हेलमेट के बावजूद गई जान:कॉलेज जा रहे इंजीनियरिंग के छात्र को हाईवा ने मारी टक्कर, भिलाई में पढ़ रहा नीलेश छुट्टियों में आया था घर

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM)6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हादसे में इंजीनियरिंग के छात्र की मौत। - Dainik Bhaskar
हादसे में इंजीनियरिंग के छात्र की मौत।

छत्तीसगढ़ के पेंड्रा में हुए सड़क हादसे में इंजीनियरिंग के एक छात्र की मौत हो गई। हादसा पेंड्रा से बिलासपुर जाने वाले RMKK रोड पर हुआ। खबर मिलते ही मृतक के परिवार में मातम पसर गया। मृतक छात्र नीलेश पाल रूंगटा इंजीनियरिंग कॉलेज भिलाई का छात्र था। नीलेश आज अपनी बाइक से कॉलेज जाने के लिए निकला, लेकिन बंजारी घाट पर अज्ञात हाईवा चालक ने उसे टक्कर मार दी।

हादसे में छात्र नीलेश की मौके पर ही मौत हो गई। यहां लगातार हो रहे हादसों के कारण लोगों में आक्रोश है। नीलेश पेंड्रा की नूतन कॉलोनी का रहने वाला था। उसके पिता राम सुंदर पाल ठेकेदारी का काम करते हैं। वो छुट्टियों में घर आया हुआ था और कॉलेज वापस लौट रहा था।

इंजीनियरिंग के छात्र की हुई मौत।
इंजीनियरिंग के छात्र की हुई मौत।

ज्यादा खून बह जाने से हुई मौत

सबसे बड़ी बात तो ये है कि नीलेश ने हेलमेट भी लगाया हुआ था, लेकिन टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि उसके सिर पर भी चोट आई और ज्यादा खून बह जाने से उसकी मौत हो गई। बंजारी घाट पर कोयला परिवहन करने वाले हाईवा वाहनों की तेज रफ्तार के कारण लगातार हादसे हो रहे हैं, लेकिन इस पर लगाम लगाने के लिए प्रशासन कुछ नहीं कर रहा है।

सड़क हादसों पर कोई लगाम नहीं

अभी दो महीने पहले भी गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM) जिले में सड़क हादसे में एक की मौत हो गई थी, जबकि 9 लोग घायल हुए थे। यहां पहला हादसा ट्रैक्टर और पिकअप की टक्कर के चलते हुआ था। टक्कर के बाद पिकअप में फंसे चालक के शव को करीब 5 घंटे की मशक्कत के बाद निकाला जा सका था। वहीं दूसरे हादसे में एक बोलेरो पेड़ से टकरा गई थी। बिलासपुर का रहने वाला परिवार बोलेरो से गौरेला के भट्‌टीटोला जा रहा था। इसी दौरान गाड़ी का टायर अचानक फट गया था। इसके कारण बोलेरो अनियंत्रित हो गई और सड़क किनारे पेड़ से जा भिड़ी थी। इसके चलते बोलेरो सवार 8 लोग घायल हो गए थे।

खबरें और भी हैं...