचों का आयोजन किया जा सकेगा। तीनों स्थान एक दूसरे से नजदीक है।

  • 05 मीटर और चौड़ा रहेगा वास्तविक मैदान से
  • 05 एजेंसियां अभी तक अनुबंध के लिए दे चुकी प्रजेंटेशन
  • 05 एस्ट्रोटर्फ हो जाएगा इसके बनने से छग में।

डेढ़ दर्जन से ज्यादा खिलाड़ी दूसरे शहरों में ले रहे ट्रेनिंग
भारतीय हॉकी टीम की पूर्व कप्तान सबा अंजुम, अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी बलविंदर कौर मेहरा समेत दुर्ग जिले से 30 महिला व 50 पुरुष हॉकी खिलाड़ी निकले हैं। इनमें से 42 खिलाड़ी नेशनल खेल चुके हैं। देश-विदेश में राज्य और शहर का नाम रोशन किया। अभी भिलाई के डेढ़ दर्जन खिलाड़ी बिलासपुर और राजनांदगांव समेत देश के अन्य खेल हॉस्टल में ट्रेनिंग ले रहे हैं।

पांच एजेंसियां दे चुकी है प्रजेंटेशन, जल्द काम होगा
बीएसपी के महाप्रबंधक (खेल, संस्कृति और नागरिक सुविधाएं) सही राम जाखड़ ने बताया कि जयंती स्टेडियम में एस्ट्रोटर्फ बनाने के लिए अभी तक पांच एजेंसियों ने अपना प्रजेंटेशन दिया है। कुछ और एजेंसियों ने अनुबंध के लिए संपर्क किया है। आने वाले दिनों में इनमें से किसी एक को काम दिया जाएगा। इसके बाद एस्ट्रोटर्फ बिछाने का काम शुरू होगा।

राज्य में 5 एस्ट्रोटर्फ हॉकी मैदान हो जाएंगे, मिलेगी सुविधा

बीएसपी राष्ट्रीय खेल में अपना योगदान देने के उद्देश्य से जयंती स्टेडियम को पुन: संवार रहा है। हॉकी खेल के अनुकूल बना रहा है। अभी राज्य में रायपुर साइंस कॉलेज में दो, बिलासपुर और राजनांदगांव में 1-1 एस्ट्रोटर्फ मैदान हैं। रायपुर में वर्ल्ड कप का आयोजन भी चुका है।

राजनांदगांव और बिलासपुर में भी राष्ट्रीय स्तर के खेल आयोजन हाे चुके हैं। यहां के खिलाड़ी राष्ट्रीय शिविरों में भी शामिल हो रहे हैं। भिलाई में एस्ट्रोटर्फ मैदान हाेने से अब यहां के खिलाड़ियों काे भी खेल की बेसिक जानकारी मिल सकेगी। साथ ही उन्हें तैयारी करने में भी सुविधा हाेगी।

खबरें और भी हैं...