सिपाही की पत्नी का खुलासा-पति का है नक्सलियों से संबंध:महिला ने कहा- दहेज के लिए मारता है, परिवार को खत्म कराने की देता है धमकी

भिलाई2 महीने पहले
पीड़ित महिला और उसकी मां ने मामले की शिकायत पुलिस से की है।

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में पदस्थ एक सिपाही की पत्नी ने उसके नक्सलियों से संबंध होने का खुलासा किया है। पत्नी का आरोप है कि राजनांदगांव जिले के मानपुर थाना अंतर्गत एरकोड गांव निवासी छविलाल कचलामे पुलिस विभाग में सिपाही है। उसने शादीशुदा होने की बात छिपाकर महिला से शादी की। उसके बाद दहेज की मांग को लेकर प्रताड़ित करने लगा। जब महिला ने पुलिस में शिकायत की तो वह उसे नक्सलियों से मरवा देने की धमकी दे रहा है। महिला थाना भिलाई में उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

हथखोज भिलाई निवासी लक्ष्मी कचलामे ने अपन पति छविलाल, सास पिला बाई कचलामे और जेठ बंसीलाल कचलामे के खिलाफ दहेज के लिए प्रताड़ित करने का मामला दर्ज कराया है। लक्ष्मी ने अपनी शिकायत में बताया है कि उसकी शादी 29 जून 2020 को सामाजिक रीति रिवाज से छविलाल कचलामे से हुई थी। शादी में उसके पिता ने अपनी हैसियत के मुताबिक दहेज भी दिया था।

शादी के कुछ दिन तक वह पति के साथ किराए के मकान पर रही, उसके बाद अगस्त 2020 से मानपुर पुलिस क्वार्टर में रहने लगी थी। वहां छविलाल उसकी सास और जेठ दहेज न लाने की बात को लेकर उसे प्रताड़ित करने लगे। छविलाल उसे मारता पीटता भी था। इसी दौरान लक्ष्मी गर्भ से हो गई, लेकिन उसके साथ प्रताड़ना कम नहीं हुई। उसने यह बात अपने माता पिता को बताई। इस पर माता पिता ने ससुरालियों को समझाया, लेकिन जब वह माने तो वो लोग उसे लेकर भिलाई आ गए। इसके बाद छविलाल अपने सास ससुर पर 2 लाख रुपए देने के लिए दबाव बनाने लगा। नहीं देने पर वह ससुराल जाकर हथखोज में भी उनके साथ मारपीट करने लगा।

भिलाई महिला थाना पुलिस इस केस में जांच कर रही है।
भिलाई महिला थाना पुलिस इस केस में जांच कर रही है।

दो शादियों के बाद झूठ बोलकर की थी तीसरी शादी
लक्ष्मी का आरोप है कि छविलाल की पहले से दो शादी हो चुकी थीं और उनका मामला भी कोर्ट में चल रहा है। बिना तलाक लिए उसने शादी की बात छिपाते हुए लक्ष्मी के साथ तीसरी शादी की है। मार्च 2022 में जब लक्ष्मी ने उसका विवाह प्रमाण पत्र देखा तो उसे इसकी जानकारी हुई।

राजनांदगांव में पदस्थ है आरोपी सिपाही।
राजनांदगांव में पदस्थ है आरोपी सिपाही।

नक्सलियों से मरवा देने की दी धमकी
लक्ष्मी ने बताया कि वह पति की प्रताड़ना से तंग आकर 10 अप्रैल 2022 से अपने मायके में आ हई है। इसके बाद भी पति उसे दहेज के लिए प्रताड़ित करता है। वह शराब के नशे में भिलाई पहुंचता है वहां लक्ष्मी उसके माता-पिता के साथ गाली गलौज कर मारपीट करता है। 16 अक्टूबर को भी हथखोज आया था। उसने सभी के साथ जमकर मारपीट की और जान से मरवा देने की धमकी दी। उसने कहा कि वह एक सहायक आरक्षक है। उसकी बहुत सारे नक्सलियों से पहचान है। उनसे बोलकर सभी की हत्या करवा देगा।

लेडी कॉन्स्टेबल ने लगाए थे गंभीर आरोप

लापता रायपुर की लेडी कॉन्स्टेबल की तलाश वृंदावन जाकर पूरी हुई। जब यह युवती पुलिस को मिली तो पूरे केस में एक नई कहानी सामने आई। युवती ने आरोप लगाया है कि साल 2009 में माना के पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में उसके साथ शारीरिक शोषण की कोशिश की गई। युवती ने दावा किया है कि वहां महिला आरक्षकों के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है। अधिकारियों की बात नहीं मानने पर छुट्टी नहीं दी जाती है और ट्रेनिंग के दौरान परेशान किया जाता है। ये पूरा मामला 9 महीने पहले सामने आया था।

लेडी कॉन्स्टेबल ने इस बात की शिकायत की थी मगर मामले को दबा दिया गया। इसके बाद साल 2016 में रायगढ़ में पोस्टिंग के दौरान भी दो अफसरों ने महिला कॉन्स्टेबल को परेशान किया था। उनके खिलाफ महिला ने विभाग में कंप्लेंट भेजी। मगर विभाग की बदनामी होती देख पुलिस हेड क्वार्टर के कुछ आला अफसरों ने युवती पर ही इस्तीफा देने का दबाव बनाया और इन्हीं बातों से परेशान होकर युवती ने रिजाइन कर दिया और वृंदावन चली आई।पढ़ें पूरी खबर