RTE के लिए हेल्प डेस्क:एडमिशन प्रक्रिया के लिए पैरेंट्स की करेगी मदद; जिला शिक्षा कार्यालय में सुविधा

दुर्ग5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो

शिक्षा का अधिकार RTE के तहत प्रवेश पाने के लिए पालकों को अब ऑनलाइन प्रक्रिया को लेकर परेशान नहीं होना पड़ेगा। शिक्षा विभाग ने पालकों को ऑनलाइन आवेदन भरने में सहयोग के लिए जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में हेल्प डेस्क की व्यवस्था की है।

जिला शिक्षा अधिकारी प्रवास बघेल ने बताया कि उन्हें कई बार यह शिकायत मिली है कि RTE के तहत प्रवेश पाने के लिए पालक ऑनलाइन आवेदन नहीं कर पा रहे हैं। इसके लिए उन्हें दूसरों की मदद लेनी पड़ती है। ऐसे में कई बार वह गलत आवेदन कर दे रहे हैं। उन्हें इन असुविधाओं से निजात दिलाने के लिए जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय दुर्ग में हेल्प डेस्क शुरू की गई है। पालक यहां आकर हेल्प डेस्क पर बैठे एक्सपर्ट से संपर्क कर सकते हैं। एक्सपर्ट उन्हें ऑनलाइन आवेदन करने में पूरी मदद करेंगे।

नोडल अधिकारी करेंगे आवेदनों की जांच

शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत 1 से 15 जुलाई तक का समय द्वितीय चरण के प्रवेश के लिए निर्धारित किया गया है। जिसमें शिक्षा विभाग द्वारा बनाए गए नोडल अधिकारियों को क्षेत्रांतर्गत प्राप्त होने वाले आवेदनों की सूक्ष्मता से जांच करनी है। यदि लॉटरी के बाद दस्तावेज अपूर्ण पाए जाते हैं तो उसकी जवाबदारी संबंधित नोडल अधिकारी की होगी। नोडल अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि यदि पालक निर्धारित समयावधि में दस्तावेज सत्यापन हेतु उपस्थित नहीं होता है तो उन्हें दूरभाष के माध्यम से सूचित कर बुलाया जाए।