भिलाई में CM बघेल करेंगे हाईटेक नर्सरी का लोकार्पण:सिकोला गांव में 3 करोड़ की लागत से हुई तैयार; एक्जॉटिक पौधों की बढ़ेगी प्रतिरोधक क्षमता

भिलाई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हाईटेक नर्सरी को देखते कलेक्टर व अन्य अफसर। - Dainik Bhaskar
हाईटेक नर्सरी को देखते कलेक्टर व अन्य अफसर।

पाटन तहसील के सिकोला गांव में बनी हाई टेक नर्सरी का लोकार्पण मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सोमवार को करेंगे। यह नर्सरी 3 करोड़ 8 लाख रुपए की लागत से तैयार की गई है। मुख्यमंत्री जशपुर के कार्यक्रम में शामिल होकर हेलीकॉप्टर से दोपहर 2 बजे पाटन पहुंचेंगे। इसके बाद सड़क मार्ग से शाम 4.40 बजे सिकोला पहुंचकर हाई टेक नर्सरी का उद्घाटन करेंगे।

दुर्ग कलेक्टर डॉ. एसएन भुरे ने बताया कि इस नर्सरी में 94 लाख रुपए की लागत से नैचुरली वेंटिलेटेड शेड, नेट हाउस और ग्रीन हाउस को फैन कूलिंग सिस्टम के साथ तैयार किया गया है। यहां बने पाली हाउस में बीजों का अंकुरण कम समय पर होगा। यह कार्य तापमान और आर्द्रता के नियंत्रण के माध्यम से किया जाएगा। पॉलीहाउस में बाहरी जलवायु का प्रभाव न पड़ने की वजह से यहां कीट पतंगों का प्रकोप नहीं होगा। यहां पौधों को खाद ड्रिप के माध्यम से दिया जा रहा है। यहां फलदार पौधों को भी उत्पादन हो सकेगा।

डीएफओ शशिकुमार ने बताया कि हाइटेक नर्सरी के माध्यम से बड़े पैमाने पर पौधे उगाए जा सकेंगे। इससे पौधरोपण के कार्य को बढ़ावा मिलेगा। इससे तेजी से हरियाली का प्रसार करने की दिशा में कार्य किया जा सकेगा। नर्सरी परिसर में बाउंड्रीवॉल, फॉरेस्ट गार्ड क्वार्टर, एडमिन ब्लॉक, स्टोर बिल्डिंग, सिंचाई व्यवस्था, रोड, टायलेट आदि का निर्माण किया गया है। इसके अतिरिक्त रोपणी में मनरेगा मद से वर्ष 2022-23 में 8.32 लाख की लागत से 50 हजार नग पौधों को तैयार किया जा रहा है।

हाई-टेक नर्सरी की प्रमुख विशेषताएं

  • यहां पौधे काफी कम समय में नैचुरली वेंटिलेशन के चलते पांच गुना से पचास गुना तक वृद्धि दर्ज कर पाएंगे।
  • एक्जाटिक पौधों के आरंभिक सरवाइवल की कठिनाई से भी इस हाई-टेक नर्सरी में बचाव होगा। यहां के सुरक्षित वातावरण में एक्जाटिक पौधों को प्रतिरोधक क्षमता मिल पाएगी।

मातृ छाया पथ का भी अवलोकन करेंगे मुख्यमंत्री

हाईटेक नर्सरी का उद्घाटन करने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शाम 5.10 बजे सिकोला गांव पहुंचेंगे। यहां वो मातृछाया पथ का भी अवलोकन करेंगे। इसके बाद सड़क मार्ग से पाटन तहसील मुख्यालय पहुंचेंगे और हेलिकॉप्टर से रायपुर के धरसीवां तहसील अंतर्गत निमोरा गांव पहुंचेंगे। यहां सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट और उच्च स्तरीय जलागारों का लोकार्पण करेंगे।

खबरें और भी हैं...