संविदा नियुक्ति देकर मनचाहे पद देने का खेल:यहां रिटायरमेंट के बाद भी कई लोग नौकरी कर रहे; अधिकारी बोले-पर्याप्त स्टाफ नहीं है

भिलाईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भिलाई नगर निगम। - Dainik Bhaskar
भिलाई नगर निगम।

भिलाई नगर निगम में संविदा नियुक्ति देकर रिटायर हो रहे अधिकारियों को उनके मनचाहे पद पर बने रहने का अनोखा खेल खेला जा रहा है। इससे रिटायरमेंट के बाद भी संबंधित अधिकारी संविदा कर्मी होने के बाद भी मलाईदार पद पर कार्य कर रहे हैं ।

अगर आप भिलाई नगर निगम में अधिकारी हैं और आपकी पहुंच नगर सरकार या निगम प्रशासन तक है तो आप रिटायरमेंट के बाद भी अपने पद पर कार्य करते रह सकते हैं। भिलाई निगम में इस तरह के एक दो नहीं बल्कि कई मामले हैं, जहां रिटायरमेंट के बाद भी अधिकारी संविदा कर्मी बनकर अपने पद पर पहले की तरह ही कार्य कर रहे हैं, और तो और उन्हें वित्तीय अधिकार तक दिए गए हैं। इससे वह धड़ल्ले से बिल भुगतान के चेक काट रहे हैं।

निगम आयुक्त बोले-पर्याप्त स्टाफ नहीं

इस बारे में निगम आयुक्त प्रकाश सर्वे का कहना है कि तुलसी वृंदा देवांगन की संविदा नियुक्ति का प्रस्ताव एमआईसी से पास करके शासन को भेजा गया है। संविदा कर्मी से काम इसलिए लिया जा रहा है, क्योंकि निगम के पास पर्याप्त स्टाफ नहीं है। रही बात वित्तीय पावर की तो वह संविदा कर्मी को नहीं दिया जा सकता है। आर.के सोनी एकाउंट अफसर थे, वे बिल भुगतान करते हैं। उन्हें वित्तीय अधिकार नहीं दिया गया है।

केस -1 – तुलसी वृंदा देवांगन ये स्थापना शाखा में अधीक्षक के पद पर कार्यरत हैं। 30 जून 2022 को इनका रिटायरमेंट है। रिटायरमेंट से पहले ही न जाने ऐसा क्या हुआ कि निगम की एमआईसी ने उनको संविदा नियुक्ति देने का प्रस्ताव पास कर दिया। उस प्रस्ताव को मंजूरी के लिए राज्य शासन के पास भेजा गया है। मंजूरी मिलने के बाद तुलसी वृंदा देवांगन संविदा कर्मी कहलाएंगी, लेकिन उन्हें अधीक्षक स्थापना का ही प्रभार दिया जाएगा।

केस 2 – आर.के सोनी साल 2021 में निगम में सहायक लेखाधिकारी के पद से रिटायर हुए थे। इसके बाद निगम ने उन्हें संविदा नियुक्ति दे दी। तब से लेकर आज तक सोनी सहायक लेखाधिकारी के पद पर ही कार्य कर रहे हैं और तो और निगम आयुक्त ने उन्हें वित्तीय अधिकार तक दे दिए हैं, जिससे वो संविदा कर्मी होने के बाद भी निर्माण कार्यों सहित अन्य भुगतान के बिल काट रहे हैं।

केस 3- लक्ष्मण उपाध्याय नगर निगम भिलाई का काफी चर्चित नाम है। लक्ष्मण निगम में सहायक अधीक्षक राजस्व के पद पर कार्यरत थे और पिछले साल 2021 में रिटायर हो चुके हैं। इसके बाद इन्हें निगम में संविदा नियुक्ति दी गई और उसके बाद से आज तक वह सहायक अधीक्षक राजस्व के पद पर ही कार्य कर रहे हैं।

केस – 4 परमेश्वर चंद्राकर जोन 1 के तोड़फोड़ दस्ता टीम के प्रमुख हैं। ये कुछ महीने पहले तक भिलाई नगर निगम में सहायक राजस्व अधिकारी जोन क्रमांक एक के पद पर कार्यरत थे। कुछ महीने पहले ही साल 2022 में ये रिटायर हो गए। निगम में शासन प्रशासन दोनों में अच्छी पकड़ थी। इससे इन्हें संविदा नियुक्ति मिली और रिटायरमेंट के बाद भी वो जोन एक में तोड़फोड़ दस्ता प्रमुख के रूप में कार्य कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...