भगवान के दर्शन कराने के नाम पर ठगी:महिलाओं को लेते थे झांसे में, फिर जेवर लेकर होते थे फरार; 3 गिरफ्तार

भिलाई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महिला से ठगी करता आरोपी। - Dainik Bhaskar
महिला से ठगी करता आरोपी।

छत्तीसगढ़ में एक ऐसा ठग गिरोह सक्रिय है, जो भगवान के साक्षात दर्शन कराने का दावा करता है। जब भोले भाले लोग उनकी बातों में आ जाते हैं तो वे उनके जेवरों की ठगी करके रफूचक्कर हो जाते हैं। दुर्ग पुलिस ने एक ऐसे ही ठग गिरोह गिरफ्तार किया है।

भगवान के दर्शन कराने के नाम पर जेवर की ठगी। ये पढ़कर आप चौंक गए होंगे, लेकिन यह सच है। ये सब कैसे होता है ये दुर्ग पुलिस ने खुद बताया है। एएसपी सिटी संजय ध्रुव ने बताया कि पकड़े गए गिरोह में एक महिला व दो पुरुष शामिल हैं। आरोपियों ने बताया कि उन्होंने 4 मई को डीडी नगर थाना क्षेत्र से एक महिला से जेवरों की ठगी की थी। पुलिस के मुताबिक आरोपी साधु का भेष बदलकर जाता है। वह महिलाओं को अधिक टारगेट करते हैं, क्योंकि महिलाएं जल्द झांसे में आ जाती हैं। साधु के रूप में जाकर आरोपी यह दावा करता है वह भगवान के साक्षात दर्शन कराएगा।

वह झोले में झांककर बोलता है कि देखो भगवान दिख रहे हैं। जब महिला बोलती है कि उसे नहीं दिख रहे तभी उसका दूसरा साथी वहां पहुंचता है और वह देखकर कहता है उसे भी भगवान दिख रहे हैं। इसके बाद साधू बोलता है कि महिला ने सोने के आभूषण पहने हैं, इसलिए भगवान दर्शन नहीं दे रहे। साधू की बातों में आकर महिला जैसे ही जेवर उतारती है, साधू उसके जेवर लेकर अपने दूसरे साथी दे देता है। इसके बाद बोलता है कि भगवान ने उसके जेवर ले लिया। इसके बाद वह महिला को चकमा देकर वहां से भाग जाता है।

पुलिस ने इस ठग गिरोह को किया गिरफ्तार
पुलिस ने इस ठग गिरोह को किया गिरफ्तार

आरोपियों को किया डीडी नगर पुलिस के हवाले

दुर्ग पुलिस के मुताबिक उन्होंने रायपुर पुलिस की सूचना पर भिलाई पावर हाउस स्थित लैंडमार्क होटल से एक महिला व दो पुरुषों को गिरफ्तार किया है। ये लोग वार्ड 1 मालेगांव अमरावती महाराष्ट्र के रहने वाले हैं। गिरफ्तार किए गए ठगों का नाम राजेंद्र किशन शिंदे (45 वर्ष) और धर्मेंद्र दशरथ सावंत (43 वर्ष) है। इनके साथ एक महिला को भी गिरफ्तार किया गया है। इन लोगों के पास से पुलिस ने करीब दो लाख रुपये के जेवरात बरामद किया है। डीडी नगर पुलिस ने सीसीटीवी कैमरों की मदद से दुर्ग पुलिस को टिप दी थी की आरोपी दुर्ग की तरफ गए हैं। तब होटलों में चेकिंग के दौरान उन्हें पकड़ा गया।

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में गिरोह सक्रिय

एएसपी सिटी ने बताया कि यह गिरोह महाराष्ट्र राज्य के अमरावती जिले का रहने वाला है। यह गिरोह छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश राज्य में सक्रिय है। गिरोह के तीन सदस्य पकड़े जा चुके हैं। दूसरे साथियों पकड़ने के लिए पुलिस छापामार कार्रवाई कर रही है।