प्रयागराज से छत्तीसगढ़ आ रही बस पलटी:बिलासपुर के पास हादसा, 12 यात्री घायल, 3 की हालत गंभीर; तेज रफ्तार के चलते हुई अनियंत्रित

पेंड्रा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रतनपुर के पास बस अनियंत्रित होकर पेड़ से जा टकराई। - Dainik Bhaskar
रतनपुर के पास बस अनियंत्रित होकर पेड़ से जा टकराई।

छत्तीसगढ़ में बिलासपुर के पास बुधवार सुबह प्रयागराज से आ रही यात्री बस पलट गई। हादसे में 12 यात्री घायल हुए हैं। इनमें 3 की हालत गंभीर बताई जा रही है। उन्हें सिम्स रेफर किया गया है। तीनों मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को अस्पताल भिजवाया। हादसे का कारण बस की तेज रफ्तार बताई जा रही है। हादसा रतनपुर थाना क्षेत्र में हुआ है।

जानकारी के मुताबिक, प्रयागराज से नरेश बस सर्विस की CG 27 के 9616 बस बुधवार सुबह करीब 10.30 बजे रायपुर जा रही थी। अभी बस रतनपुर में चपोरा के मुड़ानार के पास पहुंची थी कि अनियंत्रित होकर पेड़ से टकराकर पलट गई। टक्कर इतनी जोरदार थी कि बस के आगे का हिस्सा बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। बस पलटते ही चीख-पुकार मच गई। हादसा होते देख आसपास के लोग दौड़कर मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी।

हादसा होते देख आसपास के ग्रामीणों ने बचाव कार्य शुरू किया।
हादसा होते देख आसपास के ग्रामीणों ने बचाव कार्य शुरू किया।

हादसे के समय बस में करीब 60 यात्री थे। इनमें से 18 लोग घायल हैं। 15 घायलों को रतनपुर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। जबकि 3 गंभीर घायल सत्यनारायण पाठक, समीक्षा मिश्रा और संगीता मिश्रा को सिम्स रेफर किया गया है। यह तीनों रीवा से रायपुर जा रहे थे। फिलहाल पुलिस ने सभी घायलों के नाम और पते के आधार पर उनके परिजनों को सूचना दे दी है। बस पलटने को लेकर संचालकों से भी पुलिस पूछताछ करेगी।

घायलों को अस्पताल में भर्ती किया गया है।
घायलों को अस्पताल में भर्ती किया गया है।

हादसे के बाद भाग निकला चालक
यात्रियों ने बताया कि ड्राइवर बहुत स्पीड में बस चला रहा था। कई बार धीरे चलने को कहा गया, लेकिन वह नहीं माना। इसी के चलते बस अनियंत्रित होकर पेड़ से जा टकराई। हादसे के बाद चालक बस से उतरकर भाग निकला। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। नरेश बस सर्विस की बस दूसरी बार हादसे का शिकार हुई है। इससे पहले भी 3 मई को इसी रूट पर खैरा मुख्य मार्ग में माजदा से उसकी टक्कर हो गई थी।