एक गांव में 2 युवकों ने दी जान:कुछ दिन से गुमसुम था युवक, अचानक लगाई फांसी; दूसरे लड़के के खुदकुशी से घर का चिराग बुझा

दुर्ग6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आकाश देवदीप राजपूत। - Dainik Bhaskar
आकाश देवदीप राजपूत।

दुर्ग के मोहलाई गांव में उस समय मातम पसर गया, जब दो अलग-अलग घरों में दो युवक फंदे पर झूल गए। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। दोनों शवों का पंचनामा कर पीएम के लिए भेजा गया। पुलिस परिजनों से पूछताछ कर आत्महत्या के कारणों का पता लगाने में जुटी है।

रविवार को पुलिस को सूचना मिली थी कि मोहलाई निवासी आकाश देवदीप राजपूत पिता संतोष सिंह राजपूत (25 साल) ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। इससे पहले की पुलिस की टीम गांव में पहुंचती, सूचना मिली की उसी गांव के रहने वाले नागेश पटेल पिता गुहरी लाल पटेल (21 साल) ने अपने घर में फांसी लगा ली है। एक समय में एक गांव में दो अलग-अलग घरों में युवकों द्वारा खुदकुशी करने से पुलिस को समझ ही नहीं आया कि ऐसा कैसे हुआ। जब पुलिस मौके पर जांच करने पहुंची तो पता चला कि दोनों घटनाओं में कोई संबंध नहीं। बल्कि यह अचानक एक साथ ही दो घटनाएं हुई हैं।

पुलिस न बताया कि देवदीप दोना पत्तल बनाने का कार्य करता था। उसने फांसी क्यों लगाई यह तो पता नहीं चला। घर वालों का कहना है कि वह पिछले एक हफ्ते से काफी गुमसुम रहता था। किसी से बातचीत नहीं करता था। उसने किसी को इसका कारण नहीं बताया। उसकी मौत से घर में मातम पसरा है।

नागेश पटेल।
नागेश पटेल।

बुझ गया घर का चिराग
इधर, नागेश की मौत से घर का चिराग ही बुझ गया है। नागेश तीन बहनों में अकेला भाई था। उसके पिता मेहनत मजदूरी करते हैं। नागेश भी पढ़ाई लिखाई छोड़कर काम पर जाता था। पुलिस का कहना है कि नागेश ने प्रेम प्रसंग के चलते फांसी लगाई है ऐसा कहा जा रहा है। इसे देखते हुए उसका मोबाइल जब्त कर लिया गया है। पुलिस अब उसका कॉल डिटेल्स निकालेगी। साथ ही परिजनों से भी पूछताछ करेगी।

खबरें और भी हैं...