बढ़ता संक्रमण खतरे की घंटी:119 दिन बाद कोरोना फिर 100 के पार, 151 दिन बाद गर्भवती सहित 36 नए संक्रमित मिले

भिलाईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल में रोजोना जांच के लिए पहुंचने वाले मरीज बढ़ रहे हैं, मास्क किया अनिवार्य। - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल में रोजोना जांच के लिए पहुंचने वाले मरीज बढ़ रहे हैं, मास्क किया अनिवार्य।

151 दिन बाद जिले में एक गर्भवती सहित फिर कुल 36 नए कोरोना मरीज मिले हैं। पहले मिल चुके मरीजों में 3 की रिकवरी होने के बाद भी एक्टिव मरीजों की संख्या 100 के पार चली गई है। दुर्ग अब प्रदेश में दूसरा सर्वाधिक एक्टिव मरीज वाला जिला हो गया है। संक्रमितों में दो पुलिस बल के जवान, 1 फॉरेस्ट डिपार्टमेंट की कर्मचारी और एक हेल्थ वर्कर भी शामिल है। इससे पहले 27 फरवरी 2022 को एक्टिव मरीजों की संख्या 108 थी। उसके बाद से निरंतर घटते हुए मई के अंतिम सप्ताह तक शून्य पर पहुंच गई थी।

1 जून से पुन: बढ़ने लगी और 26 दिनों में एक बार फिर 100 के पार चली गई है। नए संक्रमितों में सबसे ज्यादा 25 मरीजों की उम्र 18 से 44 वर्ष के बीच है। 8 मरीज 45 से 60 वर्ष के बीच के और 2 की उम्र 60 वर्ष से अधिक है। इनमें एक मरीज 3 वर्ष का बच्चा भी है।

परिवार के एक और सदस्य के संक्रमित होने के साथ वह भी चपेट में आ गया है। नए मरीजों से जिले में अबतक मिले कुल कोरोना मरीजों की संख्या 116382 हो गई है। इनमें 114393 मरीज रिकवर हुए और 1897 ने दौरान इलाज या होम आइसोलेशन में दम तोड़ दिया है। इस प्रकार जिले में एक बार फिर कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं। इसे लेकर हेल्थ विभाग ने अलर्ट भी जारी कर दिया है। सर्दी-बुखार पर कोरोना जांच की सलाह दी गई है।

महिलाएं ज्यादा संक्रमित, इसमें गर्भवती शामिल
रविवार को जिले मे मिले कुल 36 नए कोरोना मरीजों में महिला व पुरुष की संख्या बराबर है। 36 में 18 पुरुष और 18 महिलाएं भी चपेट में आईं हैं। पिछले 25 दिनों में मिले कोरोना मरीजों के आंकड़ों को देखें तो पुरुष से ज्यादा महिलाएं संक्रमित हुई हैं।

3 वर्ष का बच्चा व 84 वर्ष के बुजुर्ग चपेट में
नए संक्रमित मरीजों में सबसे कम उम्र का 3 वर्ष का बच्चा है। साईं नगर निवासी इस बच्चे के परिवार से एक और सदस्य की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी बोरसी निवासी 84 वर्षीय बुजुर्ग नए कोरोना मरीजों में सबसे ज्यादा उम्र दराज हैं।

संक्रमितों में 4 परिवार के दो-दो सदस्य भी शामिल
रविवार को मिले कुल 36 नए मरीजों में कुल 8 लोग चार परिवार के सदस्य हैं। इसमें एक परिवार पुलिस लाइन व न्यू पुलिस लाइन, दूसरा बोरसी हाउसिंग बोर्ड कालोनी, तीसरा आजाद चौक कसारीडीह ओर चौथा साईं नगर बघेरा का रहने वाला है।

सबसे ज्यादा मामले दुर्ग शहर में सामने आ रहे
16 मरीज दुर्ग - बोरसी, मिलपारा, कसारीडीह, न्यू पुलिस लाइन, साईं नगर, न्यू आदर्श नगर
09 मरीज भिलाई- फारेस्ट एवेन्यू, शांति नगर, वैशाली नगर, राम नगर, मोती लाह नेहरूनगर
05 मरीज रिसाली- मराेदा, प्रगति नगर, रिसाली सेक्टर, कलाकृति परिसर, रुआबांधा सेक्टर
नाेट- शेष मरीजों में 4 मरीज धमधा के, 1 केस पाटन और 1 निकुम में मिला।

राहत की बात : गंभीर कोई मरीज नहीं

पिछले 15 दिनों से कोरोना के नए मरीजों की संख्या जरूरत बढ़ती जा रही है। लेकिन राहत की बात यह कि 111 दिन हो गए, अबतक जिले के किसी कोरोना मरीज की कहीं मौत नहीं हुई है। हालांकि इस बीच यहां के कई संक्रमित मरीज रायपुर और जिले के सरकारी व निजी अस्पतालों में भर्ती रहे हैं। इलाज के बाद सबकी हालत सुधर गई है।

जिले की कोरोना मौतों के आंकड़ा 1897 पर ठहरा है। इस प्रकार जिले में संक्रमण की दर जरूर बढ़ी है, लेकिन गंभीर मरीजों की संख्या अब भी कम है। मौतें भी नहीं हुई हैं, हालांकि एहतियात के तौर पर हेल्थ विभाग ने अस्पतालों में इलाज की सुविधाएं अपडेट की हैं। कोरोना जांच के लिए नए फीवर क्लीनिक भी खोलने की तैयारी की जा रही है। ताकि जांच में किसी प्रकार की दिक्कत न हो।

खबरें और भी हैं...