हटाई गईं तहसीलदार:हाईकोर्ट में केस पेंडिंग बता रोका सीमांकन

चांपा- बम्हनीडीह17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बम्हनीडीह के प्रभारी तहसीलदार को कलेक्टर ने हटा दिया है, उनके स्थान पर एसडीएम कार्यालय जांजगीर में अटैच नायब तहसीलदार को बम्हनीडीह तहसील का प्रभारी बनाया गया है। इस बदलाव के पीछे एक कारण पिछले दिनों एक विवादास्पद निर्णय को माना जा रहा है।

पिछले दिनों कलेक्टर जितेंद्र शुक्ला ने भी राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर कड़े निर्देश दिए हैं और कोताही बरतने वाले अफसरों पर कार्रवाई कर रहे हैं । बम्हनीडीह के प्रभारी तहसीलदार प्रियंका चंद्रा को हटाकर उनके स्थान पर एसडीएम जांजगीर में संलग्न नायब तहसीलदार आस्था चंद्राकर को प्रभारी तहसीलदार बनाया गया है । प्रियंका चंद्रा को चांपा का नायब तहसीलदार बनाया गया है। माना जा रहा है कि एक जमीन का सीमांकन कराने का आदेश होने पर राजस्व अधिकारी सीमांकन करने के लिए पहुंच गए थे तब प्रभारी तहसीलदार प्रियंका चंद्रा ने हाई कोर्ट में मामला लंबित होने का हवाला देकर ऐन वक्त पर सीमांकन पर रोक लगा दी थी।

पीड़ित के वकील ने उन्हें बताया कि हाईकोर्ट से कोई दिशा निर्देश नही है न तो कोर्ट ने कोई स्थगन दिया है । वकील ने यह भी कहा कि भू राजस्व संहिता की धारा 129 के तहत लम्बित प्रकरणों हो तो भी सीमांकन को रोका नही जा सकता है । जिसे दैनिक भास्कर ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इसी के बाद कलेक्टर ने उनको वहां से हटा दिया है।

खबरें और भी हैं...